Homeअंतराष्ट्रीयकांग्रेस के दवाब में दिल्ली सरकार ने डीजल पर वैट की दरों...

कांग्रेस के दवाब में दिल्ली सरकार ने डीजल पर वैट की दरों को कम किया : चौ0 अनिल कुमार

  • दिल्ली प्रदेश कांग्रेस के दवाब के कारण ही अरविन्द सरकार ने डीजल पर वैट की दरों को कम किया
  • कांग्रेस की लड़ाई तब तक जारी रहेगी जब तक दिल्ली सरकार पेट्रोल पर भी वैट और बिजली बिलों पर फिक्स चार्ज को खत्म नही कर देती

नई दिल्ली : दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष चौ0 अनिल कुमार ने 30 जुलाई कहा कि दिल्ली कांग्रेस ने धरने प्रदर्शन के बाद दवाब में आने के कारण ही अरविन्द सरकार ने दिल्ली में डीजल पर वैट की दरे कम की है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की लड़ाई तब तक जारी रहेगी जब तक अरविन्द सरकार पेट्रोल पर भी वैट को कम नही कर देती और बिजली बिलों पर फिक्स चार्ज पर छूट नही दे देती।

चौ0 अनिल कुमार ने कहा कि कोरोना महामारी लॉकडाउन में संकट से पीड़ित लोगों की दुदर्शा का फायदा अरविन्द सरकार ने चुपचाप पेट्रोल और डीजल पर वैट को बढ़ाकर उठाया था। लेकिन दिल्ली के जागरुक लोगों ने अरविन्द सरकार की साजिश को उजागर करने के लिए पेट्रोल और डीजल की कीमतों की गई वृद्धि के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किए। चौ0 अनिल कुमार ने केन्द्र की मोदी सरकार से भी पेट्रोल और डीजल पर एक्साईज ड्यूटी कम करने की मांग की। उन्होंने कहा कि केन्द्र और दिल्ली सरकार द्वारा टैक्सों में लगातार वृद्धि की जा रही है। अन्तर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चा तेल की कीमतों में भारी गिरावट के कारण यहां मंहगी दरो में पेट्रोल और डीजल की बिक्री से लोगों के उपर अतिरिक्त भार पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि तेल की कीमतों में भारी वृद्धि के कारण सभी आवश्यक वस्तुओं की कीमतों में भी वृद्धि होती है, जिससे लोगों को जीवन यापन में पेरशानी होती है।

चौ0 अनिल कुमार ने कहा कि कोरोना महामारी संकट के चलते जनता आर्थिक संकट झेल रही है। उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि अगर सरकार पेट्रोल और डीजल की कीमतों को कम करेगी तो दिल्ली की जनता को बहुत बड़ी राहत मिलेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

ten + 19 =

Must Read