Sunday, April 21, 2024
Homeअंतराष्ट्रीयकेजरीवाल सरकार के 9 साल में दिल्ली सरकार की स्वास्थ्य सेवाएं बद से...

केजरीवाल सरकार के 9 साल में दिल्ली सरकार की स्वास्थ्य सेवाएं बद से बदतर हुई है : सचदेवा

– कोई नया अस्पताल खुलना तो दूर चालू अस्पतालों में रोगी बेड तक नहीं बढ़ा पाई केजरीवाल सरकार

– दिल्ली शर्मसार है कि दिल्ली सरकार के पास 3 करोड़ जनता के लिए सिर्फ 6 CT Scan मशीन हैं 

– दिल्ली सरकार के अस्पतालों में CT Scan तो छोड़िए Ultrasound के लिए भी एक साल बाद की Date मिलती है — वीरेन्द्र सचदेवा

नई दिल्ली 6 फरवरी : दिल्ली भाजपा के अध्यक्ष श्री वीरेन्द्र सचदेवा ने कहा है कि अरविंद केजरीवाल सरकार के 9 साल में दिल्ली सरकार की स्वास्थ्य सेवाएं बद से बदतर हुईं हैं। कोई नया अस्पताल खुलना तो दूर चालू अस्पतालों में रोगी बेड तक नहीं बढ़ा पाई है केजरीवाल सरकार।  वीरेन्द्र सचदेवा ने कहा है कि कोविड काल में दिल्ली ने देखा था  कि किस तरह स्वास्थ्य सेवाएं फ्लॉप हुईं थी, मोहल्ला क्लीनिक सेवा ठप हो गई थी और आज मोहल्ला क्लीनिक घोटाला केन्द्र बन कर रह गये हैं। दिल्ली सरकार के अस्पताल एवं क्लीनिकों में पैथोलॉजी टेस्ट एवं एक्स रे की सुविधा नहीं है और निजी पैथ लैब एवं एक्स रे, अल्ट्रासाउंड एवं सी.टी. स्कैन सब में घोटाला है। केजरीवाल सरकार में हुए घटिया एवं नकली दवाओं के घोटाले ने दिल्ली को शर्मसार किया है। दिल्ली सरकार के अस्पतालों में डॉक्टरों – पैरा मेडिकल स्टाफ की कमी है, ऑपरेशन थियेटर ठप्प हैं। केजरीवाल सरकार के विफल हेल्थ मॉडल की पहचान है उसके घोटाले एवं स्वास्थ्य सुविधाओं की कमी।

वीरेन्द्र सचदेवा ने कहा है  कि अब आज हाई कोर्ट के माध्यम से सामने आया है  कि दिल्ली की 3 करोड़ जनता के लिए केजरीवाल सरकार के पास सिर्फ 6 CT Scan मशीन हैं। उनमे से भी अधिकांश अक्सर आऊट आफ आर्डर रहती हैं। दिल्ली भाजपा अध्यक्ष ने कहा है  कि दिल्ली की जनता केजरीवाल सरकार की इस बदइंतजामी के लिए शर्मसार है क्योंकि आज दिल्ली सरकार के अस्पतालों में CT Scan तो छोड़िए Ultra Sound के लियें एक साल बाद की Date मिलती है।

– केजरीवाल सरकार ने 9 साल में दिल्ली जल बोर्ड को लूट का अड्डा बना रखा है और जल बोर्ड के हर कार्य में भ्रष्टाचार व्याप्त है 

दिल्ली भाजपा के अध्यक्ष वीरेन्द्र सचदेवा ने कहा है कि अरविंद केजरीवाल सरकार ने 9 साल में दिल्ली जल बोर्ड को लूट का अड्डा बना रखा है और जल बोर्ड के हर कार्य में भ्रष्टाचार व्याप्त है। दिल्ली भाजपा लगातार कहती रही है  कि केजरीवाल सरकार ने सीवर लाइन  डालने, पेयजल लाइन डालने, यू.जी.आर. बनाने, टैंकरों से जल वितरण ही नही पानी बिल जमा करने के नाम पर भी घोटाले किये हैं। दिल्ली जल बोर्ड के पैसे के घोटाले का बड़ा प्रमाण है बोर्ड के एक पूर्ववर्ती सी.इ.ओ. उदित प्रकाश जो मुख्यमंत्री के बहुत करीबी अधिकारी माने जाते है द्वारा अवैध रूप से बंगले का निर्माण।

वीरेन्द्र सचदेवा ने कहा है  कि आज आम आदमी पार्टी सांसद एन.डी. गुप्ता एवं मुख्यमंत्री के सचिव विभव कुमार सहित दिल्ली जल बोर्ड से जुड़े 12 ठिकानों पर पड़े ई.डी. छापों ने दिल्ली भाजपा के जल बोर्ड में घोटालों के आरोपों को पुष्ट किया है। दिल्ली भाजपा अध्यक्ष ने कहा है  कि ई.डी. छापे हों या कोई अन्य जांच आम आदमी पार्टी नेताओं का उन्हे भाजपा प्रायोजित बताना उनकी पकड़े जाने की छटपटाहट है और अब दिल्ली एवं देश की जनता के आगे केजरीवाल सरकार एवं ‘आप’ पार्टी का भ्रष्टाचार पूरी तरह उजागर हो चुका है।  सचदेवा ने कहा है  कि दिल्ली की जनता ना सिर्फ 2024 के लोकसभा चुनाव में बल्कि 2025 के विधानसभा चुनाव में ‘आप’ को नकार कर अरविंद केजरीवाल के भ्रष्टाचार को सबक सिखायेगी।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments