Homeटेक्नोलॉजीदिल्ली कांग्रेस ने प्रवासी श्रमिकों के लिए आश्रय केन्द्र बनाया और उनके...

दिल्ली कांग्रेस ने प्रवासी श्रमिकों के लिए आश्रय केन्द्र बनाया और उनके खाने का भी इंतजाम किया: चौ. अनिल कुमार

  • दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष चौ. अनिल कुमार ने दिल्ली के बार्डरों के आने-जाने वाली जगहों का दौरा किया
  • जहां कांग्रेस की दिल्ली बार्डर रिलिफ टीम प्रवासी श्रमिकों को खाना, पानी, फर्स्ट एड सुविधा, मास्क व सेनिटाईजर मुहैया करा रहे है।
  • दिल्ली कांग्रेस प्रवासियों को खाना, स्नेक्स, पीने का पानी, मास्क, सैनिटाईजर सेनिटरी पेड, फर्स्ट ऐड सुविधा दे रही है
  • दिल्ली की केजरीवाल सरकार और केन्द्र की भाजपा सरकार इन प्रभावित लोगों के लिए कुछ नहीं कर रही हैं

नई दिल्ली: दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष चौ. अनिल कुमार ने बताया कि दिल्ली कांग्रेस ने प्रदेश कार्यालय में अस्थायी शैल्टर होम बनाकर प्रवासी श्रमिकों के रहने के लिए 50 बेड का इंतजाम किया है, जहां पर इनको तीनों समय का पौष्टिक खाना के साथ सैनिटाईजेशन, मास्क और समाजिक दूरी का भी ध्यान तब तक रखा जाऐगा, जब तक कांग्रेस पार्टी इन प्रवासी श्रमिकों को उनके गृह राज्य नहीं भेज देती। कांग्रेस पार्टी इनके रेल टिकट का भी इंतजाम कर रही है। उन्होंने कहा कि राजीव भवन में विस्थापित प्रवासी श्रमिकों द्वारा कोरोना महामारी लॉकडाउन के सभी नियमों का पालन किया जा रहा है।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष चौ. अनिल कुमार ने शनिवार को दिल्ली के बार्डरों के आने-जाने वाली जगहों का दौरा किया, जहां कांग्रेस कोरोना यौद्धाओं की दिल्ली बार्डर रिलिफ टीम उन हजारों प्रवासी श्रमिकों, जो देश भर में कोरोना महामारी लॉकडाउन के कारण अपने गृह राज्यों को पैदल ही जाने को मजबूर है, उनको  खाने का सामान, पानी, मास्क बांटा जा रहा है और उन्हें फर्स्ट एड सुविधाओं के साथ सेनिटाईज भी कराया जा रहा है। चौ. अनिल कुमार ने दिल्ली बार्डरों का दौरा करते समय यह भी सुनिश्चित किया कि गरीब श्रमिकों को जरुरी मदद मिल रही है या नहीं। जैसे कि उनके लिए खाना, स्नेक्स, पीने का पानी, मास्क, सैनिटाईजर सेनिटरी पेड, फर्स्ट ऐड सुविधा आदि जबकि दिल्ली की केजरीवाल और केन्द्र की भाजपा सरकार इन प्रभावित लोगों के लिए कुछ नही कर रही हैं।

चौ. अनिल कुमार ने कहा कि कांग्रेस का ध्येय कोविड-19 महामारी लॉकडाउन में ही नही बल्कि हमेशा गरीब लोगों की मदद करने का रहा है। कांग्रेस पार्टी भूख से प्रभावित गरीब लोगों की सेवा राजनीति से उपर उठकर कर रही है। उन्होंने कहा कि श्रमिकों के पास अपनी जीविका पालन के लिए न ही नौकरी और न ही कोई अन्य श्रोत, यही कारण है कि यह अपने घरों को पलायन करने को मजबूर हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल से प्रवासी श्रमिकों को बस अथवा रेल से उनके गृह राज्यों को भेजने की अनुमति मांगी थी, इनके जाने के खर्चे को कांग्रेस पार्टी वहन करने के लिए तैयार है। परंतु दिल्ली कांग्रेस को इस संदर्भ में दिल्ली सरकार से कोई जवाब नही मिला। उन्होंने कहा कि प्रवासी श्रमिकों को उनके गृह राज्य भेजने हेतू दिल्ली सरकार का यह रवैया असंवेदनशील है।

चौ. अनिल कुमार ने कहा कि कांग्रेस पार्टी बिना किसी दिखावे के लॉकडाउन के संकट के दौरान भूखे और जरुरतमंदों की सेवा कर रही है, क्योंकि पार्टी का एकमात्र उदेश्य भूखे लोगों को पौष्टिक भोजन उपलब्ध कराकर उनकी पीड़ा कम करना है। उन्होंने कहा कि यह समय आगे आकर गरीब और उपेक्षित लोगों की मदद करने का है, लेकिन केजरीवाल सरकार इन गरीब लोगों की सहायता करने के नाम सिर्फ बातें कर रही है जबकि यह लोग इतने दुखों से गुजर रहें है, उसको महसूस करना आत्म अनुभव जैसा है। उन्होंने कहा कि प्रवासी श्रमिकां का देश की उन्नति और विकास में महत्वपूर्ण निर्णायक भूमिका रही है, विशेषकर दिल्ली और जब श्रमिक वर्ग इस कठिन दौर में गुजर रहा है तो कांग्रेस पार्टी उनके लिए कुछ किए बिना चुप नही बैठ सकती और उनकी सहायता के लिए लगातार कोशिश कर रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

sixteen + 3 =

Must Read