Wednesday, February 21, 2024
Homeताजा खबरेंदिल्ली के मुख्यमंत्री आवास का घेराव कर किया प्रचण्ड प्रदर्शन

दिल्ली के मुख्यमंत्री आवास का घेराव कर किया प्रचण्ड प्रदर्शन

  • ठेकेदारी हटाओ राष्ट्रीय संयुक्त मोर्चा ने मंगलवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री आवास का किया घेराव
  •  सरकार ने हमारी लंबित मांग 5 नवम्बर 2023 तक नहीं मानी तो 6 नवंबर, सोमवार से बीएसईएस राजधानी पॉवर लिमिटेड के नेहरू प्लेस मुख्यालय पर अनिश्चितकालीन धरने की शुरुआत की जाएगी

नई दिल्ली, 31 अक्टूबर 2023 : दिल्ली के बिजली कर्मचारी 6 नवम्बर 2023 से बिजली कंपनी मुख्यालय नेहरू प्लेस पर अनिश्चितकालीन धरने की शुरुआत करेंगे और दिवाली पर हड़ताल पर जाकर काली दिवाली मनायेंगे। यह बात ठेकेदारी हटाओ राष्ट्रीय संयुक्त मोर्चा ने मंगलवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री आवास का घेराव कर प्रचण्ड प्रदर्शन के बाद कही। दिल्ली की केजरीवाल सरकार को खुली चुनौती देते हुए मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष डीसी कपिल ने कहा कि यदि सरकार ने हमारी लंबित मांग 5 नवम्बर 2023 तक नहीं मानी तो 6 नवंबर, सोमवार से बीएसईएस राजधानी पॉवर लिमिटेड के नेहरू प्लेस मुख्यालय पर अनिश्चितकालीन धरने की शुरुआत की जाएगी, और डायरेक्ट एक्शन की घोषणा की जाएगी, जिससे इस बार दिल्ली की दिवाली काली हो सकती है। 31 अक्टूबर मंगलवार को मुख्यमंत्री केजरीवाल के आवास का घेराव किया गया और दिवाली पर दिल्ली की बिजली गुल करने की घोषणा की गयी।

मोर्चे के राष्ट्रीय अध्यक्ष डीसी कपिल ने कहा कि ठेकेदारी प्रथम रूप में एक शोषणकारी प्रथा है। यह अनुसूचित जाति, जनजाति, ओबीसी वर्ग के आरक्षण के खिलाफ षड्यंत्र है। इस प्रथा के तहत राजनेताओं, अधिकारियों और ठेकेदारों की तिगड़ी मिलकर, ठेकाकर्मियों को मिलने वाले वेतन को सरेआम लूट रही है। उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी ने अपने 2013, 2015 और 2020 के चुनावी घोषणा पत्रों में जो वादा किया था सरकार उस वादें को पूरा करने में पूरी तरह फेल हो चुकी है। केजरीवाल सरकार के नौ वर्षो के शासनकाल में मात्र 432 युवाओं को सरकारी नौकरी मिल पायी है। पांच लाख 32 हजार सरकारी पद खाली पड़े हुए है। इन पदों पर स्थायी भर्ती करने की बजाय, आउटसोर्स को बढ़ावा देकर ठेका प्रथा को बढावा दिया जा रहा है। ठेका प्रथा के विरोध में मोर्चा दर्जनों बार धरने, प्रदर्शन, रैलियां और घेराव कर चुका है मगर सरकार मनमानी और हठधर्मिता पर अड़ी हुई है।

मुख्यमंत्री आवास के घेराव और प्रदर्शन के जनसैलाब को मोर्चे के राष्ट्रीय मुख्य विधिक सलाहकार और सुप्रीम कोर्ट के सीनियर एडवोकेट भानु प्रताप सिंह, जनाब महमूद पारचा, राष्ट्रीय चेयरमैन राजकुमार धिंगान, राष्ट्रीय महासचिव हाफिज गुलाम सरवर, राष्ट्रीय कोर्डिनेटर एवं पूर्व चेयरमैन दिल्ली सफाई कर्मचारी आयोग हरनाम सिंह, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष विनोद संगत राष्ट्रीय सचिव श्याम सुंदर और राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष राजेश घाघट ने भी संबोधित किया। मोर्चा में दिल्ली की बिजली वितरण कंपनियों, स्वास्थ्य विभाग के अस्पतालों एवं डिस्पेंसरियों, दिल्ली नगर निगम के सफाई कर्मचारियों, डीटीसी, दिल्ली जल बोर्ड, रेलवे और अन्य विभागों के संगठित एवं संगठित क्षेत्रों में कर्मचारियों ने भाग लिया।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments