Thursday, February 22, 2024
Homeअंतराष्ट्रीयदिल्ली कोविड माॅडल की चर्चा पूरी दुनिया में हो रही है: केजरीवाल

दिल्ली कोविड माॅडल की चर्चा पूरी दुनिया में हो रही है: केजरीवाल

  • लोगों की मेहनत, सूझबूझ और सावधानी की वजह से पिछले कुछ हफ्तों से कोरोना की स्थिति कुछ सुधार हुआ है
  • दिल्ली में रिकवरी दर 88 प्रतिशत है, अब केवल 9 प्रतिशत लोग बीमार हैं
  • दिल्ली में कोरोना के केस में लगातार गिरावट आ रही है
  • दिल्ली में 100 लोग बीमार हुए हैं, तो उसमें से वर्तमान में सिर्फ 9 लोग ही अभी बीमार हैं
  • 88 लोग ठीक हो चुके हैं, जबकि 2 से 3 प्रतिशत लोगों की मौत हुई है

नई दिल्ली : मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली के दो करोड़ लोगों की मेहनत, सूझबूझ और सावधानी की वजह से पिछले कुछ हफ्तों से कोरोना की स्थिति कुछ सुधार हुआ है। आज दिल्ली माॅडल की चर्चा पूरे देश और दुनिया में हो रही है कि दिल्ली के लोगों ने मिल कर किस तरह से कोरोना की स्थिति को नियंत्रित किया है। एक तरफ, जहां देश और दुनिया भर में कोरोना के केस लगातार बढ़ते जा रहे हैं। वहीं, दिल्ली में कोरोना के केस में लगातार गिरावट आ रही है।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली का रिकवरी रेट आज 88 प्रतिशत पहुंच गया है। अगर 100 लोग बीमार हुए हैं, तो उसमें से 88 लोग ठीक हुए हैं। अब केवल 9 प्रतिशत लोग ही बीमार बचे हैं। अगर दिल्ली में 100 लोग बीमार हुए हैं, तो उसमें से वर्तमान में सिर्फ 9 लोग ही अभी बीमार हैं और 88 लोग ठीक हो चुके हैं, जबकि 2 से 3 प्रतिशत लोगों की मौत हुई है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि सबसे बड़ी बात यह है कि दिल्ली में कोरोना से मरने वालों की संख्या में भारी गिरावट आई है। मसलन, कल केवल 21 लोगों की मौत हुई, जबकि जून के महीने में प्रतिदिन 100 से अधिक लोगों की मौत हो रही थी, लेकिन अब 20 से 25 प्रतिदिन मौत हो रही है। पहले 100 लोगों का टेस्ट करते थे, तो 35 लोग कोरोना के निकलते थे, लेकिन अब 100 लोगों का टेस्ट करते हैं, तो केवल 5 लोग कोरोना से बीमार मिलते है। इस तरह पाॅजिविटी औसत में भी काफी कमी आ गई है।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि इस समय दिल्ली के कोविड अस्पतालों में 15500 बेड का इंतजाम हैं, जिसमें से केवल 2800 मरीज अस्पतालों में हैं। अभी भी 12500 बेड खाली हैं। जून के महीने में पूरे देश में दिल्ली दूसरे नंबर पर थी, जहां सबसे अधिक कोरोना था। लेकिन आज आपकी दिल्ली 10वें नंबर पर पहुंच गई थी। जून के महीने में जब स्थिति खराब हो गई थी। तब हम सब लोगों ने हार नहीं मानी। बैठक कर उस पर योजना बनाई। विशेषज्ञों से बात की और सभी लोगों का सहयोग लिया। इसी वजह से दिल्ली हालात सुधरे। दिल्ली के सभी लोगों ने मिल कर हालात को सुधारा है। लेकिन मेरी पूरे दिल्ली वासियों से अपील है कि अभी भी सावधानी बरतनी आवश्यक है। कभी लापरवाही नहीं बरतनी है। हमेशा मास्क पहन कर रखना है। कोरोना कब बढ़ जाए, इसका कुछ पता नहीं है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments