Homeताजा खबरें भाजपा का घोषणापत्र महज "धोका पत्र" : काँग्रेस

 भाजपा का घोषणापत्र महज “धोका पत्र” : काँग्रेस

  • – BJP और केजरीवाल दलित और गरीब विरोधी – झुग्गी बस्ती मे रहने वालो से काँग्रेस की भाजपा के फॉर्म पर दस्तखत ना करने की अपील – घरों का मालिकाना हक चाहिए, किरायेदार बना कर अहसान नही – अलका लांबा
  • नई दिल्ली, 17 नवंबर 2022 : काँग्रेस की राष्ट्रीय प्रवक्ता एवं MCD चुनाव मे काँग्रेस की स्टार प्रचारक अलका लांबा ने आज दिल्ली काँग्रेस मुख्यालय मे प्रेसवार्ता को संबोधित किया। अल्का लांबा ने कहा कि कांग्रेस भवन में आये सभी पत्रकारों की हिम्मत की दाद देती हूं दाद इसलिए कि क्यूं के जनता के मुद्दों सवालों को जानने और छापने के लिए हिम्मत चाहिए और आपने ये हिम्मत जुटाई है। यहां से आपको करोड़ो रुपए के पैकेज नहीं मिलेंगे ना ही करोड़ो रुपए के विज्ञापन मिलेंगे। एक बात बहुत चल रही है सच जब तक अपने जूतों के फीते बांधता है झूठ पूरे शहर का चक्कर काट कर आ जाता है। हमारा कांग्रेस का घोषणा पत्र अभी छप रहा है  तैयार हो रहा है  हमारे घोषणा पत्र को लेकर जितना झूठ फैला सकते हैं फैला लें, वोटों की राजनीति के लिए भाजपा का झूठ शहर का चक्कर काट रहा है हमारा सच छप रहा है। भाजपा का घोषणापत्र सिर्फ धोका पत्र है।  भाजपा के वचन पत्र को दिखाते हुए अलका लांबा जी ने कहा कि चुनाव पूरे देश का नहीं है। चुनाव दिल्ली नगर निगम का है लेकिन भाजपा के धोका पत्र पर प्रधानमंत्री मोदी की तस्वीर है। 
  • अगर सिर्फ पिछले दस सालों की बात करें तो तीन नगर निगम में प्रति एक में हर साल एक नया मेयर आया कुल मिलाकर तीस मेयर आये। ये मेयर चेहरा नहीं है क्यूं के किसी भी चेहरे के नाम पर भाजपा वोट मांगेगी तो लोग उल्टा उन्हें दौड़ा देंगे। पिछले पंद्रह सालों की भाजपा सरकार निकम्मी नकारा बेइमान सरकार निकली। जो फ्लैट वचन पत्र पर दिखाए गये है वो DDA के नहीं बल्कि कांग्रेस ने 2008 में बनाये थे दस हजार फ्लैट तीन लाख झुग्गी झोपड़ी में रहने वालों के लिए केंद्र की कांग्रेस सरकार ने बनाये। वचन पत्र पर प्रधानमंत्री का चेहरा छाप कर वोट मांग रहे हैं। 2013 में इन फ्लैटों की चाबी देनी थी पर प्रधानमंत्री ने ऐसा नहीं किया। उन्होंने दिल्ली नगर निगम चुनावों के ठीक दो दिन पहले चाबी दी

ये वचन पत्र नहीं है ये “धोखा पत्र” है।

दिल्ली की लगभग 90 सीटें ऐसी हैं जो झुग्गी एवं श्रमिकों की है और हम उन्हें भाजपा के धोखे में नहीं आने देंगे। हम आपको बताना चाहते हैं कि सिर्फ दस हजार फ्लैट ही नहीं। शीला दीक्षित जी हमारे बीच नहीं हैं। शीला दीक्षित जी ने राजीव रत्न योजना के तहत 45000 के करीब फ्लैट गरीबों के लिए बनाए . मैं दिल्ली के मुख्यमंत्री से पूछना चाहूंगी की क्यों गरीबों का हक मारा जा रहा है?  सौ रूपए की पर्ची भर कर इन सभी ने अपने घर का सपना शीला दीक्षित जी के साथ देखा था और दो लाख पिचत्तर हजार लोगों ने ये आवेदन किया था। जब ये सभी फ्लैट बन कर तैयार है तो क्यूं नहीं बांटे जा रहे? 

अलका लांबा जी ने दिल्ली के तमाम छोटी बस्ती, झुग्गी मे रहने वाले गरीब निवासीओ से कहा की भाजपा के धोका पत्र पर पक्के घर के लिए एक फॉर्म भी छापा है। आप उस पर हरगिज दस्तखत ना करे। उस फॉर्म के जरिए भाजपा आपका वर्तमान आशियाना भी छीन लेगी और आपको दिल्ली मे बेसहारा कर देगी। अलका जी ने 2021 मे केंद्र सरकार और CM केजरीवाल के बीच हुए समझौते की प्रति दिखाते हुए सवाल किया की गरीबो, दलितो, मज़दूरों को उनके घर का मालिकाना हक देने की बजाय क्यो ये दोनो उन्हे महज किरायदार बनाकर रखना चाहते है? क्यो यह समझौता भाजपा और आप ने लोगो से छुपा रखा है? काँग्रेस ऐसे किसी भी प्रयास का पुरज़ोर विरोध करेगी और यह निर्णय कतई नही होने देगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

fifteen − 9 =

Must Read