Monday, May 13, 2024
Homeअंतराष्ट्रीयजी-20 शिखर सम्मेलन हमारे शहर और हमारे देश के लिए एक महत्वपूर्ण...

जी-20 शिखर सम्मेलन हमारे शहर और हमारे देश के लिए एक महत्वपूर्ण अवसर है : निगमायुक्त

  • जी-20 शिखर सम्मेलन : दिल्ली नगर निगम ने दिल्ली की स्वच्छता और सौंदर्यीकरण का किया नेतृत्व
  • जी-20 शिखर सम्मेलन के मद्देनजर दिल्ली नगर निगम शहर की स्वच्छता को और सुदृढ करने के लिए पूरी ताकत से चौबीसों घंटे काम कर रहा है।
  • जी-20 शिखर सम्मेलन को यादगार और सफल बनाने के लिए एमसीडी कोई कसर नहीं छोड़ रही है

नई दिल्ली, 5 सितंबर 2023 : दिल्ली नगर निगम के आयुक्त ज्ञानेश भारती ने आज कहा कि जी-20 शिखर सम्मेलन हमारे शहर और हमारे देश के लिए एक महत्वपूर्ण अवसर है। एमसीडी यह सुनिश्चित करने के लिए पूरी तरह से प्रतिबद्ध है कि दिल्ली साफ व सुंदर दिखे। हमारे अंतरराष्ट्रीय मेहमानों के साथ-साथ सभी निवासियों के लिए हम इस आयोजन को यादगार और सफल बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं। जी-20 शिखर सम्मेलन के मद्देनज़र मेजबान शहर में एक प्रमुख हितधारक के रूप में दिल्ली नगर निगम सम्मेलन की सफलता सुनिश्चित करने और इस तरह की महत्वपूर्ण सभा की मेजबानी के लिए शहर की प्रतिबद्धता को प्रदर्शित करने के लिए कई नई पहल की हैं। निगम प्रशासन ने बताया कि जी-20 सम्मेलन के दौरान बुनियादी ढांचे, सार्वजनिक सेवाओं और शहर की समग्र सुंदरता को बढ़ाने के लिए निगम विभिन्न पहलुओं पर अथक प्रयास कर रहा है। जी-20 शिखर सम्मेलन के लिए एमसीडी की व्यापक तैयारियों में स्वच्छता बनाए रखने, सौंदर्यीकरण और निर्दिष्ट मार्गों से अतिक्रमण हटाने पर केंद्रित प्रयास शामिल है।

निगम प्रशासन ने बताया कि स्वच्छता और सौंदर्यीकरण के लिए एमसीडी की पहल इस प्रकार हैं। दिल्ली नगर निगम जी-20 शिखर सम्मेलन के प्रतिभागियों और शहर के सभी निवासियों और आगंतुकों के लिए एक स्वच्छ, सुरक्षित और स्वागत योग्य वातावरण प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध है। ये सक्रिय उपाय दिल्ली को इस प्रतिष्ठित अंतरराष्ट्रीय आयोजन के लिए स्वच्छ व सुंदर मेजबान बनाने के प्रति हमारे समर्पण का प्रमाण हैं। एमसीडी इस महत्वपूर्ण अवधि के दौरान स्वच्छता और व्यवस्था बनाए रखने में सभी नागरिकों के सहयोग की अपिल करती है।

  1. पूरे जी-20 शिखर सम्मेलन क्षेत्र में सफाई/कचरा संग्रहण/मलबा (सी एंड डी), संपत्तियों के विरूपण, पेड़ों की छंटाई के लिए पूरे क्षेत्र को छोटे हिस्सों में विभाजित किया गया है और नियमित रूप से सफाई के लिए टीमों को तैनात किया गया है। प्रगति मैदान से सटी सड़क पर पर्यावरण प्रबंधन सेवाए/ उद्यान विभाग के 250 कर्मियों को तैनात किया गया है।
  2. प्रगति मैदान/भारत मंडपम के पास नालेः पिछले 6 महीनों में मथुरा रोड से रिंग रोड तक यमुना नदी तक के नालों से बड़े पैमाने पर गाद निकाली गई है, जिससे प्रगति मैदान से सटे पूरे क्षेत्र का गंदा पानी निकल आसानी से निकल सके। गेट नंबर 4 और 5 के सामने भैरों मार्ग पर 240 मीटर की दूरी को पत्थर की पिचिंग द्वारा सुंदर बनाया गया था और आसपास के क्षेत्र को घास/हरियाली, वृक्षारोपण द्वारा सुंदर बनाया गया है। इसके साथ ही सेल्फी प्वाइंट भी बनाया गया है।  किसी भी प्रकार के जल जभराव से बचने के लिए तिलक ब्रिज के पास मथुरा रोड से रिंग रोड (डब्ल्यूएचओ बिल्डिंग के सामने) से गुजरने वाले नाले और प्रगति मैदान मेट्रो स्टेशन के पास मथुरा रोड से रिंग रोड (डीटीसी मुख्यालय के सामने) से गुजरने वाले नाले को कई बार साफ/गाद निकाला गया है। भैरों मार्ग पर राष्ट्रीय विज्ञान संग्रहालय से सटे परित्यक्त नाले के एक हिस्से को अपशिष्ट उत्पादों से कला/भित्तिचित्र कार्य के साथ एक सुंदर परिदृश्य उद्यान में विकसित किया गया है।
  1. सौंदर्यीकरणः एमसीडी ने कबाड़ से बनी मूर्तियां स्थापित कर दिल्ली के सौंदर्यीकरण में चार चांद लगाने का कार्य किया हैं। जिसके अंतर्गत अपशिष्ट से कला की थीम पर आधारित, दिल्ली के नागरिक हवाई अड्डे के पास महिपालपुर चौराहे पर संगीत समूह (संगीत मंडली) व नृत्य मुद्राएं और भैरों मार्ग पर राष्ट्रीय विज्ञान संग्रहालय के पास स्वदेशी संगीत वाद्ययंत्रों की विविधता और समृद्धि प्रदर्शित करने वाली मूर्तियां स्थापित की हैं। नागरकि इन स्थानों पर इन मूर्तियों का आनंद ले सकते हैं।
  2. सुबह और शाम की सफाईः एमसीडी ने सुबह और शाम दोनों पाली में सड़कों के केंद्रीय किनारों पर जमा होने वाले मलबे और गाद को साफ करने के लिए 44 प्रमुख सड़कों पर एमआरएसएम (मैनुअल रोड स्वीपिंग मशीन) ऑपरेटरों की एक समर्पित टीम तैनात की है। ताकि ये सुनिश्चित किया जा सके की सड़कें हर समय साफ-सुथरी और आकर्षक बनी रहें।
  3. सक्शन कम जेटिंग मशीनेंः एमसीडी ने 35 सबसे प्रमुख सड़कों पर सक्शन कम जेटिंग मशीनें तैनात की हैं। ये मशीनें सड़कों को सौंदर्यपूर्ण रूप प्रदान करने के लिए सड़कों और फुटपाथों की सफाई और धुलाई कर रही हैं। ये मशीनें सुबह छह बजे से दोपहर दो बजे तक एक ही शिफ्ट में काम कर रही हैं।
  4. टीम के साथ नोडल अधिकारीः नोडल अधिकारी और सफाई कर्मचारियों की समर्पित टीम सक्रिय रूप से सड़कों के किनारे चैनलों और घंटी के मुहाने की सफाई में लगी हुई है। इन बिंदुओं से गाद और कचरा कुशलतापूर्वक एकत्र करने के लिए टिपरों का उपयोग किया जा रहा है, जिससे यह सुनिश्चित हो सके कि ये क्षेत्र साफ और मलबे से मुक्त रहें।
  1. मलबा हटानाः ट्रकों और बेलदारों (मजदूरों) से लैस एक विशेष टीम इन क्षेत्रों से मालबा (निर्माण मलबा) को हटाने के लिए लगातार काम कर रही है। यह सक्रिय दृष्टिकोण कचरे के संचय को रोकता है और स्वच्छ वातावरण बनाए रखता है।
  2. स्मॉग गन के साथ बहुउद्देशीय वाहनः एमसीडी फुटपाथों और साइड चैनलों को साफ करने के लिए स्मॉग गन से लैस एक बहुउद्देशीय वाहन का उपयोग कर रही है। यह अभिनव दृष्टिकोण इन क्षेत्रों को धूल-मुक्त रखने में मदद करता है और सड़कों की समग्र स्वच्छता को बढ़ाता है।
  3. उद्दयान विभागः फुटपाथों से घास हटाने, उगी हुई वनस्पति की छंटाई करने और सड़कों और केंद्रीय कगारों से छोटी या सूखी शाखाओं को साफ करने के लिए उद्यान विभाग की एक समर्पित टीम तैनात की गई है। यह एक सुव्यवस्थित और सौंदर्य की दृष्टि से मनभावन वातावरण सुनिश्चित करता है।
  4. सजावटी कूड़ेदानः जिम्मेदार अपशिष्ट निपटान को बढ़ावा देने के लिए, सजावटी कूड़ेदानों को रणनीतिक रूप से उच्च यातायात वाले क्षेत्रों जैसे बुद्ध जयंती पार्क गेट, आर्मी पब्लिक स्कूल, बस स्टॉप और अन्य सार्वजनिक सभा स्थानों के पास रखा गया है। यह जनता को अपने कचरे का उचित निपटान करने के लिए प्रोत्साहित करता है।
  5. सार्वजनिक शौचालयः जनता की सुविधा के लिए सुप्रीम कोर्ट के सामने एक नया सार्वजनिक शौचालय बनाया गया है और मथुरा रोड पर सुप्रीम कोर्ट मेट्रो स्टेशन के पास एक शौचालय का नवीनीकरण किया गया है। धौला कुआं में दो नए सार्वजनिक शौचालय बनाए गए हैं। राजघाट / दिल्ली गेट / बहादुर शाह जफर मार्ग / निज़ामुद्दीन / हुमायूँ मकबरा क्षेत्र के आसपास सात शौचालय ब्लॉकों में सुधार किया गया है।
  6. अतिक्रमण हटानाः इन सड़कों पर सभी अस्थायी अतिक्रमणों को तुरंत हटा दिया गया है, यह सुनिश्चित करते हुए कि सड़कें बाधाओं और भीड़भाड़ से मुक्त रहे।
  7. विरूपण हटानाः एमसीडी ने खंभों, दीवारों और अन्य सार्वजनिक संरचनाओं से पोस्टर और भित्तिचित्रों को हटाने के लिए एक प्रभावी अभियान चलाया है। इस पहल का उद्देश्य क्षेत्र की सौंदर्य अपील को बहाल करना और स्वच्छ और दृश्य रूप से सुखद वातावरण बनाए रखना है।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments