Thursday, July 11, 2024
Homeताजा खबरेंदिल्ली सरकार ने माध्यमिक कक्षाओं के लिए ऑनलाइन शिक्षण किया शुरू: सिसोदिया

दिल्ली सरकार ने माध्यमिक कक्षाओं के लिए ऑनलाइन शिक्षण किया शुरू: सिसोदिया

  • बच्चों के शिक्षण कार्य के लिए खान अकादमी के साथ किया करार

नई दिल्ली: दिल्ली सरकार ने अपने सरकारी स्कूलों के ग्यारहवीं कक्षा के छात्रों ( जो बारहवीं में जाने के लिए परिणामों का इंतजार कर रहे हैं ) के लिए 6 अप्रैल, 2020 से ऑनलाइन कक्षाएं शुरू कर दी। दिल्ली के उप मुख्यमंत्री व शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने मंगलवार को यह जानकारी देते हुए बताया कि दिल्ली सरकार ने विशेष रूप से गणित और विज्ञान में शैक्षिक संसाधनों की उपलब्धता और छात्रों तक इसकी पहुंच बढ़ाने के उद्देश्य से कक्षा 9 के छात्रों के लिए भी एक विस्तृत शिक्षण कार्यक्रम शुरू करने के लिए खान अकादमी के साथ बातचीत शुरू की है।

सोमवार से शुरू हुए कार्यक्रम में पहले ही दिन 9000 से अधिक छात्रों ने ऑनलाइन कक्षाओं के लिए अपना पंजीकरण कर लिया है। दिल्ली सरकार देशव्यापी लॉकडाउन के दौरान छात्रों को पढ़ाने के साथ पढ़ाई जारी रखने में मदद करने में नए तरीकों को डिजाइन करना चाहती है। दिल्ली सरकार अन्य कक्षाओं के छात्रों के लिए भी इस लॉकडाउन की अवधि के दौरान एक आसान और अच्छी तरह से बनाई गयी शिक्षण योजना तैयार करने के लिए खान अकादमी के साथ साझेदारी करने की योजना बना रही है। एक शैक्षिक गैर-लाभकारी संगठन, खान अकादमी, जो छात्रों के लिए इंटरैक्टिव स्टडी मेटेरियल बनाती है, अपने स्वयं के प्रशिक्षकों के साथ स्कूल के छात्रों के लिए स्व-शिक्षण के नए तरीके शुरू करने के लिए काम कर रही है। दिल्ली सरकार इसके शैक्षिक पोर्टल पर दी गयी सामग्री और संसाधनों का उपयोग कक्षा 12 के छात्रों के लिए पहले से ही चल रही ऑनलाइन कक्षाओं के साथ जोड़ने के बारे में सोच रही है। यह विचार छात्रों की पढ़ाई को अच्छी तरह से जारी रखने के लिए है, ताकि लॉकडाउन किसी भी तरह से पढ़ाई में बाधक नहीं बने।

दिल्ली सरकार द्वारा खान एकेडमी के साथ मिल कर टीचर्स ट्रेनिंग के लिए भी ऐसी ही एक योजना पर काम करकी संभावना है। दिल्ली सरकार की खान एकेडमी के साथ इस साझेदारी का उद्देश्य एक तरह का स्व-शिक्षण योजना शुरू करना है। छात्रों को स्वमूल्यांकन के साथ पढ़ाई के लिए ऑडियो व वीडियो आधारित सामग्री प्रदान की जाएगी। छात्रों के लिए महत्वपूर्ण विषयों पर विशेष शंका समाधान के सत्र भी आयोजित किए जाएंगे। खान अकेडमी की टीम लाइव चर्चाओं को सुविधाजनक बनाने और सभी तरह की प्रतिक्रिया सुनिश्चित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगी। दिल्ली सरकार खान अकादमी की मदद से शिक्षकों को प्रशिक्षित करने की भी योजना बना रही है ताकि शैक्षणिक सत्र शुरू होने से ठीक पहले छात्रों के लिए फॉलो अप सेशंस को प्रभावी ढंग से शुरू करने के लिए उन्हें तैयार किया जा सके।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments