Homeअंतराष्ट्रीयदिल्लीवासियों को प्रदूषण से बचाने के लिए तैयार दिल्ली सरकार, 15 सूत्रीय...

दिल्लीवासियों को प्रदूषण से बचाने के लिए तैयार दिल्ली सरकार, 15 सूत्रीय होगा विंटर एक्शन प्लान

प्रदूषण के खिलाफ विंटर एक्शन प्लान को लेकर पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने की बैठक – विंटर एक्शन प्लान को लेकर डीपीसीसी को जल्द टीमें गठित करने का निर्देश – धूल प्रदूषण, औद्योगिक प्रदूषण, ग्रीन वार रूम, ग्रीन ऐप, स्मॉग टावर, रियल टाइम एपोर्समेंट स्टडी पर कार्य करने का डीपीसीसी को निर्देश- गोपाल राय

नई दिल्ली, 26 सितंबर 2022 : दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने प्रदूषण के खिलाफ विंटर ऐक्शन प्लान को लेकर आज डीपीसीसी के इंजीनियरों के साथ दिल्ली सचिवालय में बैठक की। पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने बताया कि दिल्ली सरकार प्रदूषण के खिलाफ विंटर एक्शन प्लान की तैयारी शुरू कर दी है। इस वर्ष का विंटर एक्शन प्लान 15 फोकस बिंदुओं पर आधारित है। विंटर ऐक्शन प्लान को लेकर डीपीसीसी को जल्द से जल्द टीमें गठित करने का निर्देश दिया गया है। साथ ही धूल प्रदूषण, औद्योगिक प्रदूषण, वार रूम और ग्रीन ऐप, स्मॉग टावर, रियल टाइम एपोर्समेंट स्टडी पर कार्य करने का डीपीसीसी को निर्देश दिया गया है।

पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने डीपीसीसी के अधिकारियों को विंटर एक्शन प्लान को लेकर सभी संबंधित तैयारियों को जल्द से जल्द करने का निर्देश दिया। गोपाल राय ने धूल प्रदूषण, औद्योगिक प्रदूषण, ग्रीनवार रूम और ग्रीन ऐप, स्मॉग टावर, रियल टाइम एपोर्समेंट स्टडी जैसे मुख्य 5 बिंदु पर कार्य करने का डीपीसीसी को निर्देश दिया है। उन्होंने रियल टाईम एपोर्समेंट सेंटर को जल्द से जल्द बनाने का निर्देश दिया। साथ ही साथ स्मोग टावर सें संबंधित रिपोर्ट भी सौंपने के निर्देश दिए है। ग्रीनवार रूम और ग्रीन ऐप को उन्नत करने के लिए सभी जरूरी कदम उठाने के निर्देश दिए हैं।

गोपाल राय ने डीपीसीसी के अधिकारियों को निर्देश दिया कि वे यह सुनिश्चित करें की 500 वर्ग मीटर से ऊपर के निर्माण एवं विध्वंस प्रोजेक्ट साईट सीएंडडी पोर्टल पर पंजीकृत हों। इसके लिए विशेष् अभियान भी चलाया जाए। पर्यावरण मंत्री ने डीपीसीसी के अधिकारियों को आद्योगिक क्षेत्र में लगातार निरीक्षण करने का निर्देश दिया। साथ ही अवैध/अनाधिकृत उद्योगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि डीपीसीसी यह सुनिश्चित करे कि सभी पंजीकृत औद्योगिक इकाईयां पीएनजी द्वारा ही संचालित हों।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

6 − 4 =

Must Read