Homeताजा खबरेंपूर्व उप महापौर रमेश दत्ता को दिल्ली प्रदेश कांग्रेस ने की श्रद्धाजंलि...

पूर्व उप महापौर रमेश दत्ता को दिल्ली प्रदेश कांग्रेस ने की श्रद्धाजंलि अर्पित

  • कांग्रेस की रसोई द्वारा वितरित भोजन रमेश दत्ता को अर्पित किया
  • प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष चै0 अनिल कुमार ने बताया कि 9 बार निगम पार्षद रहे
  • चौ0  अनिल कुमार ने दिल्ली में शराब की दुकानें खोलने के लिए केजरीवाल सरकार पर कटाक्ष किया
  • बोले, दिल्ली सरकार के इस कदम से आने वाले सप्ताहों में दिल्ली में कोरोना के मामलों में तेजी आएगी

नई दिल्ली: दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष चौ0  अनिल कुमार ने पूर्व निगम पार्षद श्री रमेश दत्ता को प्रदेश कार्यालय राजीव भवन में सोमवार को श्रद्धाजंलि अर्पित की। प्रदेश अध्यक्ष के अलावा पूर्व सांसद संदीप दीक्षित, दक्षिणी दिल्ली नगर निगम में कांग्रेस दल के नेता मुकेश गोयल, चॉदनी चैक जिला कमेटी के अध्यक्ष मौहम्मद उस्मान सहित कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने भी उन्हें श्रद्धाजंलि दी। श्री दत्ता का देहांत रविवार की रात में हुआ। चै0 अनिल कुमार ने बताया कि कांग्रेस की रसोई में गरीबों को खाना श्री रमेश दत्ता को अर्पित करते हुए वितरित किया गया।

चौ0  अनिल कुमार ने बताया कि श्री रमेश दत्ता 9 बार निगम पार्षद रहे, शहरी जोनल कमेटी के चैयरमेन तथा उप महौपर भी रहे। रमेश दत्ता कांग्रेस के समर्पित और प्रतिबंद्ध सैनिक थे और श्री दत्ता ने सभी राजनीतिक दलों के साथ सौहार्दपूर्ण संबध बनाए रखा। उनका एकमात्र उदेश्य लोगों की भलाई के लिए सभी दलों से समाजंस्य बनाए रखना था। उन्होंने अपने राजनीतिक जीवन में गरीबों और जरुरमंदों के हित और उनका विकास किया। चै0 अनिल कुमार ने कहा कि श्री रमेश दत्ता एक समर्पित कांग्रेस के सैनिक थे जिन्होंने पूरी जिंदगी बिना किसी स्वार्थ पार्टी की सेवा की और गरीबों के उत्थान करने को अपने जीवन का उदेश्य बनाए रखा।

चौ0 अनिल कुमार और संदीप दीक्षित ने प्रदेश कार्यालय में प्रदेश कार्यालय में दो मिनट का मौन रखने के बाद गरीब और जरुरतमंद लोगों को कांग्रेस की रसोई द्वारा पौष्टिक खाना रमेश दत्ता को समर्पित करते हुए वितरित किया। चौ0 अनिल कुमार ने कहा कि दिल्ली कांग्रेस कोविड-19 लॉकडाउन के बाद से ही दिल्ली भर में कांग्रेस की रसोई द्वारा गरीब व जरुरतमंदों को बिना अपनी पीठ थपथपाऐ स्वादिष्ट और पौष्टिक भोजन वितरित कर रही है जबकि भाजपा और आम आदमी पार्टी खाना वितरित स्वयं अपनी पीठ थपथपा रही हैं।

चौ0 अनिल कुमार ने कहा कि भाजपा और केजरीवाल सरकार दोनो में एक दूसरे से लड़ाई चल रही है कि किसने अधिक गरीब लोगों को खाना वितरित किया। लेकिन सच तो यह है कि दिल्ली न तो भाजपा की रसोई कहीं दिखाई देती है और न ही केजरीवाल सरकार की रसोई, और यह बड़े ही आश्चर्य की बात है कि इनकी यह बात कैसे हजम होगी कि दोनो पार्टियां यह कैसे कह रही है कि बिना किसी सबूत के कि लॉकडाउन के दौरान लाखों गरीब लोगों को खाना वितरित कर रही हैं।

संदीप दीक्षित ने कांग्रेस के कोरोना सैनिकों की सराहना करते हुए कहा कि वे किसी स्वार्थ के तब से गरीबों की सेवा कर रहे हैं जब से लॉकडाउन शुरु हुआ है। कांग्रेस के यौद्धाओं ने शुरु से लोगों की सेवा की जब से उन्हें इसकी बहुत अधिक जरुरत थी। उन्होंने कहा कि भाजपा और आप पार्टी दोनो ही लॉकडाउन के दौरान गरीब लोगों को भोजन कराने का श्रेय लेने की होड़ लगी है, जबकि आप सरकार द्वारा दिए जा रहे खराब खाने की चारों तरफ शिकायत मिल रही है जो कि करदाताओं के पैसे को बिना किसी जांच और सावधानी के उदारतापूर्वक खर्च किया जा रहा है।


चौ0  अनिल कुमार ने केजरीवाल सरकार पर आरोप लगाया कि बिना किसी तैयारी के सरकार ने राजस्व बढ़ाने के लिए राजधानी में शराब की दुकानों को लोगों के स्वास्थ्य को ताक पर रखकर खोल दी है जबकि दिल्ली में कोविड-19 महामारी का ग्राफ लगातार बढ़ रहा है और दिल्ली सरकार कोरोना को तेजी से फैलने से रोकने के लिए जांच करने में भी विफल रही है। उन्होंने कहा कि केजरीवाल सरकार ने कहा था कि शराब की दुकान के बाहर सामाजिक दूरी बनाऐ रखते हुए हर समय और पांच से अधिक लोगों को खड़ा नहीं होने देंगे और जबकि आज शराब की दुकानें खुलने के बाद लोगों की शराब खरीदने के लिए शराब की दुकानों भीड़ लग गई, जिससे कई स्थानों पर पुलिस द्वारा हस्तक्षेप करके दुकान बंद करने को मजबूर होना पड़ा। उन्होंने कहा कि केजरीवाल सरकार को शराब की दुकानों को खोलने की अनुमति देने से पहले उचित योजना बनानी चाहिए थी, अन्यथा, सरकार के इस कदम से राजधानी में केवल कोरोना मामलों में तेजी से वृद्धि की संभावना है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

eleven + 13 =

Must Read