Monday, April 22, 2024
Homeअंतराष्ट्रीयबेहतर होगा नगर निगम पर झूठे आरोप लगाना बंद करे दुर्गेश पाठक...

बेहतर होगा नगर निगम पर झूठे आरोप लगाना बंद करे दुर्गेश पाठक : प्रवीण शंकर

  • लंबित फंड जारी करें और वर्तमान देय पैसा भी पूरा दें दिल्ली सरकार

नई दिल्ली, 07 अगस्त, 2022 : दिल्ली भाजपा के प्रवक्ता प्रवीण शंकर कपूर ने कहा है कि जिस मासूमियत से आम आदमी पार्टी दुर्गेश पाठक दिल्ली नगर निगम पर झूठे आरोप लगाते हैं, उसे देख दिल्ली वाले हतप्रभ रह जाते हैं। रविवार को दुर्गेश पाठक ने विगत तीन नगर निगमों जो अब एक हो गईं हैं, पर आरोप लगाया कि वह एसक्रो खाते के लगभग रूपये 6700 करोड़ का भ्रष्टाचार कर गईं जो की पूरी तरह झूठ है।   

  प्रवक्ता कपूर ने कहा कि सच यह है कि गत 8 वर्ष में दिल्ली सरकार ने विगत तीनों नगर निगमों को आर्थिक रूप से पंगु बना दिया था। नगर निगम फंड आवंटन पर चौथे एवं पांचवे दिल्ली वित्त आयोग की सिफारिशों को स्वीकार करने के बाद भी दिल्ली सरकार ने लागू नहीं किया और 2021-22 में 2007 में तय फंड राशि दी जाती थी जबकि इन 15 वर्षों में नगर निगमों के वेतन खर्च एवं विकास खर्च में तीन से चार गुणा वृद्धि हो गई थी। इन्हीं आर्थिक परेशानियों के बीच तीनों नगर निगमों को समय समय पर निगम कर्मियों के वेतन देने एवं छोटे बड़े विकास कार्यों को चलाते रहने के लियें एसक्रो फंड में से भी ऋण लेना पड़ा।


         दिल्ली भाजपा प्रवक्ता ने कहा है कि तीनों नगर निगमों मे ना पहले कोई आर्थिक हेर फेर हुआ था ना आज एकीकृत नगर निगम में कोई गड़बड़ है जबकि दिल्ली सरकार आज भी उसी राजनीतिक द्वेष से काम कर रही है जैसे पहले करती थी। आज भी दिल्ली सरकार नगर निगम को देय फंड काट पीट कर और विलम्ब से दे रही है। दिल्ली सरकार को जुलाई के प्रारम्भ में नगर निगम को रूपये 2200 करोड़ बी.टी.ए., शहरी विकास, स्वास्थ एवं शिक्षा मद में फंड देना था पर वह भी काट कर केवल रूपए 1300 करोड़ दिये हैं। बेहतर होगा नगर निगम पर झूठे आरोप लगाने की जगह दुर्गेश पाठक अपनी दिल्ली सरकार से कहें कि वह निगम का लंबित फंड जारी करें और वर्तमान देय पैसा भी पूरा दें ताकि निगम एसक्रो खाते से लिया ऋण लौटा सके।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments