Homeताजा खबरेंपौष्टिक भोजन प्रदान करने के लिए DPCC अध्यक्ष चौधरी अनिल कुमार...

पौष्टिक भोजन प्रदान करने के लिए DPCC अध्यक्ष चौधरी अनिल कुमार ने “कांग्रेस की रसोई” का किया उद्घाटन

  • कांग्रेस कार्यालय, राउज ऐवेन्यु क्षेत्र में गरीब लोगों को भोजन किया वितरित
  • भाजपा व आप पार्टी के मुख्यालय होने के वाबजूद गरीब लोगों को भोजन नहीं कराया जा रहा
  • पूरी दिल्ली में 106 “कांग्रेस की रसोई” चल रही है
  • कांग्रेस का रोजाना 50 हजार से अधिक लोगों को भोजन उपलब्ध कराने का दावा

नई दिल्ली : दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष चौधरी अनिल कुमार ने गुरूवार को डीपीसीसी कार्यालय, राजीव भवन, डीडीयू मार्ग में एक “कांग्रेस की रासोई” का उद्घाटन किया। इस रसोई का उद्घाटन इस क्षेत्र के उन गरीब लोगों को पौष्टिक भोजन प्रदान करने के लिए है, जो कोरोना के चलते लॉकडाउन के कारण गंभीर  परिस्थितियों से गुजर रहे हैं। अध्यक्ष चौधरी अनिल कुमार ने कहा कि हालांकि राउज एवेन्यू क्षेत्र में कुछ प्रमुख राजनीतिक दलों के कार्यालय हैं, किसी भी पार्टी ने इस क्षेत्र के गरीब लोगों को पौष्टिक भोजन देने की कोशिश तक भी नहीं की है, जिनमें कुछ जे.जे क्लस्टर्स भी हैं। उन्होंने कहा कि दिल्ली कांग्रेस ने राजीव भवन में इस क्षेत्र के हजारों गरीबों और जरूरतमंद लोगों को पौष्टिक भोजन प्रदान करने के लिए एक रसोई खोलने का फैसला किया है, क्योंकि कांग्रेस ने हमेशा गरीबों और उपेक्षित वर्ग के लोगों की जरूरतों को प्राथमिकता दी है। चैधरी  अनिल कुमार ने कहा कि दिल्ली कांग्रेस राजीव भवन से पके हुए भोजन की आपूर्ति शुरू करने से पहले, लॉकडाउन के बाद से अनाज और दालों का भी वितरण कर रही है। इस अवसर पर दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के उपाध्यक्ष मुदित अग्रवाल भी उपस्थित थे।

 चौधरी अनिल कुमार ने कहा कि कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने सोशल डिस्टेंसिंग, थर्मल स्कैनिंग जैसे लॉकडाउन नियमों का पालन किया और गरीब लोगों को भोजन वितरित करते समय मास्क और हैंड सैनिटाइजर वितरित किए। चैधरी  अनिल कुमार ने लोगों को हैंड सैनिटाइजर और मास्क पहनने के महत्व के साथ-साथ यह भी बताया कि ये सब चीजे कैसे इस्तेमाल की जाती है।  

चौधरी अनिल कुमार ने कहा कि राजीव भवन में “कांग्रेस की रसोई” पूरी दिल्ली में 106 “कांग्रेस की रसोई” दिल्ली के गरीबों को पौष्टिक भोजन प्रदान करने के लिए होगी, उन्होंने कहा कि ये “कांग्रेस की रासोई”, जो दिल्ली सरकार द्वारा चलाऐ जा रहे मुफ्त भोजन योजना है, उसके अलावा होगी।  उन्होंने कहा कि राजधानी में कोरोना लॉकडाउन के शुरू होने के बाद से कांग्रेस रोजाना 50 हजार से अधिक लोगों को भोजन उपलब्ध करा रही है, और कांग्रेस के कार्यालय राजीव भवन में “कांग्रेस की रासोई” ओर अधिक गरीब लोगों को पौष्टिक भोजन प्रदान करेगी।

 चौधरी अनिल कुमार ने कहा कि कांग्रेस अध्यक्षा सोनिया गांधी के निर्देश पर सोनिया गाँधी, राहुल गाँधी और दिल्ली कांग्रेस के कोरोना वारियर्स ने दिल्ली के गरीब लोगों को अपनी खुद की जान की परवाह न करते हुऐ गरीब लोगों को पौष्टिक भोजन उपलब्ध कराया है, क्योंकि गरीबों की मदद के लिए कांग्रेस के नेता और पैदल सैनिक हमेशा तैयार रहते हैं। उन्होंने दिल्ली में केजरीवाल सरकार और नगर निगम में भाजपा की सरकार पर आरोप लगाया कि इन दोनों ने तो गरीब लोगों की सुध तक नहीं ली है।  चौधरी अनिल कुमार ने कहा कि हालांकि दिल्ली में केजरीवाल सरकार गरीबों को खिलाने के लिए करोड़ों रुपये खर्च कर रही है, लेकिन मुफ्त भोजन योजना समाज के गरीब और उपेक्षित वर्ग तक नहीं पहुंच रहा है। उन्होंने आरोप लगाया कि दिल्ली सरकार द्वारा प्रदान किया जा रहा भोजन घटिया और बेकार किस्म का है, और लोग अपनी लाकडाउन की बाध्यता के कारण अस्वाभाविक परिस्थितियों में  तैयार किए गए इस बेकार भोजन को खाने के लिए मजबूर हैं।
 चौधरी अनिल कुमार ने कहा कि केजरीवाल सरकार की मुफ्त भोजन वितरण योजना में एक बड़ा घोटाला किया जा रहा है, और सच्चाई सामने लाने के लिए इसकी जांच की जानी चाहिए। उन्होंने मांग की कि केजरीवाल सरकार यह बताए कि जरूरतमंदों को भोजन उपलब्ध कराने के लिए प्रति व्यक्ति कितना पैसा खर्च किया जा रहा है, जो दिल्ली में सरकार की मुफ्त खाद्य आपूर्ति के भ्रष्टाचार को उजागर करेगा।

 चौधरी अनिल कुमार ने कहा कि कांग्रेस, इस कोविड -19 लॉकडाउन संकट काल के दौरान गरीब लोगों की मदद के लिए राजनीति से ऊपर उठ कर लोगों की मदद के लिए सामने आई है, क्योंकि कांग्रेस का एकमात्र उद्देश्य दिल्ली के हर नुक्कड़ के भूखे, गरीबों तथा असहाय लोगों तक पहुंचना है, जिन्हें स्थानीय सरकारों का कोई समर्थन नहीं मिल रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

five × two =

Must Read