Tuesday, June 18, 2024
Homeअंतराष्ट्रीयसफदरजंग अस्पताल के बाहर महिला का प्रसव होने के बाद दिल्ली महिला...

सफदरजंग अस्पताल के बाहर महिला का प्रसव होने के बाद दिल्ली महिला आयोग ने जारी किया नोटिस

दिल्ली महिला आयोग ने सफदरजंग अस्पताल द्वारा एक गर्भवती महिला को कथित तौर पर भर्ती करने से मना करने के बाद अस्पताल के बाहर महिला का प्रसव होने के बाद अस्पताल को नोटिस जारी किया

नई दिल्ली, 19 जुलाई 2022 : दिल्ली महिला आयोग ने सफदरजंग अस्पताल के बाहर एक महिला के प्रसव के वीडियो का कड़ा संज्ञान लेते हुए मामले में अस्पताल को नोटिस जारी किया है और कथित तौर पर महिला को भर्ती न करने पर अस्पताल से जवाब मांगा। आयोग को सफदरजंग अस्पताल के परिसर में महिला की पीड़ा को दिखाता हुआ एक वीडियो प्राप्त हुआ और मामले का स्वत: संज्ञान लेते हुऐ आयोग ने तुरंत ही अस्पताल को नोटिस जारी कर जवाब मांगा। उक्त वीडियो में गर्भवती महिला को महिलाओं से घिरा देखा जा सकता है जो उसके प्रसव में उसकी सहायता कर रही हैं। साथ ही वीडियो में एक महिला को सुना जा सकता है जो अस्पताल पर भर्ती न करने का आरोप लगा रही है कि गर्भवती महिला पूरी रात अस्पताल के बाहर बैठी रही परंतु अस्पताल ने न ही दाखिला दिया और न डॉक्टरों ने कोई मदद की।

आयोग ने सफदरजंग अस्पताल को नोटिस जारी कर अस्पताल से घटना के सम्बन्ध में एक विस्तृत जांच रिपोर्ट देने को कहा है। आयोग ने अस्पताल से महिला की हालत गंभीर होने के बावजूद भी उसे भर्ती देने से इनकार करने के बारे में भी कारण बताने को कहा है, जिस कारण अंततः मजबूरन उसे अस्पताल की इमारत के बाहर ही बच्चे को जन्म देना पड़ा।आयोग ने इस लापरवाही के लिए जिम्मेदार कर्मचारियों और उनके खिलाफ अस्पताल द्वारा की गई कार्रवाई का विवरण भी मांगा है। इसके अलावा, आयोग ने अस्पताल से ये भी बताने को कहा है कि क्या अस्पताल के किसी कर्मचारी या डॉक्टर ने अस्पताल की इमारत के बाहर महिला की डिलीवरी में मदद करी या नहीं । साथ ही आयोग ने आपातकालीन मामलों में अस्पताल द्वारा अपनाए जाने वाले प्रोटोकॉल के संबंध में भी जानकारी मांगी और मामले की गंभीरता को देखते हुए अस्पताल से 25.07.2022 तक मांगी गई जानकारी उपलब्ध कराने को कहा।

दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्षा स्वाति मालीवाल ने इस घटना पर रोष व्यक्त करते हुए कहा कि जब प्रतिष्ठित सरकारी अस्पताल भी गंभीर रोगियों को भर्ती और इलाज देने से इनकार करते हैं तो सार्वजनिक स्वास्थ्य प्रणाली में आम लोगों का विश्वास कमज़ोर पड़ता हैं। मैंने सफदरजंग अस्पताल को नोटिस जारी कर अस्पताल से मामले में संबंधित अधिकारियों की जवाबदेही तय करने के लिए कहा है। यह बहुत ही शर्मनाक घटना है और लापरवाह अधिकारियों के खिलाफ निश्चित तौर पर कार्रवाई की जानी चाहिए और स्थिति को सुधारने के लिए तत्काल कदम उठाए जाने चाहिए ताकि ऐसी घटनाएं दुबारा सामने ना आएं।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments