Monday, July 15, 2024
Homeअंतराष्ट्रीयजलभराव के लिए दिल्ली सरकार और भाजपा के निगम नेता जिम्मेदार: चौधरी...

जलभराव के लिए दिल्ली सरकार और भाजपा के निगम नेता जिम्मेदार: चौधरी अनिल कुमार

  • प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष चौ0 अनिल कुमार ने आप सरकार और भाजपा शासित दिल्ली नगर निगमों पर आरोप लगाया कि नालों की डिसिल्टिंग का काम पूरा न करने के कारण दिल्ली में जल भराव का विकराल रुप सामने आया है
  • अरविंद सरकार और भाजपा शासित दिल्ली नगर निगमों में भ्रष्टाचार के चलते डिसिल्टिंग के लिए आवंटित राशि का प्रयोग इसके लिए नही हो रहा है

नई दिल्ली : दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष चौ0 अनिल कुमार ने दिल्ली की अरविंद सरकार और भाजपा शासित दिल्ली नगर निगमों की कड़ी आलोचना करते हुए कहा कि कल राजधानी दिल्ली में मानसून की भारी बारिश के बाद दिल्ली भर में हुए जलभराव ने दोनो सरकारों में व्याप्त भ्रष्टाचार, अक्षमता और निष्क्रियता को उजागर कर दिया है। उन्होंने कहा कि इन दोनों सरकारों ने पिछले महीने सीज़न की पहली भारी बारिश के बाद जल भराव से कोई सबक नहीं लिया है, जिससे न केवल दिल्ली के कई हिस्सों में पानी का जमाव हुआ था, बल्कि मिंटो ब्रिज के नीचे हुए जल भराव के कारण एक व्यक्ति की मौत भी हो गई थी। उन्होंने कहा कि कल एक बैलगाड़ी पर सवार कुछ यात्री वाहन से गिर गए, क्योंकि पुल पहलादपुर अंडरपास में जलभराव के लोग बैलगाड़ी में बैठकर जा रहे थे, जबकि सड़क में गडडा था।

चौ0 अनिल कुमार ने कहा कि आम आदमी पार्टी और भाजपा ने हमेशा की तरह मई-अंत तक डिसिल्टिंग प्रक्रिया को पूरा करने के बजाय एक दूसरे पर आरोप प्रत्यारोप लगाने के दोषपूर्ण राजनीति कर रहे है। उन्होंने कहा कि श्रीमती शीला दीक्षित के नेतृत्व में कांग्रेस के शासन के दौरान जल-भराव को रोकने के लिए मई के अंत या जून के पहले सप्ताह तक काम पूरा करने के लिए नालियों से गाद निकालने के लिए निर्धारित धन का उपयोग किया जाता था। उन्होंने कहा कि जब से दिल्ली में आप पार्टी सत्ता में आई है, तब से प्रत्येक मानसून के मौसम में जल-भराव एक विकराल समस्या बन गई है क्योंकि बारिश आने से पहले अरविंद सरकार नालियों को साफ कराने की कोई जहमत ही नहीं उठाती।

चौ0 अनिल कुमार ने अरविंद सरकार पर आरोप लगाया कि वह नालियों की गाद निकालने के लिए आंवटित धन का दुरुपयोग कर रही है, जबकि राजधानी जो पहले से ही कोविड-19 महामारी को झेल रही है, अब डेंगू और मलेरिया के खतरों का सामना कर रही है। उन्होंने कहा कि अरविंद सरकार ने इन जल जनित रोगों को रोकने के लिए कोई कदम नहीं उठाया है क्योंकि राजधानी सभी किस्मों के मच्छरों के प्रजनन के लिए जलमय मैदान बन गई है। चौ0 अनिल कुमार ने कहा कि दिल्ली सरकार और भाजपा दिल्ली नगर निगमों द्वारा बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार और निष्क्रियता के कारण, दिल्लीवालों के दुख का कोई अंत नहीं है, जिसे अरविंद सरकार ने पूरी तरह से भुला दिया है, जबकि दिल्लीवासी पहले से ही कोविड-19 महामारी संकट से पहले से ही तनावग्रस्त है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments