Homeअंतराष्ट्रीयकेंद्र सरकार ने खाने-पीने की वस्तुओं पर टैक्स लगाकर उसको और महंगा...

केंद्र सरकार ने खाने-पीने की वस्तुओं पर टैक्स लगाकर उसको और महंगा कर दिया है : केजरीवाल

  • मैं केंद्र सरकार से मांग करता हूं कि खाने-पीने की वस्तुओं पर जो जीएसटी लगाया गया है, इसको वापस लिया जाए – अरविंद केजरीवाल

नई दिल्ली, 18 जुलाई, 2022 : मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने केंद्र सरकार द्वारा खाने-पीने की वस्तुओं पर जीएसटी लगाने पर कहा कि एक तरफ, पूरा देश महंगाई से जूझ रहा है और दूसरी तरफ, केंद्र सरकार ने खाने-पीने की वस्तुओं पर टैक्स लगाकर उसको और महंगा कर दिया है। मैं केंद्र सरकार से मांग करता हूं कि इन वस्तुओं पर लगे जीएसटी को वापस लिया जाए। इतनी महंगाई के जमाने में देश में अकेला दिल्ली ऐसा राज्य है, जहां आम नागरिकों को हम लोग महंगाई से थोड़ी राहत दे रहे हैं। दिल्ली सरकार मुफ्त शिक्षा-स्वास्थ्य, बिजली-पानी और महिलाओं को बसों में फ्री सफर की सुविधा दे रही है। इससे हर परिवार को हर महीने 10-15 हजार रुपए का फायदा है। सीएम अरविंद केजरीवाल ने देश के अगले राष्ट्रपति के लिए हो रहे चुनाव को लेकर आज दिल्ली विधानसभा में वोट डाला और कहा कि मैं उम्मीद करता हूं कि देश को सही और अच्छा राष्ट्रपति मिलेंगे।

मैं केंद्र सरकार से निवेदन करूंगा कि खाने-पीने पर जीएसटी लगाना सही नहीं है, इसको वापस लिया जाए- अरविंद केजरीवाल

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के साथ सभी मंत्रियों और विधायकों ने देश के अगले राष्ट्रपति को चुनने के लिए हो रहे चुनाव में आज दिल्ली विधानसभा में मतदान किया। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अपना वोट डालने के उपरांत कहा कि देश के अगले नए राष्ट्रपति को चुनने का आज चुनाव है। सभी मतदाता एमपी और विधायक वोट डाल रहे हैं। मैंने भी अभी अपना वोट डाला है। मैं उम्मीद करता हूं कि देश को सही और अच्छा राष्ट्रपति मिलेंगे। इस दौरान, केंद्र सरकार द्वारा खाने-पीने की वस्तुओं जीएसटी लगाने पर मीडिया के सवालों पर सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि यह बहुत ही दुख की बात है। एक तरफ, पूरा देश महंगाई से जूझ रहा है। पूरे देश के अंदर बहुत ज्यादा महंगाई हो गई है।

दूसरी तरफ केंद्र सरकार ने खाने-पीने की वस्तुओं पर टैक्स लगाकर उसको और महंगा कर दिया है। मैं केंद्र सरकार से मांग करूंगा कि यह जो खाने-पीने की वस्तुओं पर जीएसटी लगाया गया है, इसको वापस लिया जाए। आज देश में अकेला दिल्ली राज्य ऐसा है, जहां आम नागरिक को हम लोग महंगाई से थोड़ी राहत दे रहे हैं। उनके बच्चों की शिक्षा फ्री और अच्छी कर रखी है। सभी लोगों का इलाज मुफ्त और अच्छा होता है। सबकी बिजली मुफ्त कर दी है। सबका पानी मुफ्त कर रखा है। महिलाओं का बसों में सफर मुफ्त कर रखा है। दिल्ली में योग मुफ्त सीखा रहे हैं और तीर्थ यात्रा मुफ्त करा रहे हैं। इन सारी चीजों को जोड़ कर देखें तो हर परिवार को हर महीने कम से कम 10 से 15 हजार रुपए फायदा है। इतनी महंगाई के जमाने में दिल्ली सरकार ही है, जो अपनी जनता को महंगाई से थोड़ी सी राहत दे रही है। मैं केंद्र सरकार से निवेदन करूंगा कि खाने-पीने पर जीएसटी लगाना सही नहीं है। इसको वापस लिया जाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

2 × four =

Must Read