Monday, April 22, 2024
Homeअंतराष्ट्रीयअपनी मांगों को लेकर देश के होमगार्ड जवानों ने दिया दिल्ली जंतर...

अपनी मांगों को लेकर देश के होमगार्ड जवानों ने दिया दिल्ली जंतर मंतर पर धरना

  • आजादी के बाद भी नहीं किया गया है होमगार्ड के नियमों में संशोधन
  • भारत के 8 लाख होमगार्ड अपने परिवार सहित आन्दोलन पर उतरेंगे

नई दिल्ली, 19 दिसंबर 2022 :नेशनल होमगार्ड वेल्फेयर एसोसिएशन के बैनर तले दिल्ली जंतर मंतर पर अपनी मांगों को लेकर देश भर के होमगार्ड जवानों ने एकत्रित होकर धरना दिया। होमगार्ड एसोसिएशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष झलकन सिंह राठौड़ ने बताया कि पिछले 75 वर्ष पूर्व 1946-47 के तहत होमगार्ड का गठन किया गया तब से लेकर वर्तमान समय तक होमगार्ड के नियमों में संशोधन नहीं किया गया। देश के होमगार्ड जवान अंग्रेजों के समय बनाये गए होमगार्ड के काले कानून के तहत आज भी स्वयं सेवक के रूप में गुलामी की जिन्दगी जी रहे हैं, देश के होमगार्ड जवान इस महगाई के दौर में न ही पर्याप्त वेतन न ही सभी को 365 दिन नियमित रोजगार मिल पा रहा है, देश के होमगार्ड जवानों ने ज्ञापन, मीडिया, सोशल मीडिया आदि तमाम माध्यमों से सरकार तक अपनी मांग रखी और अपनी पीड़ा बताई लेकिन अभी तक किसी भी सरकार ने होमगार्ड जवानों की पीड़ा नहीं सुनी।

  • सोमवार को धरना देकर अपनी पीड़ा सरकार के समक्ष रखी है
    अध्यक्ष झलकन सिंह राठौड़ ने बताया कि इस अनसुनी अनदेखी के चलते देश के होमगार्ड जवानों में सरकार के प्रति असंतोष व्याप्त है ऐसे में अब पुरे भारत देश के होमगार्ड जवान अपनी मांगों को लेकर दिल्ली के जंतर मंतर से आन्दोलन की शुरुआत करते हुए सोमवार को धरना देकर अपनी पीड़ा सरकार के समक्ष रखी है, होमगार्ड जवानों ने अपने अपने राज्य की सरकारों को भी अवगत कराया पर हमारी एक भी नहीं सुनी गई। जबकि सर्वाेच्च न्यायालय ने समान काम समान वेतन का आदेश दिया है जो की पुरे भारत देश में होमगार्डों पर एक समान लागू किया जाना चाहिए था परन्तु राज्य सरकारों ने इसकी भी पालना नहीं की। इसलिए होमगार्ड जवान केंद्र सरकार से मांग कर रहे हैं कि होमगार्ड बिल संसद में लाया जाये और 75 वर्ष पुराने बनाये गए नियमः अधिनियम 1946-47 व राज्यों में 1962-63 बदलाव कर स्वयंसेवी अधिनियम ख़त्म कर सेवा नियम बनाकर होमगार्ड को केंद्र या राज्य कर्मचारी का दर्जा दें। गृह मंत्रालय में केन्द्रीय गृह मंत्री के नाम ज्ञापन दिया गया। इस दौरान केंद्र सरकार को चेताते हुए कहा कि अभी धरना शांतिपूर्ण दिया गया है यदि हमारी मांगों को पूरा नहीं किया गया तो आगामी भविष्य में भारत के 8 लाख होमगार्ड अपने परिवार सहित आन्दोलन पर उतरेंगे।
  • देश के अलग अलग प्रदेशों से प्रतिनिधि हुए शाामिल
    होमगार्ड एसोसिएशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष झलकन सिंह राठौड़ ने बताया कि इस धरने में प्रतिनिधि पंजाब से मनोज कपिला अध्यक्ष, जम्मू कश्मीर से कमला शर्मा उपाध्यक्ष, हिमाचल से जोगिन्दर सिंह, उत्तर प्रदेश से मुकेश दवेदी उपाध्यक्ष तेलंगना से राज शेखर महासचिव, दिल्ली से अनिरुद्ध दीक्षित, प्रभारी हरियाणा से कर्मबीर अलेवा संयोजक झारखण्ड से रविमुखर्जी उत्तराखंड से कमल कवल तथा असाम, राजस्थान, तेलंगना, उत्तराखंड से सैकड़ों की तादात में जवानों ने उपस्थिति दी। अभी धरना शांतिपूर्ण दिया गया है यदि हमारी मांगों को पूरा नहीं किया गया तो आगामी भविष्य में भारत के 8 लाख होमगार्ड अपने परिवार सहित आन्दोलन पर उतरेंगे।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments