Wednesday, June 19, 2024
Homeअंतराष्ट्रीयतिरंगा भारत में नहीं फहराया जाएगा तो क्या पाकिस्तान में फहराया जाएगा...

तिरंगा भारत में नहीं फहराया जाएगा तो क्या पाकिस्तान में फहराया जाएगा : केजरीवाल

  • केजरीवाल सरकार ने पेश किया है देशभक्ति का बजट
  • दिल्ली अकेला राज्य है, जिसने फायदे का बजट पेश किया
  • दिल्ली में 500 जगहों पर लगाए जाएंगें बड़े-बड़े तिरंगे
  • बुजुर्गों को फ्री में राम मंदिर का दर्शन कराने के ऐलान पर भाजपा-कांग्रेस नाराज क्यों ?
  • स्कूलों में देशभक्ति पाठ्यक्रम शुरू करने वाला दिल्ली देश का पहला राज्य होगा

नई दिल्ली : दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली विधानसभा के सदन में प्रस्तुत ‘देशभक्ति बजट’ का समर्थन करते कहा कि दिल्ली सरकार ने बहुत अच्छा बजट पेश किया है। इस दौरान उन्होंने कहा कि दिल्ली में 500 जगहों पर बड़े-बड़े तिरंगे लगाने और बुजुर्गों को फ्री में राम मंदिर का दर्शन कराने के ऐलान का भाजपा और कांग्रेस क्यों विरोध कर रहीं? यह मेरी समझ में नहीं आ रहा है। यह तिरंगा भारत में नहीं फराएगा, तो क्या पाकिस्तान में फहराएगा? सीएम ने कहा, केंद्र सरकार ने जब-जब अच्छे काम किए, हमने दलगत राजनीति से ऊपर उठकर साथ दिया। मैंने खुद स्वच्छ भारत अभियान और योगा कार्यक्रम में भाग लिया। उन्होंने कहा कि ओलंपिक में बिड करने और दिल्ली की प्रति व्यक्ति आय सिंगापुर के बराबर करने के ऐलान के बाद से विपक्षी पार्टियां हमारा मजाक उड़ा रही हैं। विपक्षी पार्टियां हम पर हंस लें, लेकिन हम लोग देश की जनता के साथ मिल कर दिल्ली में ओलंपिक का आयोजन और 2047 तक देश को विकसित कर के दिखाएंगे। इससे पहले सीएम ने कहा कि सभी राज्य सरकारों और केंद्र सरकार ने घाटे का बजट प्रस्तुत किया। पूरे देश में दिल्ली अकेला राज्य है, जिसने फायदे का बजट पेश किया, यह बड़ी बात है।

– कोरोना की इतनी कठिन परिस्थितियों के बाद भी सरकार ने इतना अच्छा बजट पेश किया
मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली विधानसभा के सदन को संबोधित करते हुए कहा कि जैसा कि हम जानते हैं, पिछले एक साल में स्थितियां बहुत खराब रहीं। जनता काफी तकलीफ में थी। लोगों के काम-धंधे, फैक्ट्रियां और दुकानें बंद हो 
गई थीं, जिसकी वजह से एक तरफ सरकारी टैक्स आना बंद हो गया और दूसरी तरफ, सरकारी खर्चे बहुत ज्यादा बढ़ गए,  क्योंकि एक जिम्मेदार सरकार होने के नाते हमें लोगों के लिए जगह-जगह, तरह-तरह की सुविधाओं का इंतजाम करना पड़ा  था। लोगों के खाने, राशन और रोजमर्रा की जरूरतों के लिए किट उपलब्ध कराया गया, कोरोना से इलाज आदि के लिए बहुत सारी चीजों का इंतजाम किया गया। इसके बावजूद दिल्ली सरकार ने इतना अच्छा बजट पेश किया है, इसके लिए मैं वित्तमंत्री को बधाई देता हूं। इतनी कठिन परिस्थितियों में पिछले साल जब सरकारी आय लगभग खत्म हो गई थी, तब कई लोग कहते थे कि सरकार को बिजली और पानी की सब्सिडी खत्म करनी पड़ेगी, लेकिन पिछले साल बिजली भी फ्री रही, पानी भी फ्री रहा, बच्चों का स्कूल भी फ्री रहा, सभी सरकारी अस्पतालों में इलाज भी फ्री रहा और महिलाओं का बस में सफर भी फ्री रहा। आगामी साल के लिए प्रस्तुत किए गए बजट में भी बिजली फ्री है, पानी भी फ्री है, स्कूल भी फ्री है, अस्पताल भी फ्री है और बसों में महिलाओं का सफर भी फ्री है। इतनी कठिन परिस्थितियों में जनता को यह सभी सहूलियतें जारी रहीं और अगले वर्ष भी जारी रहेंगी।

– यह देशभक्ति का बजट है, स्कूलों में देशभक्ति पाठ्यक्रम शुरू करने वाला दिल्ली देश का पहला राज्य होगा
सीएम केजरीवाल ने कहा कि पिछले एक-डेढ़ महीने में देश के लगभग हर राज्य में बजट प्रस्तुत किया गया। इस बजट को देशभक्ति बजट बोला गया। आज हमारा देश आजादी के 75 साल बड़ी धूमधाम के साथ मना रहा है। इस 75वें साल में इस बजट के जरिए पूरी कोशिश की गई है कि अगला एक साल दिल्ली के कण-कण में देशभक्ति की भावना होगी। इस दौरान कई सारे कार्यक्रमों के आयोजन और कई सारे नई-नई चीजें शुरू की जाएंगी। स्कूलों के अंदर देशभक्ति पाठ्यक्रम शुरू किया जाएगा। यह पहली बार हो रहा है। अन्य कई देशों में होता है कि बच्चों को बचपन से अपने देश के प्रति कूट-कूट कर देशभक्ति भरने का काम किया जाता है। हमारे यहां मैं समझता हूं कि देश के अंदर हमारे पाठ्यक्रम में यह कमी थी, जो इस वर्ष से दिल्ली में यह कमी पूरी की जाएगी और बच्चों के अंदर देशभक्ति की भावना भरी जाएगी।

– पूरी दिल्ली में 500 जगहों पर बड़े-बड़े तिरंगे लगाने का निर्णय सराहनीय है
सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि इसी बजट में कहा गया कि दिल्ली सरकार दिल्ली में विभिन्न इलाकों में 500 जगहों पर बड़े-बड़े तिरंगे फहराएगी। यह बहुत ही शानदार कदम है। जब भी हम तिरंगा देखते हैं, तो हमारा मन देशभक्ति से ओत प्रोत हो जाता है। जब भी हम तिरंगा देखते हैं, तो हमारा मन खुद-ब-खुद भारत माता की जय बोल उठता है। जब भी हम तिरंगा देखते हैं, तो हमें अपनी भारत माता की याद आती है और बॉर्डर पर लड़ते हुए हमारे सैनिक जो हमारे लिए शहीद हो रहे हैं, उनकी तस्वीर हमारे सामने आ जाती है। यह बहुत ही अच्छा कदम है कि पूरी दिल्ली के अंदर जगह-जगह जब तिरंगे लगाए  जाएंगे और रोज सुबह जब कोई अपने घर से निकलेगा, दफ्तर जाएगा, तो उसे रास्ते में जगह-जगह तिरंगे दिखाई देंगे और उसका मन देश भक्ति की भावना से भर जाएगा और उसका मन ताजा हो जाएगा।

– मैंने खुद स्वच्छ भारत अभियान और योगा कार्यक्रम में भाग लिया- अरविंद केजरीवाल
सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि मुझे यह समझ नहीं आ रहा कि जब से यह ऐलान किया गया है, तब से भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस के लोग इसका विरोध क्यों कर रहे हैं? इसमें विरोध करने वाली क्या बात है? यह तो अच्छा कदम है। इसमें तो साथ देना चाहिए और तारीफ करनी चाहिए। देशभक्ति की बात पर राजनीति नहीं होनी चाहिए। देश हम सबका है, भारत हम सबका है। चाहे कोई भाजपा से हो, चाहे कांग्रेस से हो, आम आदमी पार्टी से हो या किसी भी पार्टी से हो, देश हम सभी का है। सीएम ने कहा कि केंद्र सरकार ने जब-जब अच्छे काम किए, हमने दलगत राजनीति से ऊपर उठकर साथ दिया। मुझे याद है कि 2014 में प्रधानमंत्री ने स्वच्छ भारत का ऐलान किया था। तब स्वच्छ भारत अभियान में भाग लेने के लिए मैं खुद झाड़ू लेकर एक झुग्गी बस्ती के अंदर सफाई करने गया था। मुझे याद है कि जब उन्होंने योगा का कार्यक्रम का ऐलान किया था, मैं खुद चटाई लेकर इंडिया गेट पर योगा करने के लिए गया था। जब-जब भारत की बात आती है, हमारे लिए कोई  भाजपा नहीं है, कोई कांग्रेस नहीं है, कोई आम आदमी पार्टी नहीं है, हमारे लिए हमारा देश है, भारत माता है। इसलिए मुझे समझ नहीं आया कि जब हमने कहा कि हम पूरे दिल्ली के अंदर तिरंगे फहराएंगे, तो भाजपा वालों ने इसका विरोध क्यों किया? कांग्रेस वालों ने इसका विरोध क्यों किया? ये कहते तिरंगे नहीं होने चाहिए? तिरंगे क्यों नहीं होने चाहिए? भाजपा से पूछना चाहता हूं कि यह तिरंगा भारत में नहीं फराएगा तो क्या पाकिस्तान में फहराएगा? हमारे देश का तिरंगा दिल्ली में नहीं फहराएगा, तो क्या इस्लामाबाद में फहराएगा। इस विरोध से मुझे बड़ा दुख हुआ।

– दिल्ली के बुजुर्गों को फ्री में राम मंदिर का दर्शन कराने के ऐलान का भी भाजपा-कांग्रेस वाले विरोध कर रहे हैं
सीएम अरविंद केजरीवाल ने आगे कहा कि मैं परसों में सदन में अपने भाषण में कहा कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर भव्य राम मंदिर बनने का काम तो शुरू हो गया। जब यह मंदिर बन जाएगा, तो हम अपने दिल्ली के सभी बुजुर्गों को फ्री में रामलला के दर्शन करा कर लाएंगे। हम अयोध्या में बन रहे राम मंदिर के दर्शन करा कर लाएंगे। जब से मैंने यह ऐलान किया है, भाजपा और कांग्रेस वाले इसका विरोध कर रहे हैं। ये क्यों विरोध कर रहे हैं, यह बात मुझे समझ नहीं आ रही है। मैं इनसे पूछना चाहता हूं कि क्या अपने बुजुर्गों को राम मंदिर का दर्शन कराना पाप है? क्या अपने बुजुर्गों को अयोध्या ले जाकर रामलला के दर्शन कराना गलत बात है? यह तो अच्छी बात है, पुण्य की बात है। वो इसका क्यों विरोध कर रहे हैं, मुझे तो बिल्कुल समझ नहीं आ रहा है। हर चीज में राजनीति कर रहे हैं, कभी देश के बारे में सोच लिया करो। मुझे बेहद खुशी है कि इस बजट के अंदर हमने अपने लोगों को सुबह सुबह योग करने की भी व्यवस्था की है। इसमें कहीं भी दिल्ली के अंदर 25-50 लोग इकट्ठे होकर, अगर मांग करेंगे कि हमें योगा करना है, वे कहेंगे कि हमारे पार्क या सोसाइटी में योग की व्यवस्था करा दो, तो दिल्ली सरकार उन्हें योग कराने का इंतजाम करेगी। यह पहली बार अपने आप में एक ऐसा कार्यक्रम है कि सरकार जनता की स्वास्थ्य के लिए इस तरह का कार्यक्रम करने जा रही है।

– दिल्ली में ओलंपिक खोलों का आयोजन होना देश के लिए गौरव की बात होगी, हम इसमें सबका साथ लेंगे
मुख्यमंत्री ने कहा कि इस बजट में हम लोगों ने सपना देखा है कि 2048 का ओलंपिक खेल दिल्ली के अंदर करवाया जाएगा। मैंने अखबारों में इंडियन ओलंपिक एसोसिएशन का बयान पढ़ा। उन्होंने कहा है कि दिल्ली सरकार ने यह बयान कैसे दिया? उन्हें हमसे पूछना चाहिए था। मैं पूरी इज्जत के साथ उनसे कहना चाहता हूं कि हमारा यह सपना है। हम उनके पास जाएंगे, उनसे जो भी मंजूरी लेनी होगी, वो मंजूरी लेंगे। उनके माध्यम से आवेदन करेंगे। मैंने कहा था कि कोरोना एक महामारी थी, हम अकेले उससे नहीं लड़ सकते थे। हमने सबका साथ लिया। दिल्ली के अंदर ओलंपिक खेलों का आयोजन भी हम अकेले नहीं कर सकते हैं, हमें इसमें सबका सहयोग चाहिए। यह भारत के लिए गौरव की बात होगी। इसमें हम केंद्र सरकार के पास जाएंगे, इंडियन ओलंपिक एसोसिएशन के पास भी जाएंगे। सभी स्पोर्ट्स बाॅडीज और सभी संस्थानों के पास जाएंगे। सारा देश मिलकर 2048 ओलंपिक के लिए बिड करेगा। सिर्फ अकेली दिल्ली सरकार नहीं कर सकती है। दिल्ली सरकार इसमें अग्रणी भूमिका निभाएगी, लेकिन सारा देश मिल कर इसके लिए बिड करेगा। हमारे देश के लिए यह गर्व की बात है।

– ओलंपिक और सिंगापुर संबंधी ऐलान के बाद से विपक्षी पार्टियां हमारा मजाक उड़ा रही हैं
सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि सिंगापुर की प्रति व्यक्ति आय दुनिया भर में सबसे ज्यादा मानी जाती है। आज भारत एक गरीब देश माना जाता है। जैसा कि उपमुख्यमंत्री ने बताया कि आखिर मेरा देश कब विकसित देशों में गिना जाएगा? बचपन से सुनते आ रहे हैं कि हमारा देश विकासशील है। आखिर हमारा देश कब विकसित देश बनेगा? कभी न कभी तो किसी न किसी को इसके बारे में कहना पड़ेगा कि अब बनेगा। अब इसके लिए काम करेंगे। हमने कहा कि 25 साल के अंदर 2047 तक दिल्ली की प्रति व्यक्ति आय सिंगापुर की प्रति व्यक्ति आय के बराबर होगी। मैं मानता हूं कि यह हमारा सपना है। जब से यह दोनों ऐलान किया है कि ओलंपिक में हम बिडिंग करेंगे और सिंगापुर के बराबर आय लाएंगे। तब से कई विपक्षी पार्टियां हमारा मजाक उड़ा रही हैं। हमारे उपर हंस रही हैं, लेकिन मैं कहना चाहता हूं कि आज हंस लो, लेकिन आज जो यह सपना देखा है, उसे पूरा भी करेंगे। जब हम 2013 में पहली बार चुनाव लड़े थे। तब हमने कहा था कि हम बिजली के बिल आधे करेंगे। तब भी विपक्षी पार्टी के लोग हम पर हंसा करते थे। यह हो ही नहीं सकता है, केजरीवाल झूठ बोल रहा है। हमने केवल 49 दिन की सरकार में यह काम करके दिखा दिया। हमने कहा था कि सरकारी स्कूल अच्छे करेंगे, तो ये कहते थे कि सरकारी स्कूल अच्छे हो ही नहीं सकते हैं। हमने सरकारी स्कूलों को 5 साल में अच्छे करके दिखा दिया। हमने कहा था कि सरकारी अस्पताल अच्छे करेंगे, तब भी कहते थे कि ये हो नहीं सकता है, लेकिन हमने सरकारी अस्पताल को भी अच्छा करके दिखा दिया। आज हम कह रहे हैं कि 2048 का दिल्ली के अंदर ओलंपिक खेल होगा। ये लोग मजाक उड़ा रहे हैं, लेकिन हम करके दिखाएंगे। यह देश करके दिखाएगा। इस देश और देश के लोगों पर भरोसा रखो। आज हम कह रहे हैं कि 2047 तक आजादी के 100 साल हो जाएंगे। 100 साल पूरे होने में 25 साल बचे हैं। 25 साल के अंदर हमारा देश विकसित होगा। हमने यह सपना देखा है और इस देश के लोग इस सपने को पूरा करके दिखाएंगे।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments