Homeताजा खबरेंपेट्रोल-डीजल के दामों में बेतहाशा वृद्धि से टूटेगी हर वर्ग की कमर:...

पेट्रोल-डीजल के दामों में बेतहाशा वृद्धि से टूटेगी हर वर्ग की कमर: भाजपा

  • दिल्ली सरकार ने सभी के साथ किया है धोखा
  • ऐसी बेतहाशा वृद्धि दिल्ली के लोगों के ऊपर वज्रपात है
  • इससे कई अति आवश्यक वस्तुओं का मूल्य भी बढ़ेगा
  • दिल्ली के लोगों की स्वास्थ्य और आर्थिक स्थिति को ताक पर रखा
  • केजरीवाल सरकार आम आदमी पार्टी के खजाने को दुरुस्त करने में लगी है
  • किसान, निम्न वर्ग, मध्यम वर्ग व ट्रांसपोर्टर्स पर संकट में भी पड़ेगी दोहरी मार

नई दिल्ली: कोरोना वायरस के कारण उत्पन्न हुए इस संकट के समय में भी आज से केजरीवाल सरकार ने दिल्ली में पेट्रोल-डीजल पर वैट बढ़ा दिया है। दिल्ली सरकार ने पेट्रोल पर वैट को 27 प्रतिशत से बढ़ाकर 30 प्रतिशत कर दिया है तो वहीं डीजल पर वैट को 16.75 प्रतिशत से बढ़ाकर 30 प्रतिशत कर दिया है जिसके कारण पेट्रोल के दाम 1.67 रुपये और डीजल के दाम 7.10 रुपये प्रति लीटर बढ़ गए हैं। दिल्ली के प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी, दिल्ली विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष रामवीर सिंह बिधूड़ी व सांसद प्रवेश साहिब सिंह ने दिल्ली सरकार के इस फैसले को संकट के समय में अनावश्यक बताया है।

दिल्ली भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने कहा कि संकट के समय में भी दिल्ली के मुख्यमंत्री की मंशा साफ नहीं हो रही है कि वह क्या चाहते हैं, वह दिल्ली के लोगों को बचाना चाहते हैं या उन्हें और संकट में डालना चाहते हैं। पेट्रोल-डीजल के दामों में ऐसी बेतहाशा वृद्धि दिल्ली के लोगों के ऊपर वज्रपात है। इससे कई अति आवश्यक वस्तुओं का मूल्य भी बढ़ेगा। ये दिल्ली के साथ धोखा है। अभी जबकि दिल्ली के लोगों के कारोबार, काम बंद पड़े हैं ऐसे में पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ाकर दिल्ली सरकार सभी वर्ग के लोगों की मुश्किलें और बढ़ा रही है। मेरा दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से आग्रह है कि पेट्रोल-डीजल के दामों को बढ़ाकर दिल्ली के लोगों को आर्थिक संकट में न डालें और इस फैसले को तत्काल प्रभाव से वापस लें।

नेता प्रतिपक्ष रामवीर सिंह बिधूड़ी ने कहा कि दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने अपने पांच साल के शासनकाल में पेट्रोल पर वैट 20 फीसद से 30 फीसद (डेढ़ गुना) और डीजल पर 12.5 फीसद से 30 फीसद (करीब ढाई गुना) बढ़ा दिया। केजरीवाल सरकार के इस फैसले के कारण कोरोना संकट के समय में किसान, निम्न वर्ग, मध्यम वर्ग व ट्रांसपोर्टरों को आर्थिक संकट के दोहरे मार को भी झेलना पड़ेगा। दिल्ली सरकार से मेरा अनुरोध है कि इस समय में ऐसे अनावश्यक कदम ना उठाए जिससे कि दिल्ली के लोगों को कोरोना महामारी से लड़ने में और मुश्किलें आएं।

सांसद प्रवेश साहिब सिंह ने कहा कि दिल्ली विधानसभा चुनाव के समय आम आदमी पार्टी की ओर से जनता को गुमराह करने के लिए पूरी दिल्ली में सुविधाएं मुफ्त देने का प्रचार किया जा रहा था लेकिन आज से पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ाकर दोगुना टैक्स वसूले जाएंगे। आज जहां एक और दिल्ली के लोग कोरोना वायरस महामारी के संकट से खुद को बचाने के लिए जूझ रहे हैं वहीं दूसरी ओर दिल्ली के लोगों की स्वास्थ्य और आर्थिक स्थिति को ताक पर रखते हुए केजरीवाल सरकार आम आदमी पार्टी के खजाने को दुरुस्त करने में लगी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

17 − eight =

Must Read