Homeअंतराष्ट्रीयनया यूपीएस एयरपोर्ट गेटवे और इंटरकॉन्टिनेंटल फ्लाईट भारत के लिए व्यापार के...

नया यूपीएस एयरपोर्ट गेटवे और इंटरकॉन्टिनेंटल फ्लाईट भारत के लिए व्यापार के और ज्यादा अवसरों का सृजन करेगी

  • यूपीएस भारत के लिए उड़ानों और एयरपोर्ट गेटवे की क्षमता को दोगुना कर रहा है
  • नई इंटरकॉन्टिनेंटल फ्लाईट से भारत, एशिया, यूरोप एवं शेष दुनिया में व्यापारिक संबंध मजबूत होंगे

नेशनल, 19 जुलाई 192022 – आज यूपीएस ने अपने ग्लोबल स्मार्ट लॉजिस्टिक्स नेटवर्क के विस्तार की घोषणा करते हुए केंपेगौड़ा इंटरनेशनल एयरपोर्ट, बैंगलुरू के साथ भारत में एक नई एयरपोर्ट गेटवे सुविधा शुरू की। इस नई विकसित क्षमता के साथ एक नई बोईंग 747-8 फ्लाईट भारत में हमारे ग्राहकों के बीच संपर्क बढ़ाकर एशिया, यूरोप, और अमेरिका में अंतर्राष्ट्रीय कारोबार के नए अवसर प्रदान करेगी। भारतीय उपमहाद्वीप के लिए यूपीएस के मैनेजिंग डायरेक्टर, दीपक श्रीवास्तव ने कहा कि हमारी रणनीति ग्राहकों पर केंद्रित है और हम ग्राहकों के लिए जरूरी चीजें उन्हें प्रदान करना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय के अनुसार, वित्तवर्ष 2022 में पहली बार, निर्यात 400 बिलियन डॉलर को पार कर गया, जिससे भारत की सप्लाई चेन में हमारी शक्ति और यहां के छोटे व्यवसायों की दृढ़ता प्रदर्शित होती है। इसी वृद्धि में मदद करने के लिए हम यहां पर आए हैं।

यह भारत में यूपीएस की दूसरी समर्पित एयरपोर्ट गेटवे सुविधा है। हमारी पहली सुविधा 2020 में दिल्ली एयरपोर्ट गेटवे में शुरू हुई थी। इससे प्रदर्शित होता है कि यूपीएस किस प्रकार छोटे व्यवसायों को वृद्धि करने, नए बाजारों में विस्तार करने और दुनिया में प्रतिस्पर्धा करने में समर्थ बना रहा है। बैंगलुरू की सुविधा इन-हाउस कस्टम्स क्लियरेंस प्रदान करेगी और दक्षिण भारत के लिए क्रॉस बॉर्डर ट्रेड लिंक के रूप में काम करेगी, जिससे ग्राहकों को दो घंटे तक का एक्सटेंडेड पिकअप टाईम मिलेगा, तथा क्रॉस बॉर्डर ट्रेड के लिए सप्लाई चेन मजबूत होगी। इस नई फ्लाईट और एयरपोर्ट गेटवे से पहले इस साल भारतीय बाजार के लिए एक नए लॉजिस्टिक्स ब्रांड, मूविन का लॉन्च किया गया, जो तेजी से विकसित होते हुए भारतीय बाजार की जरूरतों व मांग को पूरा करने के लिए यूपीएस और इंटरग्लोब एंटरप्राईज़ेस के बीच एक संयुक्त उपक्रम है।

बैंगलोर इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड के चीफ स्ट्रेट्जी एवं डेवलपमेंट ऑफिसर, सत्यकी रघुनाथ ने कहा कि हम यूपीएस के 747-8 एयरक्राफ्ट का स्वागत करने के लिए उत्साहित हैं, जो बैंगलुरू को पूरी दुनिया से जोड़ेगा। उन्होंने कहा कि हमारा एयरपोर्ट विश्वस्तरीय कार्गो हब बनने की ओर अग्रसर है, जहां यूपीएस जैसा अग्रणी ग्लोबल लॉजिस्टिक प्रदाता ई-कॉमर्स की बढ़ती जरूरतों को पूरा करेगा और दक्षिण भारत में व्यवसायों के लिए व्यापार को बढ़ावा देगा।’’

सप्ताह में पाँच बार बैंगलोर एयरपोर्ट से गुजरने वाली नई फ्लाईट और दिल्ली आने वाली छः साप्ताहिक फ्लाईट्स के साथ बैंगलुरू गेटवे की शुरुआत भारत में यूपीस के लिए फ्लाईट के चक्करों को दोगुना कर देगी। 747-8 यूपीएस की फ्लीट में सबसे बड़ा एयरक्राफ्ट है, जो 307,000 पाउंड की पेलोड के साथ ज्यादा क्षमता प्रदान करेगी और कम उड़ानों में ज्यादा सामान के साथ उत्सर्जन में कमी लेकर आएगी। अपने स्वामित्व के एयरक्राफ्ट का इस्तेमाल कर, यूपीएस जटिल सप्लाई चेन में व्यवसायों को मन का सुकून प्रदान करता है। यूपीएस एयर के नेटवर्क में लगभग 600 एयरक्राफ्ट दुनिया में 220 से ज्यादा क्षेत्रों और प्रांतों को सेवाएं देते हैं।

यह लगातार तीसरा साल है, जब यूपीएस ने अपने नेटवर्क में नई उड़ानों को शामिल किया है। इससे पहले यूपीएस ने 2020 में हनोई और हो ची मिन्ह सिटी से आवागमन और 2021 में ओसाका कंसाई से आवागमन, नई दिल्ली और कोलोन से आवागमन तथा नेपल्स/मिलन और कोलोन से आवागमन के लिए अपनी सेवाएं शुरू की थीं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

three × 1 =

Must Read