Homeताजा खबरेंशहीद कोरोना योद्धाओं के आश्रितों को दी जाए पार्कों आदि में दुकाने...

शहीद कोरोना योद्धाओं के आश्रितों को दी जाए पार्कों आदि में दुकाने : अभिषेक दत्त

  • दक्षिणी दिल्ली नगर निगम द्वारा मृतक कोरोना यौद्धाओं के आश्रितों और चतुर्थ श्रेणी के निगम कर्मचारियों को ई-फूडकार्ट बसध्ट्रकध्वेन के रेस्टोरेंट व पार्कों में दुकानों के लाईसेंस देने का काम दलगत राजनीति से उपर उठकर किया जाना चाहिए
  • निगम कर्मचारियों, दिल्ली पुलिस, दिल्ली सरकार, मीडिया कर्मी, स्वास्थ्य सेवाऐं एवं अन्य एजेंसियों के कर्मचारियों जिन्होंने ड्यूटीकरते अपनी जान गंवाई, उनके आश्रितों को आवंटित की जाए दुकानें

नई दिल्ली : दक्षिणी दिल्ली नगर निगम में कांग्रेस दल के नेता एवं प्रदेश कांग्रेस उपाध्यक्ष अभिषेक दत्त ने दक्षिणी दिल्ली नगर निगम द्वारा गैर अधिकारिक व्यवसाय के तहत खान-पान का सामान बेचने एवं बिठाकर खिलाने के लिए ई-फूडकार्ट, फूड ट्रक एवं बस इत्यादि नये डिजाईन के रेस्टोरेंट तथा पार्को में क्योस्क की दुकानों के स्थाई लाईसेंस देने में संबधी योजना को मृतक कोरोना योद्धाओं के आश्रितों एवं दक्षिणी निगम के चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारियों को आवंटित करने की मांग की।

प्रदेश कार्यालय में आयोजित संवाददाता सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए अभिषेक दत्त ने कहा कि दक्षिणी दिल्ली नगर निगम ने कोरोना काल में अपनी जान की परवाह न करने वाले निगम कर्मचारियों, दिल्ली पुलिस, दिल्ली सरकार, मीडिया कर्मी, स्वास्थ्य सेवाऐं एवं अन्य एजेंसियों के कर्मचारियों ने अपनी ड्यूटी को राष्ट्र को समर्पित करते हुए शहीद हो गए थे। इन सभी कोरोना यौद्धाओं के अश्रितों सहित दक्षिण दिल्ली नगर निगम के चुतर्थ श्रेणी के कर्मचारियों को दक्षिणी दिल्ली नगर निगम खान-पान का सामान बेचने एवं बिठाकर खिलाने के लिए ई-फूडकार्ट, फूड ट्रक एवं बस इत्यादि नये डिजाईन के रेस्टोरेंट के स्थाई लाईसेंस दिए जाऐ।

अभिषेक दत्त ने कहा कि इस संबध में निगम की साधारण सभा में उन्होंने निगम सचिव के समक्ष दो प्रस्ताव रखे। संवाददाता सम्मेलन में श्री अभिषेक दत्त के साथ निगम पार्षद दर्शना जाटव, शहीद सफाई कर्मचारियों स्व0 विनोद हरलाल के पुत्र सुमित, स्व0 श्याम के पुत्र अजय कुमार, स्वास्थ्य वर्कर यूनियन के सुनील यादव, विरेन्द्र छररिया और ओम प्रकाश पांचाल भी मौजूद थे ।अभिषेक दत्त ने कहा कि दक्षिणी दिल्ली नगर निगम द्वारा मृतक कोरोना यौद्धाओं के आश्रितों को ई-फूडकार्ट बसध्ट्रकध्वेन के रेस्टोरेंट के लाईसेंस देने का काम दलगत राजनीति से उपर उठकर किया जाना चाहिए। ताकि दिल्ली में कोविड महामारी के दौरान अपनी जान गंवाने वाले कोरोना यौद्धाओं के आश्रितों को लाईसेंस आवंटित करके उन्हें सच्ची श्रद्धाजंलि दी जा सके। उन्होंने यह भी प्रस्ताव दिया कि कोरोना यौद्धाओं को लाईसेंस आवंटित होने के पश्चात चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारियों को डीडीए की तर्ज पर फार्म भरवाऐं जाए और पारदर्शिता के साथ लक्की ड्रा के आधार पर दक्षिणी दिल्ली नगर निगम में ई-फूडकार्ट बसश् ट्रक, वेन के रेस्टोरेंट के लाईसेंस दिए जाऐं।

अभिषेक दत्त के कहा दक्षिणी दिल्ली नगर निगम के पार्कों में लाईसेंस प्राप्त व्यक्ति को कियोस्क, दुकाने खोलने के लिए दक्षिणी दिल्ली नगर निगम अथवा क्षेत्रीय निगम पार्षद से अधिकारिक तौर पर अनापत्ति प्रमाण पत्र लेना होगा अथवा पार्कों में दक्षिणी नगर निगम स्वयं भी कियोस्क परिचालित करेगा। उन्होंने कहा कि इन कियोस्क में डेयरी प्रोडक्ट, फल एवं सब्जियां, जूस बेचने की इजाजत होगी, जो तय समय सीमा में सुबह और शाम को खुलें रहेंगे। दत्त ने कहा कि कियोस्क एवं ई-फूडकार्ट बस, ट्रक, वेन के रेस्टोरेंट के लाईसेंस जाने में भाजपा शासित दिल्ली नगर निगम द्वारा किसी भी प्रकार का भ्रष्टाचार नही किया जाना चाहिए, यदि ऐसा होता है तो वास्तविक जरुरतमंद लोग कियोस्क एवं ई-फूडकार्ट बस, ट्रक, वेन के रेस्टोरेंट के लाईसेंस से वंचित रहे जाऐंगे और एक बार फिर भाजपा का भ्रष्टाचार गरीबों के लिए बनाई गई योजनाओं पर हावी होगा।

अभिषेक दत्त ने बताया कि उन्होंने दक्षिणी निगम की सभा में निगम सचिव के सम्मुख दक्षिणी दिल्ली नगर निगम द्वारा लगाई जाने वाली स्ट्रीट लाईटों के लिए मकान मालिकों से अनापत्ति प्रमाण प्रमाण लेने के संबध में प्रस्ताव रखा, ताकि जहां बिजली के पोलों के अभाव के कारण रात्रि में अंधेरे का फायदा उठाकर असामाजिक तत्वों द्वारा गंभीर वारदातों को अंजाम दिया जाता है, उनसे दिल्ली वासियों को राहत दिलाई जा सके। उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार पिक एंड चूज पॉलिसी के तहत मकानों पर लाईट लगाने के कारण लाईटों की समुचित व्यवस्था नहीं हो पा रही है। दक्षिणी नगर निगम के अन्तर्गत आने वाले वार्डों में जहां लाईट की आवश्यकता उन स्थानों को चिन्हित करके मकान मालिकों से अनापत्ति प्रमाण पत्र प्राप्त करके लाईट लगाने का प्रावधान किया जाएगा और मकानों पर लाईट की सुविधा मुहैया कराने के एवज में मकान मालिकों के बिजली के बिल की राशि का आंशिक भुगतान भी दक्षिणी निगम करेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

six + nine =

Must Read