Home अंतराष्ट्रीय फ्री और 24 घंटे बिजली के लिए गुजरात के लोगों को सत्ता...

फ्री और 24 घंटे बिजली के लिए गुजरात के लोगों को सत्ता बदलनी पड़ेगी और ईमानदार पार्टी की सरकार लानी पड़ेगी : केजरीवाल

0
4
  • गुजरात में मंत्री ऐश कर रहे हैं, उनका हज़ारों यूनिट का बिल भी जीरो आता है और ग़रीब का एक पंखे और बल्ब का बिल भी हज़ारों में आता है- अगर एक गरीब के बिजली का बिल हज़ारों में आएगा, तो वो बच्चों को कैसे पढ़ाएगा? जो सुविधाएं मंत्रियों को मिले, वो जनता को भी मिलनी चाहिए-गुजरात का एक बड़ा नेता कह रहा था कि केजरीवाल फ्री क्यों देता है? इनको डर लगता है कि लोगों को फ्री बिजली मिलने लग गई तो इनको लूटने के लिए पैसे नहीं बचेंगे- 2014 के चुनाव से पहले भाजपा नेताओं ने पूरे देश में जाकर बोला कि गुजरात में बिजली जाती है, तो खबर बनती है, जबकि यहां तो बिजली बहुत जाती है- भाजपा और कांग्रेस कहती थी कि दिल्ली छोटा राज्य है, यहां बिजली फ्री हो सकती है, पर बड़े राज्य में नहीं हो सकती, भगवान ने हमें बड़ा राज्य पंजाब भी दे दिया, हमने वहां भी बिजली फ्री कर दी- 24 घंटे बिजली और फ्री बिजली पूरी दुनिया में आज तक किसी ने नहीं किया, यह जादू सिर्फ मेरे पास है, किसी और को करना नहीं आता है- हमारी नियत अच्छी है, हम ईमानदार लोग हैं, बस यही विद्या हमारी है, हम बिजली कंपनियों से पैसे नहीं खाते, उनको ठीक कर देते हैं

नई दिल्ली/गुजरात, 04 जुलाई, 2022 : गुजरात दौरे पर आए आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने आज अहमदाबाद में टाउन हाल मीटिंग कर बिजली के मुद्दे पर बात की। उन्होंने लोगों के सवालों का जवाब देते हुए कहा कि दिल्ली और पंजाब की तरह गुजरात में भी फ्री और 24 घंटे बिजली हो सकती है। बस शर्त यह है कि लोगों को सत्ता बदलनी पड़ेगी और ईमानदार पार्टी की सरकार लानी पड़ेगी। गुजरात में मंत्री ऐश कर रहे हैं। उनका हज़ारों यूनिट का बिल भी जीरो आता है और ग़रीब का एक पंखे और बल्ब का बिल भी हज़ारों में आता है। अगर एक गरीब के बिजली का बिल हज़ारों में आएगा, तो वो बच्चों को कैसे पढ़ाएगा? ‘‘आप’’ के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने कहा कि गुजरात का एक बड़ा नेता कह रहा था कि केजरीवाल फ्री क्यों देता है? इनको डर लगता है कि लोगों को फ्री बिजली मिलने लग गई तो इनको लूटने के लिए पैसे नहीं बचेंगे। भाजपा और कांग्रेस कहती थी कि दिल्ली छोटा राज्य है, यहां बिजली फ्री हो सकती है, पर बड़े राज्य में नहीं हो सकती। भगवान ने हमें बड़ा राज्य पंजाब भी दे दिया। हमने वहां भी बिजली फ्री कर दी। 24 घंटे और फ्री बिजली पूरी दुनिया में आज तक किसी ने नहीं किया। यह जादू सिर्फ मेरे पास है।

हम राजनीति करने के लिए नहीं, जनता की सेवा करने के लिए आए हैं, हमने दिल्ली और पंजाब में करके दिखाया है- अरविंद केजरीवाल

आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक एवं दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आज गुजरात के अहमदाबाद में टाउन हॉल को संबोधित किया। सरदार पटेल, रिंग रोड पर स्थित श्री शक्ति कन्वेंशन सेंटर में आयोजित टाउन हॉल को संबोधित करते हुए ‘‘आप’’ के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने कहा कि चुनाव आने वाले हैं और आज हम लोग गुजरात में बिजली की समस्या पर चर्चा करने के लिए इकट्ठे हुए हैं। आम आदमी पार्टी गुजरात में पहला चुनाव लड़ने जा रही है। इससे पहले, गुजरात में कई चुनाव हुए। कांग्रेस और भाजपा वालों ने चुनाव लड़े। क्या आज तक किसी पार्टी ने गुजरात के लोगों के साथ बैठ कर कभी बिजली के ऊपर चर्चा की? क्या आपके मुद्दों पर चर्चा की? वो लोग आकर बड़ी-बड़ी रैली करते हैं। उनके नेता बड़े-बड़े भाषण देते हैं, बड़े-बड़े वादे करते हैं। फिर पांच साल लूटने में लग जाते हैं और फिर अगला चुनाव आता है। हम राजनीति करने के लिए नहीं आए हैं। हम जनता की सेवा करने के लिए आए हैं। जनता के मुद्दों का समाधान करने के लिए आए हैं। आज मैं पूरे विश्वास के साथ कह सकता हूं कि अगर मैं पहली बार चुनाव लड़ता और मैं कहता कि हम तो जनता के मुद्दे पर चुनाव लड़ेंगे, तो आप कहते कि केजरीवाल भी नेता बन गया है। चुनाव के बाद तो कुछ करना नहीं है। हमने दिल्ली और पंजाब में करके दिखाया है।

जो सुविधाएं मंत्रियों को मिले, वो जनता को भी मिलनी चाहिए- अरविंद केजरीवाल

‘‘आप’’ के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने कहा कि जब घर-घर जाते हैं और लोगों से बात करते हैं, तो वो अपनी कहानियां भेजते हैं। लोगों का दुख सुनकर दिल रो पड़ता है। एक गरीब आदमी का अगर हजारों रुपए का बिजली का बिल आएगा, तो वो अपने बच्चों को कैसे पढ़ाएगा और अपने परिवार को रोटी कैसे खिलाएगा। आखिर गुजरात के अंदर इतनी महंगी बिजली क्यों है? मंत्रियों का बिजली का बिल जीरो आता है। आपने जिन लोगों को चुनकर भेजा है, वो लोग ऐश कर रहे हैं। उनका बिजली का बिल जीरो आता है। वो हर महीने कई हजार यूनिट बिजली इस्तेमाल करते हैं। उनके घर और दफ्तर में एसी लगे हुए हैं। कइयों के तो शायद टॉयलेट में भी एसी लगे हुए हैं। किसी के घर में 20, तो किसी के घर में 30 एसी लगे हैं और उनका बिजली का बिल जीरो आता है। वहीं, आम जनता के घर में एक बल्ब, एक पंखा, टीवी और फ्रीज का हजारों रुपए का बिजली का बिल आता है। यह तो नहीं होना चाहिए। जो सुविधाएं मंत्रियों को मिले, वो जनता को भी मिलनी चाहिए।

गुजरात के किसानों को रात को सिर्फ 6-7 घंटे बिजली देते हैं और उसमें भी पावर कट लगता है- अरविंद केजरीवाल

आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने कहा कि गुजरात के किसानों को रात को बिजली देते हैं। रात को बिजली देने का क्या मतलब है? मुझे लगता है कि थोड़े दिन तक गुजरात के सचिवालय में भी रात को ही बिजली आनी चाहिए। इन मंत्रियों को थोड़े दिन रात को ही काम करने का मौका मिलना चाहिए। ये क्या मजाक बना रखा है कि किसानों को रात को बिजली देते हैं। जब सारी- सारी रात किसान जागेगा तो वो सोएगा कब? वो अपनी जिंदगी कैसे जिएगा। वो भी 6-7 घंटे की बिजली देते हैं और वो भी इतनी महंगी बिजली देते हैं। कई लोगों को पांच-पांच हजार रुपए महीने का बिल देना पड़ता है। लोगों को नया कनेक्शन नहीं मिलता है। सालों का वेटिंग लिस्ट है। छह घंटे बिजली जो आती है, उसमें भी पावर कट लगता है।

2014 के चुनाव से पहले भाजपा नेताओं ने पूरे देश में जाकर बोला कि गुजरात में बिजली जाती है, तो खबर बनती है, जबकि यहां तो बिजली बहुत जाती है- अरविंद केजरीवाल

‘‘आप’’ के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने कहा कि मुझे याद है कि 2014 के चुनाव के पहले भाजपा के नेताओं ने पूरे देश में जाकर छाती चौड़ी करके बोला कि गुजरात में बिजली जाती है तो खबर बनती है और यहां पर बिजली आती है तो खबर बनती है। अब मेरे को पता चला कि यहां तो बिजली बहुत जाती है। यहां न्यूज़ क्यों नहीं बनती है, क्योंकि न्यूज़ वालों को इन्होंने डरा रखा है। इसमें न्यूज़ वालों का कोई कसूर नहीं है, वो भी हमारी तरह ही है। जैसे उन्होंने पूरे देश को डरा रखा है, वैसे ही न्यूज वालों को भी डरा रखा है। इसलिए बिजली जाती है, तो न्यूज़ बनती ही नहीं है। भाजपा वालों ने पूरा झूठा प्रचार किया था। जब हम लोगों ने पहली बार दिल्ली का चुनाव लड़े थे। उसके पहले मैं दिल्ली की गली गली में जाया करता था और लोगों से बात किया करता था। हमारे से पहले कांग्रेस की सरकार थी। तब इतने बिजली के बिल आते थे कि लोग रोते थे। मैं जिस गली से निकल जाता था, लोग अपने बिजली और पानी के बिल दिखाने के लिए खड़े हो जाते थे। मैंने शीला दीक्षित जी से निवेदन किया कि आप बिजली का बिल कम करो। उस समय हम भी फ्री बिजली की बात नहीं करते थे। हमने कहा कि आपने बिजली बहुत महंगी कर रखी है। डॉक्टर कहते हैं कि अगर शुगर का मरीज तीन-चार घंटे भूखा रह जाए तो उसकी शुगर गिर जाती है और उसकी मौत हो सकती है। मेरे परिवार वाले बहुत हतोत्साहित हो गए कि ये 15 दिन का अनशन कैसे करेगा? लेकिन ‘जाको राखे साइयां, मार सके न कोय।’ मैंने 15 दिन का अनशन किया। इस दौरान सिर्फ पानी पिया और आज आपके सामने जिंदा खड़ा हूं।

सरकार में आने के बाद दिल्ली में हमने बिजली फ्री कर दी, आज दिल्ली में 24 घंटे बिजली आती है और फ्री में बिजली आती है – अरविंद केजरीवाल

‘‘आप’’ के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने कहा कि जब आप सत्य के रास्ते पर चलते हैं, जब आप लोगों के लिए निस्वार्थ भाव से काम करते हैं, तो फिर ऊपर वाला भी आपके साथ होता है। मैं 15 दिन भूखे रहा। दिल्ली में लगभग 15 लाख लोगों ने हस्ताक्षर करके दिए कि बिजली के बिल कम होने चाहिए। जब शीला दीक्षित जी नहीं मानी, तो लोगों ने कहा कि केजरीवाल जी आप चुनाव लड़िए है। अब शीला दीक्षित जी मानने वाली नहीं हैं, अब इनको हम हराएंगे। आप सरकार में आइए और खुद बिजली के बिल कम करिए। हम चुनाव लड़े। हमारी पहली सरकार केवल 49 दिन रही। हम दूसरी बार चुनाव जीते और दूसरी बार सरकार में आने के बाद बिजली के रेट आधे नहीं किए, बल्कि फ्री ही कर दी। अब अगर मैं केवल बिजली फ्री करता और दिल्ली में पावर कट लगते तो लोग कहते क्या बिजली फ्री कर दी, पावर कट तो लग ही रहे हैं। मुझे याद है कि जुलाई 2014 की गर्मियों में 7-7, 8-8 घंटे के पावर कट लगा करते थे। बिल आते थे लेकिन बिजली नहीं आती थी। दिल्ली में चुनाव जीतने के बाद मैंने और मेरे बिजली मंत्री सत्येंद्र जैन ने (जिनको इन्होंने अभी झूठे केस में जेल में डाला हुआ है। वो कट्टर इमानदार आदमी हैं, पर भाजपा वाले तो सबको जेल में डाल देते हैं) खड़े होकर पूरे दिल्ली के अंदर तार-ट्रांसफॉर्मर बदलवाए और आज दिल्ली के अंदर 24 घंटे बिजली आती है और फ्री में बिजली आती है। दिल्ली में पावर कट नहीं लगते हैं।

दिल्ली में हमने पिछले सात साल में न टैक्स बढ़ाया, न कोई लोन लिया, सरकार भी मुनाफे में है और 2014 में जो बिजली के रेट थे, आज भी वही है- अरविंद केजरीवाल

‘‘आप’’ के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में बिजली फ्री करने के लिए अगर मैं आपका टैक्स बढ़ा देता और फिर बिजली फ्री करता तो, यह होता कि एक हाथ से दे और दूसरे हाथ से ले। यानी कि इस जेब से लिया और उस जेब में डाल दिया। अगर आप की बिजली फ्री करने के लिए मैं लोन लेता, सरकार को कर्जे में डूबो देता तो वो गलत बात होती है। हमने पिछले 7 साल के अंदर दिल्ली के अंदर टैक्स बढ़ाया नहीं है, बल्कि हमने टैक्स को कम किया है। हमने टैक्स कम किया, कोई लोन नहीं लिया, पहले दिल्ली सरकार घाटे में चल रही थी, आज मुनाफे में चल रही है। दिल्ली सरकार का पुराना सारा घाटा पूरा कर दिया। दिल्ली सरकार के ऊपर आज कोई लोन नहीं है।

सरकार में आते ही हमने बिजली कंपनियों को बुलाकर दिल्ली के अंदर बिजली के रेट बढ़ाने पर रोक लगा दी और कहा कि आप पहले वाली सरकारों को पैसे देते थे या नहीं देते थे, हमें इससे कोई लेना-देना नहीं है, लेकिन अब दिल्ली के अंदर एक ईमानदार सरकार है, तुमसे एक पैसा नहीं मांगेंगे। लेकिन जनता के बिजली का बिल नहीं बढ़ना चाहिए और पिछले 7 साल से दिल्ली के अंदर बिजली के रेट नहीं बढ़े। 2014 में बिजली के जो रेट थे, आज भी वही रेट है। हमने भ्रष्टाचार को खत्म कर खूब पैसा बचाया और उससे हमने जनता को सब्सिडी दी। आज दिल्ली में जनता को फ्री में बिजली मिल रही है। जब हमने दिल्ली में बिजली फ्री कर दी, तो भाजपा और कांग्रेस वाले चिल्लाने लगे कि दिल्ली तो बहुत छोटी जगह है। दिल्ली में तो बिजली फ्री हो सकती है, लेकिन बड़े राज्य में नहीं हो सकती। यह ऊपरवाला देख रहा था और ऊपर वाले ने हमें एक बड़ा राज्य पंजाब भी दे दिया। मैं पढ़ा लिखा हूं, मेरी डिग्री भी असली है। इंजीनियर हूं, इनकम टैक्स में नौकरी करता था, कानून भी जानता हूं। इसलिए मैं सारी कैलकुलेशन करके पंजाब जाता था। मैंने देखा कि पंजाब में बिजली फ्री कैसे करनी है। मैंने एलान किया कि जब पंजाब में हमारी सरकार बनेगी, तो हम बिजली फ्री करेंगे। तब भी सारी पार्टियां चिल्लाती थीं कि केजरीवाल झूठ बोल रहा है। पंजाब घाटे में चल रहा है। पंजाब के ऊपर तीन लाख करोड रुपए का कर्जा है। पंजाब में आम आदमी पार्टी की सरकार बने हुए मात्र तीन महीने हुए हैं और एक जुलाई से पंजाब के अंदर बिजली फ्री हो गई है। सिर्फ 300 यूनिट बिजली ही फ्री नहीं हुई है, बल्कि 31 दिसंबर 2021 के पहले के सभी बिजली के बिल माफ कर दिए।

आज दिल्ली के 73 फीसद लोगों के बिजली के बिल जीरो आते हैं और पंजाब में 80 फीसद से ज्यादा लोगों के बिजली के बिल जीरो आया करेंगे- अरविंद केजरीवाल

आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने गुजरात के लोगों को से कहा कि मैंने बिजली के बिल को माफ करने के लिए बहुत अध्ययन किया। 70 से 80 फीसद लोगों के बिजली के बिल गलत आते हैं और यह एक स्कैंडल है। हजारों के बिल बनाकर भेज देंगे। आम आदमी अपना बिल ठीक कराने के लिए चक्कर पर चक्कर काटता है और फिर बिजली के बिल ठीक करने के लिए पैसे लिए जाते हैं। वहां पर सौदा होता है। 50 हजार रुपए का बिल भेज दिया। गरीब आदमी वहां जाता है, तो उससे बोला जाता है कि अगर 5 हजार रुपए दोगे तो तुम्हारा 50 हजार का बिल 25 हजार कर दूंगा। आज दिल्ली के 73 फीसद लोगों के बिजली के बिल जीरो आते हैं और 24 घंटे बिजली आती है और पंजाब में 80 फीसद से ज्यादा लोगों के बिजली के बिल जीरो आया करेंगे। पंजाब में अभी 24 घंटे बिजली नहीं है। पिछले 70 साल में इन्होंने जो बेड़ा गर्क किया है, उसको ठीक करने में अभी समय लगेगा, लेकिन मुझे उम्मीद है कि अगले दो-ढाई साल के अंदर पंजाब में भी पूरी व्यवस्था को ठीक करेंगे और वहां भी लोगों को 24 घंटे बिजली मिलेगी। साथ ही, किसानों को भी पर्याप्त बिजली मिलेगी।

दूसरी पार्टी वाले बिजली कंपनियों से डोनेशन लेते हैं, हमें कोई डोनेशन नहीं चाहिए, हमारा डोनेशन तो जनता है- अरविंद केजरीवाल

‘‘आप’’ के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने कहा कि 24 घंटे बिजली और फ्री बिजली एक जादू है। 24 घंटे बिजली और फ्री बिजली पूरी दुनिया में आज तक किसी ने नहीं किया। यह जादू सिर्फ मेरे पास है और किसी को करना नहीं आता है। ऊपर वाले ने केवल मेरे को यह विद्या दी है। हमारी नियत अच्छी है। हम ईमानदार लोग हैं, बस यही विद्या मारी है। हम बिजली कंपनियों से पैसे नहीं खाते हैं। हम बिजली कंपनियों को ठीक कर देते हैं। हम जनता के हक में काम करते हैं। दूसरी पार्टी वाले बिजली कंपनियों से डोनेशन लेते हैं, हमें कोई डोनेशन नहीं चाहिए। हमारा डोनेशन तो जनता है।

गुजरात में भी बिजली सस्ती हो सकती है, गुजरात में भी बिजली फ्री हो सकती है और 24 घंटे बिजली हो सकती है। सिर्फ एक ही शर्त है कि आपको राजनीति बदलनी पड़ेगी, आपको सत्ता बदलनी पड़ेगी, आपको ईमानदार पार्टी की सरकार लानी पड़ेगी। ये इतना चिल्लाते हैं कि केजरीवाल फ्री क्यों देता है? इनका एक बहुत बड़ा नेता कह रहा था कि गुजरात के लोगों को फ्री नहीं चाहिए। पहले तुम अपनी फ्री बिजली तो छोड़ो। तुमको तो फ्री मिल रही है। मंत्रियों को फ्री बिजली मिले तो कोई दिक्कत नहीं, लेकिन गुजरात के लोगों को फ्री बिजली मिले तो दिक्कत है। अगर फ्री बिजली मिल सकती है, तो मिलनी चाहिए। उनको डर लगता है कि अगर लोगों को फ्री में बिजली मिलने लग गई तो, इनको सरकार में लूटने के लिए पैसे नहीं बचेंगे। उनको पैसे लूटने हैं। मैं पूरे गुजरात के लोगों से कहना चाहता हूं कि गुजरात में भी फ्री बिजली मिल सकती है। रविवार को हम फिर मिलेंगे और मैं गुजरात की बिजली की समस्या का समाधान लेकर आउंगा। हम सब लोग मिलकर गुजरात का विकास करेंगे। गांधी और सरदार पटेल के सपनों का गुजरात मिलकर बनाएंगे।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

5 × five =