Homeअंतराष्ट्रीयप्रजापति महासभा ने 23 वें प्रजापति सामूहिक विवाह का किया आयोजन

प्रजापति महासभा ने 23 वें प्रजापति सामूहिक विवाह का किया आयोजन

  • सामूहिक विवाह समारोह में 15 जोड़ों का विवाह हुआ सम्पन्न
  • समारोह में दीदी अर्चिका ने सत्संग सभागार में वर वधू को आशीर्वाद दिया
  • संस्था के अध्यक्ष राम सिंह खंडोदिया ने अमेरिका से जारी किया अपना संदेश
  • बेटियों का विवाह प्रत्येक माता पिता और परिवार के लिए एक भावुक क्षण और दिल को छू लेने वाला मौका होता है

नई दिल्ली, 8 जुलाई 2022: प्रजापति महासभा दिल्ली प्रदेश ने शुक्रवार को आयोजित सामूहिक विवाह समारोह में 15 जोड़ों का विवाह किया। बक्करवाला स्थित आनंद धाम आश्रम में इस समारोह में दीदी अर्चिका ने सत्संग सभागार में वर वधू को आशीर्वाद दिया। अपने संदेश में उन्होंने कहा कि सभी कन्याएं सास ससुर को माता पिता का सर्वाेच्च सम्मान दें। मंच का संचालन मुख्य महासचिव प्रदीप चंद्र एवं मुख्य महासचिव राजेश कुमार वर्मा ने किया। मुख्य महासचिव राजेश ने उक्त जानकारी देते हुए बताया कि संस्था के अध्यक्ष राम सिंह खंडोदिया ने अमेरिका से अपने संदेश में कहा कि बेटियों का विवाह प्रत्येक माता पिता और परिवार के लिए एक भावुक क्षण और दिल को छू लेने वाला मौका होता है। अध्यक्ष ने सभी नव दंपतियों को सुखमय जीवन का आशीर्वाद देते हुए कहा कि जिस तरह विभिन्न रंग और खुशबू के फूल गुलदस्ता बनाते हैं उसी तरह इस आयोजन में प्रजापति समाज के लोग शामिल होते हैं जो प्रजापति समाज की पहचान और ताकत है।

समारोह की अध्यक्षता वरिष्ठ उपाध्यक्ष ओम प्रकाश वर्तमान में कार्यकारी अध्यक्ष ने की। समारोह का शुभारंभ प्रजापति महासभा दिल्ली प्रदेश के पूर्व अध्यक्षों की देखरेख में प्रजापति महासभा की कार्यकारिणी द्वारा दीप प्रज्वलन से हुआ। समारोह की शुरुआत में प्रजापति महासभा दिल्ली प्रदेश के मुख्य संरक्षक फूलसिंह रेवलिया ने सामूहिक विवाह के महत्व पर प्रकाश डाला। सभी बरातों का स्वागत राजपाल गोला, विवाह अध्यक्ष के नेतृत्व में गुलाब सिंह, नितिन सुपुत्र राधेलाल, शेर सिंह, ताराचंद ठेकेदार, ओम प्रकाश मंडल अध्यक्ष ओम कुमार मेहरम नगर द्वारा विधिवत रूप से किया गया।

सभी वधु का स्वागत महिला अध्यक्ष उषा डोरी लाल की देख रेख में, गीता प्रजापति, निर्मला देवी व इंद्रावती द्वारा किया गया। समारोह की रूपरेखा एवं कार्यरत कमेटियों का समन्वय महासभा के अध्यक्ष राम सिंह खंडोंदिया के निर्देशानुसार हमारे लेखा अधिकारी परमानंद ने किया। सभी मेहमानों का स्वागत कार्यकारी अध्यक्ष ओम प्रकाश, धर्मशाला अध्यक्ष स्कवा. लीडर उमेद सिंह, मुख्य जांचकर्ता चंद्र प्रकाश, वैवाहिक वाद विवाद समाधान समिति के अध्यक्ष अशोक प्रजापति, युवा अध्यक्ष प्रवेश बंशीवाल, महासचिव जगवीर प्रजापति, राम कुमार पूर्व शिक्षा अध्यक्ष मास्टर दयानंद, शिक्षा अध्यक्ष सतीश कुमार, धनराज, धर्मपाल सुखरालिया, डोरी लाल, मंडल अध्यक्ष नेतराम, मंडल अध्यक्ष मुकुंद सिंह, मंडल अध्यक्ष संजीव कुमार, हरीश कुमार, रमेश नज़फगढ़, कवर लाल मेहरम नगर, कवल सिंह बेगम पुर द्वारा किया गया। भोजन की व्यवस्था एवं भोजन वितरण का कार्यभार योगेश प्रजापति, ईश्वर, ताराचंद, ओम प्रकाश, संजीव एवं पवन प्रजापति की टीम ने बहुत ही बखूबी से निभाया।

प्रजापति महासभा दिल्ली प्रदेश द्वारा आयोजित सामूहिक विवाह समारोह में 15 जोड़ों का विवाह किया गया। इस समारोह में दीदी अर्चिका ने आनंद धाम सत्संग सभागार में वर वधू को आशीर्वाद दिया। अपने संदेश में उन्होंने कहा कि सभी कन्याएं सास ससुर को माता पिता का सर्वाेच्च सम्मान दें। मंच का संचालन मुख्य महासचिव प्रदीप चंद्र एवं मुख्य महासचिव राजेश कुमार वर्मा ने किया। इन्होंने यह जानकारी देते हुए बताया कि संस्था के अध्यक्ष राम सिंह खंडोदिया ने जो अभी अमेरिका में हैं, उन्होंने इस अवसर पर अपने संदेश में कहा कि बेटियों का विवाह प्रत्येक माता पिता और परिवार के लिए एक भावुक क्षण और दिल को छू लेने वाला मौका होता है। अध्यक्ष ने सभी नव दंपतियों को सुखमय जीवन का आशीर्वाद देते हुए कहा कि जिस तरह विभिन्न रंग और खुशबू के फूल गुलदस्ता बनाते हैं उसी तरह इस आयोजन में प्रजापति समाज के लोग शामिल होते हैं जो प्रजापति समाज की पहचान और ताकत है।

संस्था के धर्मशाला अध्यक्ष उमेद सिंह ने बताया संस्था द्वारा 15 कन्याओं का सामूहिक विवाह एक सराहनीय प्रयास हैं। उन्होंने कहा संस्था समय-समय पर कई प्रकार के अन्य सामाजिक कार्य दक्ष जयंती, प्रतिभा सम्मान समारोह, गरीब बच्चों को मुफ्त कोचिंग क्लास, गरीब लोगों के इलाज के लिये भी आर्थिक सहायता मुहैया करवाती है। संस्था के कार्यकारी अध्यक्ष ओमप्रकाश ने बताया कि संस्था के द्वारा पर्यावरण संरक्षण के लिए प्रत्येक वर वधू को तुलसी का एक पौधा भेंट किया जा रहा है ताकि उसे यादगार के रुप में घर के आस पास लगा सकें एवं पौधे के पल्लवन और संरक्षण के लिये भी प्रेरित किया।

मुख्य महासचिव राजेश कुमार वर्मा ने कहा कि मैं सौभाग्यशाली हूं कि इस अवसर पर बेटियों को आशीर्वाद देने का मौका मिला है पहले बेटी की शादी के लिए माता पिता को जमीन तक बेचनी पड़ जाती थी, अब बेटियों के विवाह की चिंता नहीं करनी पड़ती। उन्होंने बेटियों को आगे की पढ़ाई जारी रखने व्यसनों से दूर रहने, बुजुर्गों का सम्मान करने तथा छोटा परिवार सुखी परिवार का आदर्श स्थापित कर अपने जीवन को सुखमय बनाने का आह्वान किया।

  • जोड़ों ने कन्या भूर्ण हत्या नहीं करने की शपथ ली
  • आज इस आयोजन में विवाह करने वाले सभी नवविवाहित जोड़ों ने कन्या भूण हत्या नहीं करने, दहेज ना लेने और ना ही देने की एवम वृक्षारोपण करके वातावरण को स्वच्छ एवं शुद्ध बनाने की शपथ ली। वर वधू ने पारम्परिक रस्मों को पूरा किया औऱ एक दूसरे के गले में वरमाला डाली तथा आयोजन में उपस्थित बुजुर्गों से आशीर्वाद ग्रहण किया। विवाह समारोह बड़े ही शानदार तरीके से आयोजित किया गया और जोड़ों के सपनों को साकार करते हुए उनके लिए इसे जीवन भर का एक यादगार अनुभव बनाने के लिहाज से व्यापक इंतजाम किए गए थे। सबसे मनोरम पुष्प वर्षा का दृश्य देखते ही बनता था। हिंदू रीति की लगभग सभी परंपराओ का पालन किया गया। महिला समिति ने बहुत तन्मयता से इस पावन कार्य में सहयोग दिया। गीता, इंद्रावती, सुनीता,कविता, रामरति आदि का विशेष योगदान रहा। इस अवसर पर डॉ राजेश खंडोदिया के सहयोग से स्वास्थ्य शिविर का भी आयोजन हुआ। शिविर में रक्तदान, नेत्रदान ब ब्लड शुगर, बीपी व अन्य सभी प्रकार की जाँच की गई, जिसमें लोगों ने बढ़ चढ़ कर हिस्सा लिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

2 + fifteen =

Must Read