Homeअंतराष्ट्रीयशहीद हुए सफाई कोरोना योद्धाओं को मिले एक करोड़ की सम्मान राशि...

शहीद हुए सफाई कोरोना योद्धाओं को मिले एक करोड़ की सम्मान राशि व स्थायी नौकरी : कांग्रेस

  • कोरोना संक्रमण से जितने सफाई कर्मचारी शहीद हुए हैं उनके परिवार को मिले एक करोड़ की सम्मान राशि तथा परिवार के आश्रित को मिले नौकरी – चौधरी अनिल कुमार
  • अगर अरविंद सरकार 15 अगस्त, 2020 तक कांग्रेस की मांगों पर कोई सकारात्मक कार्रवाई नहीं करती है, तो सफाई कर्मचारी यूनियन के नेता दिल्ली में मुख्यमंत्री अरविंद के लगे सभी बैनरों और होर्डिंग्स पर उनके चेहरे को काला कर देंगे- जय किशन

नई दिल्ली : दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के कार्यकर्ताओं और नेताओं ने सफाई कर्मचारी यूनियनों के सदस्यों के साथ कोरोना संक्रमण से शहीद हुए सफाई कर्मचारियों के परिवारों को न्याय दिलाने के लिए आज दिल्ली के सभी निर्वाचित दलित आरक्षित सीटों के विधायकों, पार्षदों और सांसद को ज्ञापन सौंपा। सफाई कर्मचारियों को कोरोना यौद्धा का सम्मान देने, एक करोड़ रुपये का मुआवजा और परिवार में एक आश्रित को नौकरी देने की मांग को लेकर दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष चौधरी अनिल कुमार आज कोरोना संक्रमण के कारण मरने वाले सफाई कर्मचारियों के परिवार वालां के साथ सफाई कर्मचारियों की मांगों को लेकर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द के कार्यालय, दिल्ली सचिवालय में एक ज्ञापन सौंपा।

तेज बारिश के बावजूद चै0 अनिल कुमार, शहीद सफाई करमचारियों के परिवार के सदस्यों और यूनियन के नेताओं के साथ प्रातः दिल्ली सचिवालय पहुंचे, मुख्यमंत्री एक बार फिर अनुपस्थित थे और एक पेड वालियंटर को सचिवालय के गेट पर भेजा, जहां उसने शहीद सफाई कर्मचारियों के न्याय की मांग कर रही यूनियन की महिला सदस्य के साथ दुर्व्यवहार किया, जिसके खिलाफ महिला ने शिकायत भी दर्ज कराई है। चैधरी अनिल कुमार ने कहा कि इससे पूर्व भी दिल्ली कांग्रेस ने दिल्ली सरकार, निगम के सफाई कर्मचारियों सहित अन्य कर्मचारियां की मांगों को लेकर मुख्यमंत्री निवास पर जाकर एक ज्ञापन दिया था, पंरतु दिल्ली सरकार की ओर से इस पर अभी तक कोई कार्रवाही नही की है।

प्रदेश उपाध्यक्ष जय किशन ने कहा कि जब अरविन्द सरकार कोरोना काल में सफाई कर्मचारियों के साथ भेदभाव किया जा रहा है, सरकार सफाई कर्मचारियों को कोरोना यौद्धा का सम्मान और मुआवजा न देकर और उनके जख्मों पर नमक छिड़कने का काम रही है। जय किशन ने चेतावनी दी कि अगर दिल्ली सरकार ने 15 अगस्त तक सफाई कर्मचारियों की मांग नही मानी तो 16 अगस्त से दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल के पूरी दिल्ली में जहां कहीं भी होर्डिग और पोस्टर लगे होंगे उनके मुस्कुराते हुए चेहरे को काला करेंगे।

इस अवसर पर प्रदेश अध्यक्ष चौधरी अनिल कुमार के साथ प्रदेश उपाध्यक्ष जय किशन, अभिषेक दत्त, मुदित अग्रवाल, पूर्व विधायक वीर सिंह धींगान, सफाई कर्मचारी यूनियनों के प्रतिनिधि, सत्यवान पंवार, अंजलि चौहान, ब्रहम ढीकिया, शिव कुमार जांजर, रणधीर जांजर, गोलू, मोहन पहलवान मुख्य रुप से मौजूद थे। अनिल कुमार ने कहा कि अरविन्द सरकार दिल्ली के सफाई कर्मचारियों के साथ भेदभाव पूर्ण व्यवहार कर रहे हैं क्योंकि कोरोना संक्रमण से शहीद हुए सफाई कर्मचारियों को अन्य कर्मचारियों की भांति कोरोना यौद्धा का सम्मान नही दिया जा रहा है, जबकि कोविड-19 महामारी से  अन्य कर्मचारियों के अनुपात में सफाई कर्मचारियों को अधिक खतरा है, और सफाई कर्मचारी की अधिक जिम्मेदारी होती है।

 अनिल कुमार ने कहा कि सफाई कर्मचारियों को कोरोना यौद्धा का सम्मान दिया जाना चाहिए और मुख्यमंत्री अरविन्द की कोरोना यौद्धाओं के लिए घोषणा के मुताबिक सफाई कर्मियों को भी एक-एक करोड़ का मुआवजा बिना किसी भेदभाव के दिया जाना चाहिए। अनिल कुमार ने सफाई कर्मचारी यूनियनों की अनुकम्पा के अधार नौकरी की मांग को भी जायज बताते हुए कहा कि अरविन्द सरकार को एक स्पेशल नोटिफिकेशन जारी करके कोरोना काल में कार्यरत सफाई कर्मचारियों की मृत्यु पर उनके आश्रितों को शीघ्रअति शीघ्र नौकरी दी जानी चाहिए।

 अनिल कुमार ने कहा कि सफाई कर्मचारियों को कोरोना यौद्धा के सम्मान के तहत 1 करोड़ रुपये के मुआवजे के दायरे में लाने की दिल्ली कांग्रेस लागातर मांग कर रही है और आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने 27 अप्रैल 2020 को ट्वीट करके आश्वासन दिया था कि एमसीडी कर्मचारियों को भी नकद मुआवजा योजना में शामिल किया जाएगा, परंतु अरविन्द की दिल्ली सरकार की ओर से अभी तक इस संबध में कोई कार्रवाही नही की गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

nine + 19 =

Must Read