Tuesday, July 9, 2024
Homeअंतराष्ट्रीयजेल से बाहर होते सीएम केजरीवाल तो फोन देने के लिए आयोजित...

जेल से बाहर होते सीएम केजरीवाल तो फोन देने के लिए आयोजित होता बड़ा कार्यक्रम

–  दिल्ली के बच्चों को खुश रखने का कार्य आपका है मैं आंगनबाड़ी वर्कर्स का भाई हूँ

  • दिल्ली के आंगनबाडी केंद्रों को फिर से वितरित किए जा रहें हैं स्मार्ट फोन
  • किसी भी बड़े आप नेता ने नहीं लिया संज्ञान

नई दिल्ली, 16 जून 2024

दिल्ली सरकार में वर्ष 2019 से स्मार्ट हो चुकी दिल्ली की करीब 11 हजार आंगनबाडी केंद्रों को फिर से स्मार्ट फोन देने शुरू कर दिए हैं लेकिन इस बार दिल्ली सरकार की तरफ से कोई भी कार्यक्रम आयोजित नहीं किया गया है। जानकार बताते हैं कि यदि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल जेल से बाहर होते तो कोई न कोई बड़ा कार्यक्रम हो सकता था। जिसमें केजरीवाल सहित उनके खाश नेता कार्यक्रम में शिरकत करते और आंगनबाड़ी केंद्रों को दी जाने वाली सुविधाओं की बात करते। साथ ही यह भी कारण बताया जा रहा है कि दिल्ली में इस बार लोकसभा की सभी गठबंधन वाली सीटें हारने के बाद दिल्ली सरकार उबर नहीं पाई है।

वहीं, इन दिनों जो स्मार्ट फोन आंगनबाड़ी वर्कर्स को दिया जा रहा है, उसमें कई फीचर्स सामान्य नहीं है। नाम नहीं छापने की शर्त पर आंगनबाड़ी वर्कर्स ने बताया कि पुराना फोन लिया जा रहा है और नया फोन दिया जा रहा है लेकिन फोन के साथ दिया जाने वाला टैंपर्ड ग्लास टूटा हुआ दिया जा रहा है। साथ ही इस फोन में सामान्य फीचर्स उपलब्ध नहीं है। आंगनबाड़ी वर्कर्स के जानकार तो यह भी बता रहे हैं कि फोन सुरक्षित नहीं है क्योंकि पिछली बार दिए गए फोन में सेटिंग्स का पासवर्ड भी दिया गया था जबकि इस बार कोई पासवर्ड भी नहीं दिया गया है। यदि इसमें आंगनबाड़ी वर्कर्स अपनी कोई जानकारी देंगी तो सरकार के पास यह जानकारी होगी और गत दिनों खबरों में यह भी था कि आंगनबाड़ी का डेटा चोरी हो गया है और हेर्क्स के फोन आ रहे हैं और आंगनबाड़ी लाभार्थियों के खातों में भी सेंध के प्रयास किए गए।

वहीं, बता दें कि पहली बार जब दिल्ली सरकार ने आंगनबाड़ी वर्कर्स को स्मार्टफोन दिया था तो तब मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा कि अब प्ले स्कूल की तरह आंगनबाड़ी में भी सुविधाएं मिलेंगी। केजरीवाल सरकार ने बुधवार को इंदिरा गांधी स्टेडियम में 10 हजार आंगनबाड़ी वर्कर्स को स्मार्टफोन बांटे थें। कार्यक्रम में दिल्ली की सभी आंगनबाड़ी वर्कर्स ने हिस्सा लिया और उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के सामने सैलरी बढ़ाने से लेकर गर्मी की छुट्टियों की डिमांड भी रखी।

  • काम को पेपरलैस करने के मकसद से बांटे स्मार्ट फोन
    मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आंगनबाड़ी वर्कर्स से बात करते हुए कहा कि आंगनबाड़ी वर्कर्स को स्मार्ट फोन दिए जा रहे है। खूब काम करना और व्हाट्सएप भी इस्तेमाल करना। अब आंगनबाड़ी को विकसित किया जा रहा है। प्ले स्कूल की तरह आंगनबाड़ी में सुविधाएं मिलेंगी और गरीब के बच्चे भी आंगनबाड़ी में जा सकेंगे। लेकिन आंगनबाड़ी अगर धरने पर बैठेंगे तो कैसे काम होगा इसलिए पिछले साल आंगनबाड़ी वर्कर्स की सैलरी दोगुनी कर दी। आप सैलरी की चिंता मत रखना, आपको खुश रखने का कार्य मेरा है, लेकिन मेरी दिल्ली के बच्चों को खुश रखने का कार्य आपका है
    मैं आंगनबाड़ी वर्कर्स का भाई हूँ।
  • स्मार्टफोन्स बांटने में 11 करोड़ रुपए खर्च
    बता दें कि पहली बार जब फोन बांटे तो कहा था केजरीवाल सरकार द्वारा आंगनबाड़ी को हाईटेक किया जा रहा है साथ ही आंगनबाड़ी वर्कर्स के काम को पेपरलैस करने के मकसद से स्मार्ट फोन भी दिए गए हैं। दिल्ली में कुल 10 हजार 752 आंगनबाड़ी सेंटर हैं। स्मार्टफोन्स बांटने में लगभग 11 करोड़ रुपये का खर्च होने का अनुमान है।  
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments