Homeअंतराष्ट्रीयगुजरात से दिल्ली आए सफाई कर्मचारी हर्ष सोलंकी ने अपने परिवार सहित...

गुजरात से दिल्ली आए सफाई कर्मचारी हर्ष सोलंकी ने अपने परिवार सहित सीएम अरविंद केजरीवाल के साथ किया लंच

  • रविवार को अहमदाबाद में सफाई कर्मचारियों के साथ संवाद के दौरान सीएम अरविंद केजरीवाल ने हर्ष सोलंकी को परिवार सहित अपने घर लंच का दिया था न्योता
  • अपने परिवार के साथ मुख्यमंत्री आवास पहुंचे सफाई कर्मचारी हर्ष सोलंकी का सीएम अरविंद केजरीवाल ने किया स्वागत
  • स्वागत और सीएम अरविंद केजरीवाल की आत्मीयता देख भावुक हुए हर्ष सोलंकी ने उनको भेंट की बाबा साहब अंबेडकर की तश्वीर
  • सफाई कर्मचारी हर्ष सोलंकी व उनके परिवार ने सरकारी स्कूल और अस्पताल का भी किया दौरा और कहा, ‘‘दिल्ली जैसे सरकारी स्कूल और अस्पताल गुजरात में भी होने चाहिए’’
  • गुजरात से आए हर्ष सोलंकी के परिवार का अपने घर पर आदर सत्कार करने का सौभाग्य प्राप्त हुआ, हम दोनों के परिवारों ने साथ बैठकर खाना खाया- अरविंद केजरीवाल
  • हमें राजनीति करनी आती नहीं है, हम जनता के लिए काम करते हैं, इसीलिए जनता हमें पसंद कर रही है- अरविंद केजरीवाल
  • जनता ने पहले दिल्ली में हमारी सरकार बनाई, फिर पंजाब में बनाई और अब गुजरात के लोग कह रहे हैं कि गुजरात में भी ‘‘आप’’ की सरकार बनने वाली है- अरविंद केजरीवाल
  • 75 साल के बाद हमें अरविंद केजरीवाल पहले ऐसे नेता मिले हैं, जिन्होने दलित समाज के लड़के को अपने घर खाने का न्योता दिया- हर्ष सोलंकी
  • मैंने कभी सोचा ही नहीं था कि मैं एक दिन मुख्यमंत्री के साथ बैठ कर खाना खाउंगा, अभी भी मुझे यकीन नहीं हो रहा है- हर्ष सोलंकी
  • गुजरात के सरकारी स्कूलों में सुविधाओं का बहुत अभाव है, दिल्ली जैसी सुविधाएं गुजरात के सरकारी स्कूलों में भी मिलनी चाहिए- हर्ष सोलंकी
  • अभी तक नेता वोट के लिए लोगों के घर जाते थे, लेकिन आज एक नेता ने दिल से एक परिवार को अपने घर आने का निमंत्रण दिया है, यह बहुत बड़ी बात है- राघव चड्ढा
  • कई सालों से जनता और जनप्रतिनिधियों के बीच दूरियां आ गई हैं, उन दूरियों को कम करने की यह एक कोशिश है- राघव चड्ढा

नई दिल्ली, 26 सितंबर, 2022 : मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का निमंत्रण पाकर सफाई कर्मचारी हर्ष सोलंकी अपने परिवार के साथ गुजरात से आज सुबह दिल्ली पहुंचे। इस दौरान सीएम अरविंद केजरीवाल ने गले लगाकर हर्ष सोलंकी का स्वागत किया। स्वागत और सीएम अरविंद केजरीवाल की आत्मीयता देख हर्ष सोलंकी और उनका परिवार भावुक हो गया। इस दौरान हर्ष सोलंकी ने मुख्यमंत्री को बाबा साहब की तश्वीर भी भेंट की और अपने परिवार सहित सीएम अरविंद केजरीवाल के साथ लंच किया। हर्ष सोलंकी व उनके परिवार ने दिल्ली सरकार के स्कूल, मोहल्ला क्लीनिक और अस्पताल का दौरा भी किया और कहा कि दिल्ली जैसी सुविधाओं से लैस सरकारी स्कूल और अस्पताल गुजरात में भी होने चाहिए।

इस अवसर पर सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि गुजरात से आए हर्ष सोलंकी के परिवार का अपने घर पर आदर सत्कार करने का सौभाग्य प्राप्त हुआ। हम दोनों के परिवारों ने साथ बैठकर खाना खाया। उन्होंने कहा कि हमें राजनीति करनी आती नहीं है। हम जनता के लिए काम करते हैं। इसीलिए जनता हमें पसंद कर रही है। जनता ने पहले दिल्ली में हमारी सरकार बनाई, फिर पंजाब में बनाई और अब गुजरात के लोग कह रहे हैं कि गुजरात में भी ‘‘आप’’ की सरकार बनने वाली है। वहीं, हर्ष सोलंकी ने अपने अनुभव साझा करते हुए कहा कि 75 साल के बाद हमें अरविंद केजरीवाल जी पहले ऐसे नेता मिले हैं, जिन्होने दलित समाज के एक लड़के को अपने घर खाने का न्योता दिया। मैंने कभी सोचा ही नहीं था कि मैं एक दिन मुख्यमंत्री के साथ बैठ कर खाना खाउंगा और अभी भी मुझे यकीन नहीं हो रहा है।

आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक एवं दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के निमंत्रण पर गुजरात से सफाई कर्मचारी हर्ष सोलंकी अपनी मां और बहन के साथ आज सुबह दिल्ली पहुंचे। ‘‘आप’’ गुजरात के प्रदेश संयोजक गोपाल इटालिया हर्ष सोलंकी और उनके परिवार को लेकर गुजरात से फ्लाइट के जरिए दिल्ली एयरपोर्ट पहुंचे। यहां राज्यसभा सदस्य और ‘‘आप’’ गुजरात के सह प्रभारी राघव चड्ढा ने उनका स्वागत किया और उनको पंजाब भवन लेकर पहुंचे। पंजाब भवन में कुछ देर आराम करने के उपरांत हर्ष सोलंकी अपने परिवार के साथ वेस्ट विनोद नगर स्थित दिल्ली सरकार के सरकारी स्कूल और मोहल्ला क्लीनिक देखने पहुंचे। इसके बाद हर्ष सोलंकी ने परिवार सहित मुख्यमंत्री आवास पर सीएम अरविंद केजरीवाल और उनके परिवार के साथ लंच किया। फिर वे सरकारी अस्पताल देखने पहुंचे और वहां से बाल्मीकि मंदिर जाकर भगवान बाल्मीकि का आशीर्वाद भी लिए।

हर्ष सोलंकी ने सीएम अरविंद केजरीवाल को भेंट की बाबा साहब की तश्वीर

सरकारी स्कूल और मोहल्ला क्लीनिक देखने के बाद हर्ष सोलंकी दोपहर करीब डेढ़ बजे सीएम अरविंद केजरीवाल के सरकारी आवास पर पहुंचे। इस दौरान सीएम अरविंद केजरीवाल और उनके पूरे परिवार ने गर्मजोशी के साथ उनका स्वागत किया। सीएम अरविंद केजरीवाल ने हर्ष सोलंकी को अपने गले लगा लिया। सीएम अरविंद केजरीवाल के स्वागत और उनकी आत्मीयता को देख हर्ष सोलंकी, उनकी मां और बहन बहुत भावुक हो गए। हर्ष सोलंकी ने सीएम अरविंद केजरीवाल को बाबा साहब डॉ. अंबेडकर की एक तश्वीर भेंट की। सीएम अरविंद केजरीवाल ने अपने परिवार के साथ काफी देर तक हर्ष सोलंकी और उनके परिवार से बात की। इसके बाद सीएम अरविंद केजरीवाल अपने परिवार के साथ हर्ष सोलंकी व उनके परिवार के साथ बैठ कर लंच किया। इस दौरान हर्ष सोलंकी ने आगामी दौरे पर गुजरात आने पर सीएम अरविंद केजरीवाल को अपने घर खाना खाने का न्योता भी दिया, जिसे उन्होंने स्वीकार किया।

जनता को स्कूल-अस्पताल और बिजली चाहिए, जनता को तोड़-फोड़ की राजनीति पसंद नहीं- अरविंद केजरीवाल

हर्ष सोलंकी के साथ लंच करने के उपरांत सीएम अरविंद केजरीवाल ने मीडिया से बातचीत में कहा कि आज गुजरात से हर्ष सोलंकी जी और उनकी बहन सुहानी व मां लता जी मेरे आमंत्रण पर मेरे घर हमारे साथ खाना खाने के लिए आए। मेरे पूरे परिवार के साथ बैठे और हमने साथ लंच किया। हमारे पूरे परिवार को बहुत अच्छा लगा। मैं हर्ष सोलंकी के पूरे परिवार का शुक्रिया यदा करता हूं कि वे इतनी दूर से हमारे साथ लंच करने के लिए आए। मीडिया के सवाल का जवाब देते हुए सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि हमें राजनीति करनी आती नहीं है। हम जनता के लिए काम करते हैं। जनता के लिए स्कूल, अस्पताल और सड़कें बनाते हैं। जनता के लिए बिजली फ्री करते हैं और पानी देते हैं। यही चीजें हैं, जो जनता को चाहिए। जनता भी गंदी राजनीति पसंद नहीं करती है। जनता को तोड़-फोड़ की राजनीति पसंद नहीं आती है। हम जनता की राजनीति करते हैं। इसीलिए जनता हमें पसंद कर रही है। जनता ने पहले दिल्ली में हमारी सरकार बनाई, फिर पंजाब में सरकार बनाई। हम लोगों को गुजरात में गए मुश्किल से 5-6 महीने ही हुए हैं और गुजरात में आज ऐसा माहौल हो गया है कि सब लोग कह रहे हैं कि गुजरात में भी अब आम आदमी पार्टी की सरकार बनने वाली है। हमारे साथ आम लोग बहुत तेजी से जुड़ रहे हैं। क्योंकि हम आम लोगों के मुद्दों की बात करते हैं। आम लोगों के बच्चों की शिक्षा और उनके रोजगार की बात करते हैं। उनको पक्का करने, उनकी तनख्वाह और बिजली फ्री करने की बात करते हैं।

वहीं, सीएम अरविंद केजरीवाल ने एक ट्वीट कर कहा, ‘‘गुजरात से आए हर्ष सोलंकी के परिवार का अपने घर पर आदर सत्कार करने का सौभाग्य प्राप्त हुआ। हम दोनों के परिवारों ने साथ बैठकर खाना खाया। ईश्वर इनके पूरे परिवार को सुख-समृद्धि और ख़ूब तरक्क़ी दें।’’

दिल्ली के सरकारी स्कूल देख कर बहुत अच्छा लगा, मुझे यकीन नहीं हो रहा कि सरकारी स्कूल भी इतने अच्छे हो सकते हैं- हर्ष सोलंकी

इस दौरान हर्ष सोलंकी ने कहा कि कल मैं अहमदाबाद में बाल्मीकि समाज के साथ हुए एक संवाद में अरविंद केजरीवाल जी से मिला था। उस संवाद में कई लोग अपनी दिक्कतें बता रहे हैं। उस दौरान मेरे मन में भी एक सवाल उठा कि मैं अरविंद केजरीवाल जी को अपने घर पर खाने पर निमंत्रित करूं और मैंने उनको निमंत्रित किया। उन्होंने मेरे निमंत्रण को स्वीकार तो किया, लेकिन कहा कि पहले मुझको उनकी एक बात माननी पड़ेगी। उन्होंने मुझसे कहा कि पहले आप मेरे घर दिल्ली आओ और उसके बाद मैं आपके घर आउंगा। आज सुबह की अहमदाबाद से फ्लाइट थी और दिल्ली आए। यहां आकर पहले हम सरकारी स्कूल देखने गए। दिल्ली सरकार ने स्कूल में बहुत अच्छी-अच्छी सुविधाएं दी हुई है। स्कूल में अच्छे शिक्षक हैं। मुझे सरकारी स्कूल देख कर बहुत अच्छा लगा। मुझे यकीन नहीं हो रहा कि सरकारी स्कूल भी इतने अच्छे हो सकते हैं। उसके बाद हम मोहल्ला क्लीनिक देखने गए। उसे देखकर भी बहुत अच्छा लगा। एक किलोमीटर के दायरे में मोहल्ला क्लीनिक है। अगर किसी को कोई दिक्कत है, तो कोई चिंता की बात नहीं है। यह चीज हर जगह होनी चाहिए। उसके बाद हम मुख्यमंत्री जी के घर आए और उनसे मिले। मुख्यमंत्री जी ने मुझे कुछ गिफ्ट किया और मैंने भी उनको बाबा साहब अंबेडकर की तश्वीर भेंट की। इसके बाद हम लंच किए। मुझे लगता है कि अगर अरविंद केजरीवाल जी जैसे नेता अपने देश में हों, तो अपना भारत बहुत आगे बढ़ेगा।

गुजरात के सरकारी स्कूलों में दिल्ली के सरकारी स्कूलों जैसी सुविधा नहीं है- हर्ष सोलंकी

हर्ष सोलंकी ने कहा कि पिछले 75 साल में किसी नेता ने अपने घर पर खाना खाने के लिए किसी को नहीं बुलाया होगा। 75 साल के बाद दलित समाज को अरविंद केजरीवाल जी पहले ऐसे नेता मिले हैं, जिन्होने दलित समाज के एक लड़के को बोला कि पहले तुम मेरे घर खाना खाने आओ और बाद में मैं तुम्हारे घर आउंगा। यह बहुत ही गौरव की बात है। यहां आकर हमें बहुत अच्छा लगा। यहां आकर हमने सरकारी स्कूल देखा। स्कूल में बच्चों को दी जा रही सुविधाओं को देखा। सरकारी अस्पताल भी देखा। यह सब देखकर बहुत अच्छा लगा। मैंने कभी सोचा ही नहीं था कि मैं एक दिन मुख्यमंत्री के साथ बैठ कर खाना खाउंगा। अभी भी मुझे यही लग रहा है कि मैं खुली आंख से सपना देख रहा हूं। मुझे यकीन ही नहीं हो रहा है। गुजरात और दिल्ली के सरकारी स्कूलों में बहुत फर्क है। जो सुविधाएं दिल्ली सरकार के स्कूलों में है, वो सुविधाएं गुजरात के सरकारी स्कूलों में नहीं है। मैं गुजरात जाकर अपने लोगों को दिल्ली के सरकारी स्कूलों के बताउंगा।

अभी तक नेता लोगों के घर वोट के लिए जाते थे, आज पहली बार एक नेता ने एक परिवार को अपने घर आने का निमंत्रण दिया है- राघव चड्ढा

इससे पहले, हर्ष और उनके परिवार को दिल्ली एयरपोर्ट पर रिसीव करने के उपरांत ‘‘आप’’ के वरिष्ठ नेता राघव चड्ढा ने कहा कि आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक एवं दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल जी के निमंत्रण पर हर्ष सोलंकी जी और उनका पूरा परिवार आज गुजरात से दिल्ली आया है। हम इनका बहुत-बहुत स्वागत करते हैं। मुख्यमंत्री निवास पर हर्ष सोलंकी और उनके परिवार का लंच का प्रोग्राम रखा गया है। अभी तक तो नेता लोगों के घर वोट बटोरने के लिए जाते थे। आज पहली बार एक नेता ने अपने दिल से एक परिवार को अपने घर आने का निमंत्रण दिया है, जो एक बहुत बड़ी बात है। हर्ष, उनके परिवार और हम सबके लिए यह बहुत ही भावनात्मक लम्हा है। हर्ष परिवार के साथ दिल्ली सरकार के स्कूल और अस्पताल भी देखेंगे। मैं इनके सफल यात्रा की कामना करता हूं। मीडिया के सवाल का जवाब देते हुए राघव चड्ढा ने कहा कि यह प्यार और मोहब्बत का मामला है। एक जनप्रतिनिधि और जनता के बीच एक प्यार का रिश्ता होना चाहिए। कई सालों से जनता और जनप्रतिनिधियों के बीच दूरियां आ गई हैं, उन दूरियों को कम करने की यह एक कोशिश है। मुझे लगता है कि हर्ष व उनके परिवार और हम सबके लिए एक यादगार लम्हा रहेगा।

सीएम अरविंद केजरीवाल का निमंत्रण हमारे लिए खुली आंख से सपना देखने जैसा- हर्ष सोलंकी

इस दौरान हर्ष सोलंकी ने अपने आवास पर खाने का निमंत्रण देने के लिए सीएम अरविंद केजरीवाल को धन्यवाद देते हुए कहा कि कभी मैने सोचा नहीं था कि किसी मुख्यमंत्री द्वारा उनको अपने घर पर लंच करने के लिए निमंत्रित किया जाएगा। हमारे लिए यह खुली आंख से सपना देखने जैसा है। मैं कभी इस तरह से किसी नेता से नहीं मिला हूं। आज पहली बार मैं सीएम अरविंद केजरीवाल जी से मिलने उनके घर जा रहा हूं। यहां हम यही उम्मीद लेकर आए हैं कि हमारे गुजरात में रहने वाले बाल्मीकि समाज परेशान हो रहा है, उनकी परेशानी दूर हो जाए। मुझे आम आदमी पार्टी से इसकी पूरी उम्मीद है। गुजरात में सबको पक्की नौकरी चाहिए और स्कूल व बिजली चाहिए।

दिल्ली के सरकारी स्कूल में सुविधाएं देख प्रभावित हुए हर्ष सोलंकी

पंजाब भवन में कुछ देर आराम करने के उपरांत हर्ष सोलंकी और उनका परिवार वेस्ट विनोद नगर स्थित सरकारी स्कूल देखने निकले। उनके साथ ‘‘आप’’ के वरिष्ठ नेता राघव चड्ढा और ‘‘आप’’ गुजरात के प्रदेश संयोजक गोपाल इटालिया भी मौजूद रहे। इस दौरान हर्ष ने पूरे स्कूल का भ्रषण किया और सुविधाएं देख काफी प्रभावित हुए। स्कूल में साफ-सफाई काफी अच्छी मिली। स्कूल में बने रिसोर्स रूम और विशेष बच्चों के लिए बने क्लास रूम को देखा। स्कूल की प्रिंसिपल ने हर्ष सोलंकी से साझा किया कि स्कूल में दो पाली में पढ़ाई होती है। विशेष बच्चों को पढ़ाने के लिए अलग से व्यवस्था की गई है। एक क्लास में 8 बच्चों को एक साथ पढ़ाया जाता है। स्कूल में ओपन जिम भी है। पूरे स्कूल में 141 रूम है। हर्ष और उनके परिवार ने स्कूल में बच्चों के लिए बने स्विमिंग पूल, लाइब्रेरी, लैब आदि सभी सुविधाओं को देखा।

इस दौरान हर्ष सोलंकी ने कहा कि मुझे ऐसा लग रहा है जैसे मैं खुली आंखों से सपना देख रहा हूं। दिल्ली के सरकारी स्कूल बहुत ही शानदार बने हैं। स्कूल में सारी सुविधाएं हैं। दिल्ली के सरकारी स्कूलों जैसी सुविधाएं गुजरात के सरकारी स्कूलों में भी मिलनी चाहिए। गुजरात में इतनी सुविधाओं से लैस कोई सरकारी स्कूल नहीं है। वहीं, हर्ष सोलंकी की बहन ने कहा कि हमें स्कूल देखकर बहुत अच्छा लगा। मैने 12वीं की पढ़ाई प्राइवेट स्कूल से पूरी की है। इस स्कूल में जितनी सुविधाएं हैं, उतनी तो गुजरात के अधिकतर प्राइवेट स्कूलों में भी नहीं है। स्कूल देखकर हमें बहुत अच्छा लगा। यह सरकारी स्कूल प्राइवेट स्कूल जैसा है।

हर्ष सोलंकी ने देखा मोहल्ला क्लीनिक, बीपी की जांच कराई

दिल्ली सरकार के स्कूल देखने के बाद मोहल्ला क्लीनिक देखने पहुंचे। क्लीनिक में तैनात डॉक्टर ने मोहल्ला क्लीनिक के बारे में बताया कि यह हमारे एरिया का एक छोटा सा क्लीनिक है, जहां हम सभी सुविधाएं मुहैया कराते हैं। अगर आपको खांसी है, तो आप आ सकते हैं। हम जांच कर दवा देंगे। अगर आप तीन-चार दिन में ठीक नहीं हुए तो हम कुछ जांच करते हैं। सारी जांच निःशुल्क होती है। मोहल्ला क्लीनिक में कोई भी आकर दिखा सकता है। किसी को मना नहीं किया जाता है। प्रत्येक मरीज का ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन किया जाता है। इससे पारदर्शिता बनी रहती है कि मरीज क्लीनिक तक आया है। चाहे वो दिल्ली के बाहर से ही क्यों न हो। इस दौरान हर्ष सोलंकी और गोपाल इटालिया ने अपना बीपी भी चेक कराया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

one × five =

Must Read