Wednesday, July 10, 2024
Homeताजा खबरेंमंदिर के सामने ठेका खोलने के विरोध में भाजपा ने किया ...

मंदिर के सामने ठेका खोलने के विरोध में भाजपा ने किया विरोध प्रदर्शन

एक महीने से स्थानीय महिलाओं द्वारा ठेके को बंद करने को लेकर दिया जा रहा था धरना – केजरीवाल ने दिल्ली भर में ठेकों का जाल बिछाकर राजस्व को लूटने का काम किया – अपने वायदों से यू-टर्न लेना केजरीवाल की पुरानी आदत है – क़ानून को ताक पर रखकर केजरीवाल ने खोल दिया ‘मनीष मदिरा’ की दुकान :आदेश गुप्ता

नई दिल्ली, 30 सितम्बर 2022 : प्रदेश भाजपा अध्यक्ष आदेश गुप्ता के नेतृत्व में आज राजा गार्डन में दिल्ली भाजपा ने मंदिर के सामने शराब के ठेके खोलने के खिलाफ जोरदार विरोध प्रदर्शन किया गया। पिछले तीस दिनों से लगातार स्थानीय जनता खासकर महिलाएं निर्मला देवी, लक्ष्मी देवी और जसप्रीत कौर की उपस्थिति में मंदिर के सामने खोले गए ठेके का विरोध प्रदर्शन किया जा रहा है। लोग मंदिर के सामने मनीष की मदिरा नहीं चलेगी के लगातार नारे लगा रहे हैं। प्रदर्शन के उपरांत गुप्ता ने डीएम को ज्ञापन सौंपा और उन्हें यह ठेके जल्द से जल्द बंद करने की मांग की।  

आदेश गुप्ता ने विरोध प्रदर्शन को संबोधित करते हुए कहा कि स्वराज पुस्तक में केजरीवाल ने 8 साल पहले ही लिखा था कि उनकी सरकार आते ही कोई नया शराब का ठेका नहीं खोला जाएगा लेकिन केजरीवाल सरकार ने सत्ता में आते ही ना सिर्फ शराब के ठेके खोले बल्कि उसके अंदर भ्रष्टाचार कर दिल्ली के राजस्व को लूटने का काम किया। आज हुए विरोध प्रदर्शन में प्रदेश भाजपा उपाध्यक्ष राजीव बब्बर, अनुसूचित जाति मोर्चा अध्यक्ष भूपेन्द्र गोठवाल, जिला अध्यक्ष सचिन भसीन, भाजपा नेता श्याम शर्मा, रमेश खन्ना, सत्यनाराण डंग सहित हज़ारों की संख्या में भाजपा कार्यकर्ता मौजूद थे।

आदेश गुप्ता ने कहा कि मुख्यमंत्री केजरीवाल को अपनी बातों से यू-टर्न लेने की आदत है और यह शराब नीति उसका एक उदाहरण है केजरीवाल की नई शराब नीति में जो ठेके खोलने की पॉलिसी बनाई है यह भ्रष्टाचार और पैसो की उगाही का एक तरीका है। उन्होंने कहा कि एक्साइज नियम के अनुसार किसी भी धार्मिक स्थल के पास शराब का ठेका खोलना मना है, लेकिन दिल्ली सरकार कोई नियम कानून नहीं मानती। दिल्ली सरकार ने शराब के ठेकेदारों को फायदा पहुंचने के लिए उनका कमीशन 2 फीसदी से बढाकर 12 परसेंट कर दिया और शराब ठेकेदारों की ज्यादा पैसा कमाई हो इसके लिए ड्राई-डे की संख्या घटाकर 21 से 3 कर दिये।

आदेश गुप्ता ने कहा कि रामनवमी, होली, दीपावली, गुरु गोविंद सिंह जयंती, गुरु नानक जयंती जैसे त्यौहार पर शराबबंदी थी परन्तु ड्राई डे की संख्या घटा कर उन इन पर्वो पर शराब की बिक्री शुरू हो गई ताकि ज्यादा से ज्यादा शराब बिक सके और दिल्ली के अंदर शराब ठेकेदारों को फायदा पहुंचे। उन्होंने कहा की अरविंद केजरीवाल का शराब ठेका खोलकर दिल्ली का खजाने को लूटना ही असली उदेश्य है। दिल्ली के देवली में खुले ठेके के विरोध में जब महिलाओं ने प्रदर्शन किया, परंतु केजरीवाल के गुंडों ने बाउंसर बुलाकर उन महिलाओं के साथ बदसलूकी की और पूर्वी दिल्ली में ठेका बंद कराते समय उन्होंने एफआईआर दर्ज करा कर महिलाओं को जेल में बंद करवा दिया। पश्चिमी दिल्ली में भी उनकी यह कोशिश थी परंतु भारतीय जनता पार्टी ने इस कोशिश को नाकाम कर दिया।

आदेश गुप्ता ने कहा कि इस शराब नीति के विरोध में दिल्ली की जनता के साथ भारतीय जनता पार्टी कंधे से कंधा मिलाकर खड़ी है और यही कारण है कि आज पिछले तीस दिनों से चल रहे फिर चाहे विरोध डीएम के खिलाफ करना हो या फिर सीएम के खिलाफ। इसके लिए एलजी को ज्ञापन ही क्यों ना देना पड़े हम पीछे नहीं हटेंगे और दिल्ली सरकार की यह तानाशाही नहीं चलने देंगे। गुप्ता ने दिल्ली में शराब की दुकानों को बंद करवाने और एक सुरक्षित दिल्ली, सुरक्षित दिल्ली एवं नशा मुक्त दिल्ली बनाने का संकल्प के लिए सभी को बधाई दी और कहा कि हमारा संघर्ष बहुत जल्द रंग लाएगा और जल्द ही मंदिर के साथ जो मदिरा की दुकान है उसको बंद करवाएं।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments