Wednesday, July 10, 2024
Homeअंतराष्ट्रीयदिल्ली बनी भ्रष्टाचार की राजधानी, सत्येंद्र जैन जेल में, मनीष सिसोदिया तथा...

दिल्ली बनी भ्रष्टाचार की राजधानी, सत्येंद्र जैन जेल में, मनीष सिसोदिया तथा कैलाश गहलोत मुहाने पर : कांग्रेस

भ्रष्टाचारियों से मुक्त हो केजरीवाल कैबिनेट, भ्रष्ट मंत्रियों को बर्खास्त करे केजरीवाल

नई दिल्ली, 2 जून, 2022 : दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष चौ0 अनिल कुमार ने कहा कि अरविन्द केजरीवाल अब अपने भ्रष्ट मंत्रियों को बचाने के लिए चिंतित दिखाई दे रहे है और जो बयान वे पंजाब चुनाव में सत्येन्द्र जैन को बचाने के लिए दे रहे थे अब वही बयान मनीष सिसोदिया को बचाने के लिए दे रहे हैं। केजरीवाल ने ई.डी. द्वारा गिरफ्तार भ्रष्ट मंत्री सत्येन्द्र जैन के सभी मंत्रालय दूसरे भ्रष्ट मंत्री मनीष सिसोदिया को दे दिए है, जबकि मनीष सिसोदिया पर हजारों करोड़ के शराब घोटाले का आरोप है और उन पर भी गिरफ्तारी की तलवार लटक रही है। चौ0 अनिल कुमार ने कहा कि उन्होंने संवाददाता सम्मेलन में दो दिन पहले ही कहा था कि जल्द ही मनीष सिसोदिया और कैलाश गहलोत भी भ्रष्टाचार के आरोप में जेल में होंगे, अब केजरीवाल मनीष सिसोदिया को बचाने में लगे हुए है।

चौ0 अनिल कुमार ने कहा कि मनीष सिसोदिया ने एल-1 लाईसेंस की शर्तां  के खिलाफ जाकर भ्रष्टाचार करके शराब के ठेको के लाईसेंस बांटे जिसमें हजारों करोड़ रुपये का गैर कानूनी लेन देन हुआ है। दिल्ली कांग्रेस सभी सबूतों के साथ पुलिस आयुक्त से मिलकर शिकायत दर्ज कराऐगी जिसके लिए हम पुलिस आयुक्त से मिलने का समय मांग रहे हैं।  उन्होंने कहा कि शराब घोटाला, पीडब्लूडी घोटाले से पहले और मनीष सिसोदिया कबीर फाउंडेशन के घोटाले में लिप्त पाए गए थे। कबीर फाउडेशन में विदेशी फंडिग और अनियमितताएं पाई गई जिन्हें सिसोदिया ने भी स्वीकारा था कि उन्होंने एनजीओ का फंड अपनी निजी जरूरतों के लिए इस्तेमाल किया है।  

चौ0 अनिल कुमार ने कहा कि अरविन्द केजरीवाल पहले ऐसे मुख्यमंत्री है जो भ्रष्टाचारियों और अपराधियों को सामने आकर बचाने में लगे हुए है जबकि उनके 80 प्रतिशत मंत्री और 38 विधायक अपराधिक मामलों में दोषी पाए गए है। उन्होंने कहा कि यदि निष्पक्षता से जांच का दायरा बढ़ाया जाए तो केजरीवाल सरकार के सभी मंत्री और अधिकतर विधायक जेल में होंगे। उन्होंने कहा भ्रष्टाचारियों को बचाने में केजरीवाल का रवैया दिल्ली के विकास के लिए नुकसान दायक साबित होगा। चौ0 अनिल कुमार ने कहा कि मनीष सिसोदिया के शिक्षा विभाग में 12430 क्लास रूम के प्रोजेक्ट का भ्रष्टाचार हुआ है। कांग्रेस पार्टी क्लासरूम घोटाले की जांच की मांग करती है जिसमें वरीयता अनुसार प्रत्येक क्लास रूम बनाने के लिए 17 लाख निश्चित किए थे परंतु प्रोजेक्ट के खत्म होने पर प्रति क्लास रूम बनाने का खर्च 23 लाख रुपये पहुंच गया।  

चौ0 अनिल कुमार ने कहा कि दिल्ली कांग्रेस ने 4288 करोड़ के लो-फलोर डीटीसी बस घोटाले की शिकायत भी सीबीआई तथा सीवीसी से की हुई है, जिस पर भाजपा केजरीवाल के मंत्री को बचाने की भूमिका निभा रही है। अगर जल्द से जल्द डीटीसी घोटाले की जांच पूरी होती है तो वह दिन दूर नही जब परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत भी जेल में होंगे।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments