Homeअंतराष्ट्रीयअब आम आदमी पार्टी आम लोगों की नहीं बल्कि काले धन वालों...

अब आम आदमी पार्टी आम लोगों की नहीं बल्कि काले धन वालों की पार्टी बनकर रह गई है: आदेश गुप्ता

  • दिल्ली की भ्रष्ट व काले धन की केजरीवाल सरकार के खिलाफ आंदोलन में साथ देने के लिए आज दिल्ली भाजपा अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने अन्ना हजारे को पत्र लिखा
  • स्वच्छ राजनीति और शुचिता के नाम पर सरकार में आई आम आदमी पार्टी ने राजनीतिक शुचिता के सारे पैमानों को ध्वस्त कर दिया है
  • झूठे वायदों, झूठे इरादों और सांप्रदायिक राजनीति के बल पर सत्ता में पुनः आने के बाद दिल्ली की जनता ने आम आदमी पार्टी की सरकार द्वारा नियोजित सांप्रदायिक दंगों का दंश झेला है
  • आम आदमी पार्टी राजनीतिक चंदे के नाम पर फर्जी कंपनियों को बनाना और काले धन को सफेद करने की मशीन बन गई है
  • आम आदमी पार्टी की सरकार जो महिला-विरोधी, राष्ट्र विरोधियों का समर्थन करने वाली सरकार है और सांप्रदायिक दंगे कराकर दिल्ली वालों को मौत के मुंह में घकेल रही है, उसे दिल्ली में रहने का कोई हक नहीं है
  • अन्ना हजारे से निवेदन है कि दिल्ली आकर भ्रष्टाचार से मुक्त करने, दंगाइयों को समर्थन करने वाली केजरीवाल सरकार के खिलाफ लड़ाई लड़ने में हमारा सहयोग करें

नई दिल्ली: दिल्ली की भ्रष्ट व काले धन की केजरीवाल सरकार के खिलाफ आवाज उठाने के संबंध में आज दिल्ली भाजपा अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने वरिष्ठ समाजसेवी अन्ना हजारे को पत्र लिखकर आम आदमी पार्टी सरकार के भ्रष्टाचार के खिलाफ दिल्ली भाजपा द्वारा चलाए जा रहे जन आंदोलन से जुड़ने का अनुरोध किया। आदेश गुप्ता ने बताया कि अन्ना हजारे ने शुरुआत से ही भ्रष्टाचार को खत्म करने की लड़ाई लड़ रहे हैं और जनहित की समस्याओं को लेकर हमेशा अपनी आवाज बुलंद की है। यही वजह है कि उन्होंने भ्रष्ट नेताओं को उनकी सही जगह दिखाई। अन्ना हजारे ने सूचना के अधिकार अधिनियम के लिए भी जन आंदोलन किया था।

गुप्ता ने कहा था कि 5 अप्रैल 2011 को दिल्ली के रामलीला मैदान में भ्रष्टाचार मिटाने के लिए जनलोकपाल विधेयक की मांग करते हुए तत्कालीन सरकार के खिलाफ अन्ना हजारे आमरण अनशन किया था। इस आंदोलन को दिल्ली समेत देशभर के लाखों को लोगों का साथ मिला लेकिन जन आंदोलन के नाम पर कुछ लोगों ने स्वच्छ राजनीति व्यवस्था की वकालत करते हुए “आम आदमी पार्टी“ नामक राजनीतिक दल का गठन किया, चुनाव लड़े और दिल्ली के मुख्यमंत्री के रूप में अरविंद केजरीवाल ने गद्दी संभाली और सरकार बनते ही नए चेहरों को लोगों के सामने लाए। झूठे वायदे और झूठे इरादों और सांप्रदायिक राजनीति के बल पर सत्ता में पुनः आने के बाद दिल्ली की जनता ने आम आदमी पार्टी की सरकार द्वारा नियोजित सांप्रदायिक दंगों का दंश झेला है। हर किसी राष्ट्रविरोधी के समर्थन में केजरीवाल सरकार खड़ी दिखाई देती है। स्वच्छ राजनीति और शुचिता के नाम पर सरकार मे आए आम आदमी पार्टी ने राजनीतिक शुचिता के सारे पैमानों को ध्वस्त कर दिया है।

गुप्ता ने कहा कि आम आदमी पार्टी राजनीतिक चंदे के नाम पर फर्जी कंपनियों को बनाना और काले रुपयों को सफेद करने की मशीन बन गई है। अब आम आदमी पार्टी आम लोगों की नहीं बल्कि काले धन वालों की पार्टी बनकर रह गई है। सामाजिक, राजनीतिक और आर्थिक भ्रष्टाचार का नया नाम आम आदमी पार्टी है और हम लगातार इनके खिलाफ लड़ाई लड़ रहे हैं। इसलिए अन्ना हजारे से भी हमारा अनुरोध है कि वह दिल्ली आकर भ्रष्टाचार के खिलाफ आवाज उठाएं और आंदोलन में हमारा साथ दें। युवा और दिल्ली का जन समुदाय जो खुद को ठगा महसूस कर रहे हैं उनकी राहत के लिए अन्ना हजारे को आवाज फिर से बुलंद करनी होगी तभी राजनीतिक शुचिता की नई शुरुआत होगी। आम आदमी पार्टी की सरकार जो महिला- विरोधी, राष्ट्र विरोधियों का समर्थन करने वाली सरकार है, जो अब काले धन वालों की बन चुकी है और सांप्रदायिक दंगे कराकर दिल्ली वालों को मौत के मुंह में धकेल रही है, उसे दिल्ली में रहने का कोई हक नहीं है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

1 + eighteen =

Must Read