Homeअंतराष्ट्रीयकम्पार्टमेंट परीक्षा के बाद बारहवीं का रिजल्ट हुआ 99 प्रतिशत : सिसोदिया

कम्पार्टमेंट परीक्षा के बाद बारहवीं का रिजल्ट हुआ 99 प्रतिशत : सिसोदिया

  • दिल्ली के सरकारी स्कूलों के छात्रों ने फिर तोड़ा रिकॉर्ड, कम्पार्टमेंट परीक्षा के बाद बारहवीं का रिजल्ट हुआ 99 प्रतिशत
  • हमारे शिक्षकों का ऐसा रिकॉर्ड बनाना गर्व की बात
  • दिल्ली के सरकारी स्कूलों ने फिर किया कमाल, कम्पार्टमेंट परीक्षाओं के बाद बारहवीं के नतीजे 99 फीसदी, दसवीं के 93 फीसदी हुए
  • डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने छात्रों को बधाई दी और उज्ज्वल भविष्य की कामना की

नई दिल्ली : दिल्ली के उपमुख्यमंत्री और शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने सरकारी स्कूलों में एक बार फिर नया रिकार्ड बनने पर प्रसन्नता जताई है। कम्पार्टमेंट परीक्षाओं के बाद सीबीएसई कक्षा की बारहवीं कक्षा में उत्तीर्ण छात्रों की संख्या 99 प्रतिशत हो गई है। इसी तरह, दसवीं कक्षा उत्तीर्ण छात्रों की संख्या 93 प्रतिशत हो गई है। सिसोदिया ने इसके लिए छात्रों, शिक्षकों और अभिभावकों को बधाई दी। उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार के लिए यह गर्व का क्षण है कि शिक्षकों ने ऐसे कठिन समय में भी इस तरह का उत्कृष्ट शैक्षणिक परिणाम दिया है।

file photo

उल्लेखनीय है कि इस साल सीबीएसई की बारहवीं की परीक्षाओं में दिल्ली के सरकारी स्कूलों ने 98 फीसदी का ऐतिहासिक रिजल्ट हासिल किया था। कंपार्टमेंट परीक्षा के बाद यह बढ़कर 99 फीसदी हो गया है। इसी तरह, कक्षा 10 के छात्रों का रिजल्ट 83 फीसदी था जिसमें कम्पार्टमेंट परीक्षाओं के बाद 93 प्रतिशत होने की भारी सफलता मिली है। इस तरह कक्षा 12 के छात्रों को लगभग 100 प्रतिशत रिजल्ट लाने की दिशा में सफलता मिली है जबकि कक्षा 10 के छात्रों को भी 90 प्रतिशत से ज्यादा वाली कैटेगरी में आने का अवसर मिल गया है। सिसोदिया ने कहा कि यह शानदार परिणाम शिक्षकों, स्कूली छात्रों द्वारा उनके माता-पिता की प्रतिबद्धता और समर्पण का परिणाम है।

कोरोना महामारी के कारण कंपार्टमेंट परीक्षा की तैयारी बाधित होने के बावजूद इस असाधारण परिणाम पर सिसोदिया ने प्रसन्नता जाहिर की। उन्होंने कहा कि इसका सकारात्मक प्रभाव बच्चों पर पडे़गा तथा इसके कारण उन्हें अगली कक्षाओं में जाने का अवसर मिलेगा। उन्होंने कहा कि मुझे गर्व है कि हमारे सरकारी स्कूल के छात्रों ने तमाम चुनौतियों पर काबू पाते हुए इतना अच्छा प्रदर्शन किया है। सिसोदिया ने कहा कि इस परिणाम से उन 16,864 छात्रों के जीवन पर बहुत फर्क पड़ता है, जिन्हें आज अगली कक्षा में जाने का अवसर मिला है। हर बच्चे के प्रति हमारे शिक्षकों की प्रतिबद्धता के कारण ही यह संभव हो पाया है। 12 वीं कक्षा की परीक्षा में शामिल 1734 छात्रों में से 1290 पास हुए हैं। इसी तरह, दसवीं की परीक्षा में भाग लेने वाले 25400 छात्रों में से 15574 उत्तीर्ण हुए हैं।

सिसोदिया ने दिल्ली के सरकारी स्कूलों के शिक्षकों के प्रति के प्रति आभार व्यक्त किया जिन्होंने छात्रों का मार्गदर्शन करने और प्रोत्साहित करने में बड़ी भूमिका निभाई है। यह परिणाम उनके मार्गदर्शन और छात्रों की कड़ी मेहनत का परिणाम है। उल्लेखनीय है कि इस वर्ष दिल्ली के सरकारी स्कूलों में कक्षा 12 की बोर्ड परीक्षा में 98 प्रतिशत स्टूडेंट्स पास हुए थे। दसवीं में 2019 में 71.6 प्रतिशत रिजल्ट था जबकि 2020 में 82.61 प्रतिशत आया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

5 × two =

Must Read