Sunday, April 21, 2024
Homeअंतराष्ट्रीय18 साल से ऊपर की महिलाओं को हर महीने मिलेंगे एक हजार...

18 साल से ऊपर की महिलाओं को हर महीने मिलेंगे एक हजार रुपए : CM केजरीवाल

– आज के बजट में दुनिया के सबसे बड़े महिला सशक्तिकरण कार्यक्रम का एलान किया गया, मेरी सभी माताओं-बहनों और बेटियों को बधाई- महिलाओं को सशक्त बनाने के लिए आपकी दिल्ली सरकार ने एक कदम आगे बढ़ते हुए अब सालाना 12 हज़ार रुपए की सौगात दी है- महिला सशक्तिकरण तभी होता है, जब महिलाओं के हाथ में पैसा हो, वर्षों का हमारा यह सपना इस साल जाकर पूरा हुआ- दिल्ली सरकार का यह बजट रामराज्य की अवधारणा से प्रेरित है, इसमें सारे तबकों और सभी सेक्टरों का ख्याल रखा गया है- – जब गरीब आदमी के हाथ में पैसा आता है, तो वो मार्केट में जाता है, इससे मांग पैदा होती है और देश की तरक्की होती है- बिजली-पानी समेत कई सेवाएं फ्री होने से लोगों के हाथ में पैसा आया, इसी का नतीजा है कि आज दिल्ली के अंदर पूरे देश में सबसे कम महंगाई है- दिल्ली के गांवों की सड़कों को दुरुस्त करने के लिए इस बार अलग से बजट का प्रावधान किया गया है- मैं अकेले भाजपा, एलजी और केंद्र से लड़ रहा हूं, इस बार सातों सांसद इंडिया गठबंधन के बनते हैं तो मुझे ताकत मिलेगी और फिर कोई दिल्ली का काम नहीं रोक पाएगा-

नई दिल्ली, 04 मार्च 2024

विधानसभा में सोमवार को पेश 2024-25 के बजट में केजरीवाल सरकार ने महिला सशक्तिकरण के लिए एक ऐतिहासिक ऐलान किया। सरकार अब 18 साल से ऊपर की हर महिला को हर महीने एक हजार रुपए देगी। इसके लिए वित्त मंत्री आतिशी ने मुख्यमंत्री महिला सम्मान योजना शुरू करने की घोषणा कीं। सीएम अरविंद केजरीवाल ने बधाई देते हुए कहा कि आज के बजट में दुनिया के सबसे बड़े महिला सशक्तिकरण कार्यक्रम का एलान किया गया है। महिलाओं को सशक्त बनाने के लिए आपकी दिल्ली सरकार ने एक कदम आगे बढ़ते हुए अब आपको सालाना 12 हज़ार रुपए की सौगात दी है। 18 साल से अधिक उम्र की हमारी सभी बहन-बेटियों, माताओं और बहनों को अब इस योजना के तहत 1000 रूपए प्रतिमाह दिए जाएंगे। दिल्ली में इसका करीब 50 लाख महिलाओं को लाभ मिलेगा। वर्षों का हमारा यह सपना इस साल जाकर पूरा हुआ। जब आम आदमी के हाथ में पैसा आता है, तो मार्केट में जाता है। इससे मार्केट में मांग पैदा होती है और देश की तरक्की होती है। दिल्ली सरकार का बजट रामराज्य की अवधारणा से प्रेरित है। इसमें सारे तबकों और सभी सेक्टरों का ख्याल रखा गया है।

हम किसी राजनीतिक परिवार से नहीं आते, दिल्लीवालों ने इतने बड़े पद पर बैठा दिया, इसका एहसान कभी नहीं चुका सकते- अरविंद केजरीवाल

सीएम अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली विधानसभा में पेश बजट पर प्रेस कॉन्फ्रेंस की। इस दौरान वित्त मंत्री आतिशी भी मौजूद रहीं। बजट में मुख्यमंत्री महिला सम्मान योजना के तहत महिलाओं को एक हजार रुपए महीना देने की घोषणा पर सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि आज का यह बजट मेरे लिए व्यक्तिगत तौर पर बहुत भावुक क्षण है। हम बहुत आम और साधारण से लोग हैं। हम किसी राजनीतिक परिवारों से नहीं आते हैं। मेरे मां-बाप, दादा-दादी और दूर-दूर तक कोई रिश्तेदार राजनीति में नहीं था। हमने कभी जिंदगी में नहीं सोचा था कि राजनीति में आएंगे। दिल्लीवालों का बहुत एहसान था कि उन्होंने हमें इतने बड़े पद पर बैठा दिया और इतनी बड़ी जिम्मेदारी दे दी। मैं हमेशा ही कहता हूं कि दिल्लीवालों का यह एहसान मैं सात जन्मों में भी पूरा नहीं कर सकता।

मैंने अपने परिवार की तरह दिल्ली में रहने वाले हर परिवार का उनका बड़ा बेटा-बड़ा भाई बनकर ख्याल रखने की कोशिश की है- अरविंद केजरीवाल

सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि जब से दिल्ली में आम आदमी पार्टी की सरकार बनी है, हमने कभी भी इसको राजनीति और सरकारी कामकाज की दृष्टि से नहीं देखा। जैसे मेरा अपना परिवार है। मेरे माता-पिता, बच्चे और पत्नी मेरे साथ रहते हैं। मैं जैसे अपने परिवार का ख्याल रखता हूं, ऐसे ही मैं कोशिश की है कि मैं दिल्ली में रहने वाले हर परिवार का हिस्सा बनकर, चाहे उनका भाई या बेटा बनाकर उनका ख्याल रखूं। दिल्ली के जितने बच्चे हैं, मैं उनको अपना बच्चा मानकर अच्छी से अच्छी शिक्षा देने की कोशिश की है। मेरी कोशिश रही है कि जैसे मेरे बच्चों को अच्छी शिक्षा मिली, वैसी ही अच्छी शिक्षा दिल्ली के हर बच्चे को मिले। मेरी कोशिश है कि दिल्ली में किसी के भी परिवार में अगर कोई बीमार हो, तो पैसे के अभाव में उसका खराब इलाज नहीं होना चाहिए, बल्कि उसे अच्छे से अच्छा इलाज होना चाहिए। मैंने हर परिवार का उनका बड़ा बेटा-बड़ा भाई बनकर ख्याल रखने की कोशिश की है।

दिल्ली में हमने हर महिला के हाथ में एक-एक हजार रुपए रखने का इंतजाम कर दिया है- अरविंद केजरीवाल

सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि आज दिल्ली की मेरी माताओं और बहनों के लिए एक बहुत बड़ा ऐलान किया गया है। दिल्ली में रहने वाली 18 साल से अधिक उम्र की हर महिला को ‘‘मुख्यमंत्री महिला सम्मान योजना’’ के तहत 1000 रुपए हर महीने दिए जाएंगे। यह कोई छोटी चीज नहीं है। मैं समझता हूं कि महिला सशक्तिकरण के क्षेत्र में यह दुनिया का सबसे बड़ा कार्यक्रम होगा। महिला सशक्तिकरण की बातें करना बहुत आसान है, लेकिन सशक्तिकरण कैसे होगा? सबसे बड़ा महिला सशक्तिकरण तो तब होता है, जब महिलाओं के हाथ में पैसा हो। जेब में जब पैसा होता है तो आदमी पावरफुल महसूस करता है। अगर हम महिलाओं की जेब में पैसा डालेंगे, तभी तो वो खुद को सशक्त महसूस करेंगी। हमारे समाज में खासकर वो महिलाएं प्रतिकूल परिस्थिति में रहती हैं, जो कमाती नहीं हैं। उन महिलाओं को छोटी-छोटी चीजों के लिए अपने पति, बेटे और रिश्तेदारों के आगे पैसे के लिए हाथ फैलाने पड़ते हैं। दिल्ली में अब यह नहीं होगा। अब दिल्ली में 18 साल से ऊपर की हर एक महिला के लिए, चाहे वो हमारी छोटी बहन हो, बड़ी बहन हो या कोई माता हो, हमने हर महिला के लिए हर महीने एक हजार रुपए का इंतजाम कर दिया। अब हर महीने इन महिलाओं के बैंक खाते में एक हजार रुपए जाएंगे। यह बहुत बड़ी बात है।

हमने एक-एक पैसा बचाकर बिजली, पानी, शिक्षा, इलाज, बुजुर्गों की तीर्थ यात्रा, महिलाओं का बस में सफर फ्री किया- अरविंद केजरीवाल

सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि महिलाओं को एक हजार रुपए प्रतिमाह की सम्मान राशि देने के लिए हम कई सालों से काम कर रहे थे। जाहिर तौर पर इस पर काफी पैसे का खर्च आएगा। लेकिन चूंकि दिल्ली में अब एक बहुत ही ईमानदार सरकार है, जो एक-एक पैसा बचाती है। हमने पहले बिजली फ्री की, पानी फ्री किया, शिक्षा फ्री की, इलाज फ्री किया, बुजुर्गों की तीर्थ यात्रा फ्री की और महिलाओं का बसों में सफर फ्री किया। हमारी सरकार पैसा बचा-बचाकर जनता तक पहुंचाती है। पहले ऐसा क्यों नहीं हो पाया? दूसरी पार्टियां की सरकारों ने क्यों नहीं किया? क्योंकि दूसरी पार्टी वाले जनता का सारा पैसा खा जाते हैं, सारा पैसा नेताओं की जेब में जाता है और वो खा जाते हैं। लेकिन दिल्ली में ऐसा नहीं होता है। दिल्ली में हमने एक-एक पैसा बचा-बचा कर जनता पर खर्च किया है। हम कई सालों से सोच रहे थे कि हर महिला को हम एक-एक हजार रुपए देंगे, यह सपना इस साल जाकर पूरा हुआ। मैं दिल्ली की सभी महिलाओं को बहुत-बहुत बधाई देना चाहता हूं। आपका मुझ पर बहुत एहसान और बहुत आशीर्वाद है। मुझे आपसे और कुछ नहीं चाहिए, बस यह आशीर्वाद अपने भाई और बेटे पर बनाए रखना।

स्व-घोषणा पत्र देकर हमारी माताएं-बहनें इस योजना का लाभ ले सकेंगी- अरविंद केजरीवाल

सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि जो महिलाएं 18 साल से ऊपर हैं, वह इस योजना के लिए पात्र होंगी, लेकिन किसी सरकारी पेंशन की लाभार्थी, सरकारी नौकरी करने वाली और इनकम टैक्स देने वाली महिलाएं योजना के लिए पात्र नहीं होंगी। इस व्यवस्था को सरल करने के लिए हमने यह कर दिया है कि महिलाएं स्व-घोषणा पत्र देंगी। रेंडम तौर पर कुछ की जांच होती रहेगी, लेकिन स्वतः घोषणा पत्र देकर महिलाएं योजना का लाभ ले सकेंगी। लोकसभा चुनाव के बाद इसकी प्रक्रिया चालू हो जाएगी। इसको कैबिनेट में लाएंगे।

अगर चंद लोगों के हाथ में देश का सारा पैसा चला जाए तो अर्थव्यवस्था का बेड़ा गर्क हो जाता है, 75 साल से यही हमने देखा है- अरविंद केजरीवाल

सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि इस योजना के लागू होने से दिल्ली की अर्थव्यवस्था में बहुत उछाल आएगा। हमेशा यह देखा गया है कि अगर संपत्ति या पैसा कुछ चंद लोगों के हाथ में चला जाए तो अर्थव्यवस्था का बेड़ा गर्क हो जाता है। पिछले 75 साल में हमने देखा कि जितनी भी पार्टियों की सरकारें आईं उनकी ट्रिकल डाउन इकोनॉमिक्स थ्योरी थी। उनकी सरकारों में होता था कि दो-चार परिवारों को देश का सारा पैसा दे दो, वो फिर फैक्ट्री लगाएंगे, फैक्ट्री में सारे मजदूरी करेंगे और उससे देश की तरक्की होगी। लेकिन उससे देश की तरक्की कभी नहीं होती है, दुनिया भर में कभी नहीं हुई। लेकिन यह जो बॉटम ऑफ़ थ्योरी है, इसके जरिए गरीब आदमी के हाथ में जितना पैसा आएगा, उतना देश की तरक्की होगी, उतनी अर्थव्यवस्था की तरक्की होगी। गरीब आदमी के हाथ में जब पैसा आता है, तो वह पैसा मार्केट में जाता है। गरीब आदमी कपड़ा, साबुन समेत दैनिक खपत की चीजें खरीदना है। इससे अर्थव्यवस्था में मांग पैदा होती है। जब मांग पैदा होती है तो नई फैक्ट्रियां लगती है, नई दुकानें खुलती हैं।

दिल्ली सरकार का यह बजट रामराज्य की अवधारणा से प्रेरित है- अरविंद केजरीवाल

सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि जब हमारी दिल्ली में सरकार बनी तो हमने बहुत ज्यादा न्यूनतम सैलरी बढ़ाई थी। जब हमने बिजली-पानी फ्री की तो इससे आम जनता के हाथ में पैसा आया। आज उसी का नतीजा है कि दिल्ली के अंदर पूरे देश में सबसे कम महंगाई है और सबसे ज्यादा समृद्धि है। इसलिए जब महिलाओं के हाथ में पैसा आएगा, तो वो पैसा मार्केट में जाएगा। महिलाएं अपनी मन पसंद की चीजें खरीदेंगी और उससे अर्थव्यवस्था की भी तरक्की होगी। उन्होंने कहा कि आज का यह बजट रामराज्य की अवधारणा से प्रेरित है। हम अच्छा अस्पताल दे रहे हैं, अच्छे स्कूल बना रहे हैं, सड़कें बना रहे हैं। सब चीजें कर रहे हैं। दिल्ली के गांवों की जो सड़कें हैं, उनकी थोड़ी सी अनदेखी रह गई थी। इस बार हमने उसके लिए अलग से बजट का प्रावधान किया है। दिल्ली के गांव-देहात की सड़कों पर ध्यान दिया जाएगा। गांवों की सड़कों निर्माण जोर-शोर से कराया जाएगा। बहुत अच्छा बजट था। बजट में सारे तबकों और सभी सेक्टरों का ख्याल रखा गया। सारे सेक्टर का ख्याल रखा गया है।

भाजपा के सातों सांसद बनाकर दिल्ली को क्या मिला? जब केंद्र सरकार दिल्लीवालों के काम रोकती है तो ये ताली बजाते हैं- अरविंद केजरीवाल

‘‘मुख्यमंत्री महिला सम्मान योजना’’ से लाभांवित होने वाली महिलाओं के प्रश्न पर सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि हमारा अनुमान है कि करीब 45 से 50 लाख महिलाएं स्कीम से लाभांवित होंगी। अगर योजना को लागू होने में कोई अड़चन आती है, तो हम उससे लड़ेंगे और स्कीम को लागू कराएंगे। अभी तक हमने लड़-लड़ कर इतने काम कराए हैं तो ये भी काम कराएंगे। दिल्लीवालों ने एक हमें 70 में से 62 और एक बार 70 में से 67 सीट दी, तभी दिल्ली में हमारी सरकार चल पाई। अगर 70 में से 40 सीट दे देते तो ये लोग हमारी सरकार गिरा देते। जैसे ये लोग हर जगह सरकार गिरा रहे हैं। इसके लिए मैं दिल्लीवालों का शुक्र गुजार हूं। दिल्ली के लोग देख रहे हैं कि कैसे भाजपा के लोग, एलजी और केंद्र सरकार हर काम में टांग अड़ाते हैं। अभी मैं एलजी, भाजपा और केंद्र सरकार से अकेले लड़ रहा हूं। दिल्ली में भाजपा का सातों सांसद का बनाकर दिल्लीवालों का क्या मिला? दिल्लीवालों को तो कुछ नहीं मिला। जब-जब ये लोग दिल्ली के काम रोकते हैं, भाजपा के सातों सांसद ताली बजाते हैं। मैं दिल्लीवालों से अपील करता हूं कि अगर सातों सांसद इंडिया गठबंधन को दे देते हैं, तो मेरे सात हाथ बन जाएंगे। मुझे ताकत मिलेगी। दिल्ली, पंजाब को मिलाकर हमारे पास 25 से 30 सांसद हो जाएंगे। फिर किसी की हिम्मत नहीं है कि वो दिल्ली का काम रोक सके। मैं दिल्ली के लोगों से यह ताकत मांग रहा हूं कि जब आप लोग वोट जान डालने जाना तो केजरीवाल को मजबूत करने के लिए दिल्ली के बारे में सोचना। अगर आप मुझे ताकत देंगे तो आपका काम करने की किसी एलजी हिम्मत नहीं होगी।

सीएम अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा, ‘‘दिल्ली की मेरी सभी माताओं-बहनों और बेटियों को बहुत-बहुत बधाई। महिलाओं को सशक्त बनाने के लिए आपकी दिल्ली सरकार ने एक कदम आगे बढ़ते हुए अब महिलाओं को सालाना 12 हज़ार रुपए की सौगात दी है। 18 साल से अधिक उम्र की हमारी सभी बहन-बेटियों, माताओं और बहनों को अब मुख्यमंत्री महिला सम्मान योजना के तहत 1000 रूपए प्रतिमाह दिए जाएंगे।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments