Tuesday, July 9, 2024
Homeताजा खबरेंकेजरीवाल सरकार और एमसीडी ने दिल्ली को विदेशी मेहमानों का स्वागत करने...

केजरीवाल सरकार और एमसीडी ने दिल्ली को विदेशी मेहमानों का स्वागत करने के लिए किया तैयार : आतिशी

  • – नई सड़कों, आकर्षक मूर्तियों, डेढ़ लाख से अधिक पौधों और खुबसूरत लाइटों से सजाकर
  • – दिल्ली सरकार ने जी-20 के मद्देनजर शानदार 10 नई सड़कें बनाने के साथ प्रमुख सड़कों की लैंडस्कैपिंग, रीडिजाइनिंग व सौंदर्यीकरण किया
  • – पीडब्ल्यूडी की सड़कों को 31 आकर्षक मूर्तियों, 90 फब्बारों और 1.65 लाख पौधों के साथ खूबसूरत लाइटों से सजाया गया है
  • – आईटीपीओ के पास बना इंटीग्रेटेड ट्रांजिट कॉरिडोर ट्रैफिक की समस्या सुलझाने के साथ विदेशी मेहमानों की सुरक्षा भी सुनिश्चित करेगा
  • – इंटीग्रेटेड कॉरिडोर केंद्र सरकार व आईटीपीओ से फंडेड है और दिल्ली सरकार के पीडब्ल्यूडी ने इसे एग्जीक्यूट किया है
  • – इंटीग्रेटेड कॉरिडोर आने वाले समय में दिल्ली की प्रमुख क्रॉसिंग को जाम मुक्त बनाने में भी बड़ी भूमिका निभाएगा
  • – जी-20 के लिए दिल्ली में हुए सौंदर्यीकरण का अधिकांश हिस्सा पीडब्ल्यूडी और एमसीडी ने किया है
  • – बहादुर शाह जफर मार्ग व शहीदी पार्क पर शहीदों को याद करते हुए स्क्रैप से खूबसूरत पार्क बनाया गया है 

नई दिल्ली, 06 सितंबर 2023

जी-20 समिट के लिए दिल्ली पूरी तरह से सजकर तैयार है। केजरीवाल सरकार और एमसीडी ने राष्ट्रीय राजधानी में आने वाले विदेशी मेहमानों का दिल जीतने के लिए अपनी तैयारियों में कोई कसर नहीं छोड़ी है। दिल्ली को खूबसूरत और आकर्षक बनाने के लिए केजरीवाल सरकार ने यूरोपियन स्टैंडर्ड की कई नई सड़कें बनाई है और प्रमुख सड़कों को रीडिजाइन कर उनका सौंदर्यीकरण किया है। विभिन्न सड़कों पर आकर्षक विशाल मूर्तियां और फब्बारे लगवाए गए हैं। साथ ही, विभिन्न प्रकार के डेढ़ लाख से अधिक खूबसूरत पौधों से सड़कों को सजा दिया है और अब दिल वालों की दिल्ली’ आने वाले अपने विदेशी मेहमानों का स्वागत करने के लिए पूरी तरह से तैयार है। केजरीवाल सरकार और दिल्ली नगर निगम की तरफ से जी-20 की तैयारियों को अंतिम रूप देने के बाद बुधवार को पीडब्ल्यूडी मंत्री आतिशी और शहरी विकास मंत्री ने दिल्ली सचिवालय में प्रेसवार्ता कर यह जानकारी साझा की।

दिल्ली की पीडब्ल्यूडी मंत्री आतिशी ने बताया कि दिल्ली जी-20 के लिए पूरी तरह से तैयार है। दिल्ली सरकार द्वारा जी-20 के डेलीगेट्स को रिसीव करने के लिए सारी तैयारियां कर ली गई हैं। दिल्ली और देशवासियों के लिए यह बहुत ही खुशी का मौका है। क्योंकि हमारे देश की राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में दुनिया भर के बड़े-बड़े देशों के प्रतिनिधि आ रहे हैं। आज दिल्ली उन सभी का स्वागत करने के लिए तैयार है। हमें इस बात का पूरा भरोसा है कि दिल्ली जी-20 के सभी डेलीगेट्स का दिल जीत लेगी।

पीडब्ल्यूडी मंत्री आतिशी ने बताया कि जी-20 की तैयारियां पिछले कई सालों से चल रही हैं। दिल्ली में काम करने वाली सभी एजेंसी और सभी सरकारों ने मिलकर जी-20 की तैयारियों पर काम किया है। सभी ने अपनी-अपनी सक्रिय भागीदारी की है। इसकी वजह से आज जी-20 के लिए दिल्ली तैयार है। उन्होंने केंद्र सरकार को बधाई देते हुए कहा कि केंद्र सरकार ने पिछले 4-5 सालों में बहुत ही शानदार आईटीपीओ कॉम्प्लेक्स बनाया है। यहीं पर जी-20 का समिट होने वाला है। इस आईटीपीओ कॉम्प्लेक्स के आसपास एक इंटीग्रेटेड ट्रांजिट कॉरिडोर बना है, जो न सिर्फ ट्रैफिक की समस्या को सुलझाएगा, बल्कि जी-20 के समिट के लिए आ रहे सभी डेलीगेट्स की सुरक्षा को भी सुनिश्चित करेगा। इंजीनियरिंग और सुरक्षा की दृष्टि से यह एक शानदार इंटीग्रेटेड कॉरिडोर बना है। यह इंटीग्रेटेड कॉरिडोर केंद्र सरकार और आईटीपीओ द्वारा फंडेड है, जबकि पूरा कॉरिडोर दिल्ली सरकार के पीडब्ल्यूडी ने निष्पादित किया है। इसको टनल के नाम से भी जाना जाता है।

पीडब्ल्यूडी मंत्री आतिशी ने कहा कि मुख्य टनल इंडिया गेट से रिंग रोड तक जाता है। इस मुख्य टनल से आईटीपीओ कॉम्प्लेक्स में सीधी इंट्री है। यह इंट्री सुरक्षा के मद्देनजर बनाई गई है। इस कॉम्प्लेक्स में 6 अंडरपास हैं। यह टनल इसलिए भी इंजीनियरिंग मार्बल है, क्योंकि जब आईटीपीओ कॉम्प्लेक्स का निर्माण चल रहा था और उसी समय इसके निर्माण को बिना बाधित किए कॉम्प्लेक्स के नीचे से ही इंटीग्रेटेड कॉरिडोर बनाया गया है। पीडब्ल्यूडी के इंजीनियरों ने ऐसा शानदार इंजीनियरिंग स्ट्रक्टर बनाया है, जो आने वाले समय में दिल्ली और दिल्ली की मुख्य क्रॉसिंग को जाम मुक्त बनाने में बहुत बड़ी भूमिका निभाएगा। इसके लिए सभी इंजीनियर बधाई के पात्र हैं।

पीडब्ल्यूडी मंत्री ने कहा कि पीडब्ल्यूडी द्वारा जी-20 की मुख्य एरिया के प्रमुख स्ट्रेचेज की लैंडस्कैपिंग, रीडिजाइनिंग, ब्यूटीफिकेशन करवाई गई है। जब कोई एयरपोर्ट से सेंट्रल दिल्ली की तरफ आते हैं तो रिंग रोड के मोतीबाग समेत अन्य सभी स्ट्रेच की यूरोपीयन स्टैंडर्ड का डिजाइन करवाया गया है। जी-20 के अरविंदो मार्ग, विकास मार्ग, लोधी रोड, राजघाट समेत अन्य रोड का री-डिजाइन कराया गया है। ये सड़कें न सिर्फ जी-20 के डेलीगेट्स का स्वागत करेंगी, बल्कि आने वाले दिनों में दिल्ली में लैंडमार्क पीस ऑफ इंफ्रास्ट्रक्चर की तरह जानी जाएंगी। आईटीपीओ कॉम्प्लेक्स के ठीक बगल में स्थित भैरो मार्ग का भी रीडिजाइन और ब्यूटीफिकेशन किया गया है। इसमें पूरी लेन को रीडिजाइन करके भैरो मार्ग को सुंदर बनाया गया है।

पीडब्ल्यूडी मंत्री आतिशी ने बताया कि जी-20 के मद्देनजर 10 सड़कें बिल्कुल नई बनाई गई हैं। इसमें भैरो मार्ग, पुराना किला रोड, कुलाम्बतोर मार्ग, मथुरा रोड, मेहरौली-बदरपुर रोड, जेबी टीटो मार्ग, रिंग रोड पर आईपी फ्लाईओवर से हनुमान सेतु का एरिया, मान रोड से किंग्सवे कैम्प चौक का एरिया, रिंग रोड में आईपी फ्लाईओवर से भैरो मार्ग का एरिया और नेताजी सुभाष चंद्र मार्ग का इंफ्रास्ट्रक्चर विकसित किया गया है। इसके अलावा सड़कों का बहुत ही खर्चीला सुंदरीकरण किया गया है। उन्होने बताया कि पीडब्ल्यूडी की सड़कों पर 31 मूर्तियां, 90 फौब्बारे स्थापित की गई हैं। जी-20 की तैयारी में पीडब्ल्यूडी ने 1.65 लाख पौधे लगाए हैं। लाइट्स को बदला गया है। खूबसूरत लाइट्स लगाई गई हैं। इसलिए मैं बहुत ही गर्व के साथ कह सकती हूं कि अब दिल्ली जी-20 के डेलीगेट्स को रिसीव करने के लिए पूरी तरह से तैयार है।

वहीं, दिल्ली के शहरी विकास मंत्री सौरभ भारद्वाज ने बताया कि दिल्ली में हुए सौंदर्यीकरण का अधिकांश हिस्सा पीडब्ल्यूडी और एमसीडी ने किया है। इन दोनों एजेसियों ने कई महीनों तक काम किया है। एमसीडी ने मुख्यतः कई मार्केट का सौंदर्यीकरण किया है। इसमें साउथ एक्स पार्ट-1, 2, लाजपत, पीवीआर अनुपम कॉम्प्लेक्स में सारा नया काम किया गया है। आरके पुरम, चार मीनार महीपालपुर का एरिया में बहुत ही शानदार काम किया गया है। जीके-2 की एम-ब्लॉक मार्केट में जी-20 पार्क विकसित किया गया है। इसके अलावा, एमसीडी ने राजघाट, दिल्ली गेट, बहादुर शाह जफर मार्ग, आईपी स्टेट और प्रगति मैदान के एरिया का सौंदर्यीकरण किया है। वेस्ट से बनी म्यजिशियन के बड़ी-बड़ी मूर्तियां लगाई गई है। इसमें लाइटिंग की गई है और वहां बहुत ही सुंदर नजारा देखने को मिलता है। करीब 250 मीट्रिक टन स्क्रैप का इस्तेमाल करके ये मूर्तियां बनाई गई हैं। बहादुर शाह जफर मार्ग, शहीदी पार्क पर भी शहीदों को याद करते हुए स्क्रैप से बहुत सुंदर पार्क बनाया गया है। दिल्ली सरकार का टूरिज्म, पीडब्ल्यूडी, स्वास्थ्य विभाग, आर्किलॉजिकल विभाग के साथ दिल्ली नगर निगम महीनों से जी-20 की तैयारियों में लगा हुआ था। आज जी-20 की सारी तैयारियां पूरी हो गई हैं। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और दिल्ली के दो करोड़ लोगों की तरफ से हम विदेशी मेहमानों का स्वागत करते हैं।

इंटीग्रेटेड कॉरिडोर पुराना लाल किला से रिंग रोड को कनेक्ट करेगा

मुख्य टनल की लंबाई 1596 मीटर सीधी है और चार ब्रांच के लिए 626 मीटर अतिरिक्त टनल बनाई गई है। यह टनल पुराना लाल किला से रिंग रोड समेत अन्य एरिया को कनेक्ट करेगी। यह टनल पुराना किला, रिंग रोड और मथुरा रोड से आने वाली ट्रैफिक के लिए प्रगति मैदान पार्किंग की एक्सेस उपलब्ध कराती है। इसमें छह अंडरपास बनाए गए हैं, जिनसे यातायात का आवागमन आसान हो सकेगा।

अंडरपास-1
440 मीटर लंबा यह अंडरपास लाजपत नगर की ओर से आने वाले और डीपीएस व सुंदर नगर जाने वाले यातायात के लिए मथुरा रोड पर सिग्नल मुक्त यू-टर्न प्रदान करता है।

अंडरपास-2
440 मीटर लंबा यह अंडरपास भैरों मार्ग और सुप्रीम कोर्ट की ओर से आने वाले और हाई कोर्ट और काका नगर की ओर जाने वाले यातायात के लिए मथुरा रोड पर सिग्नल मुक्त यू-टर्न प्रदान करता है।

अंडरपास-3
यह अंडरपास यू-टर्न पर 380 मीटर और स्लिप रोड पर 320 मीटर लंबा है। यह अंडरपास शेरशाह रोड और सुब्रमण्यम भारती मार्ग की ओर से आने वाले और सुंदर नगर व भैरों मार्ग की ओर जाने वाले यातायात के लिए मथुरा रोड पर सिंगल मुक्त यू-टर्न उपलब्ध कराता है।

अंडरपास-4
यह अंडरपास करीब 1332 मीटर लंबा है। यह अंडरपास पुराना किला रोड से भैरों मार्ग और सुंदर नगर की ओर आने वाले यातायात के लिए मथुरा रोड पर सिग्नल फ्री यू-टर्न प्रदान करता है। साथ ही प्रगति मैदान की बेसमेंट पार्किंग तक पहुंच प्रदान करता है।

अंडरपास-5
540 मीटर लंबा यह अंडरपास भैरों मार्ग की ओर से आने वाले और रिंग रोड की ओर जाने वाले यातायात के लिए सिंग्नल मुक्त टर्न प्रदान करता है।

अंडरपास-6
474 मीटर लंबा यह अंडरपास भैरों मार्ग से प्रगति मैदान की बेसमेंट पार्किंग के लिए कनेक्शन प्रदान करता है।

जी-20 के मद्देनजर पीडब्ल्यूडी के प्रमुख विकास कार्य

-10 सड़कों को मिला नया स्वरुप
-जी-20 के मुख्य मार्गों को यूरोपियन स्टैंडर्ड की सड़कों की तरह रीडिजाइन किया
-इंटीग्रेटेड ट्रांजिट कॉरिडोर
-दर्जन भर से अधिक तरह के 1,65,000 पौधे लगाए
-मुख्य चौराहे और सड़कों पर 90 फब्बारें लगाए
-सड़कों की ब्लैक टैपिंग और शानदार एलइडी लाइट्स लगाई गई
-स्ट्रीट फर्नीचर और आर्टिफैक्ट्स के साथ सड़कों को सजाया गया
-31 स्कल्प्चर लगाये गए

जी-20 के मद्देनजर एमसीडी के प्रमुख कार्य

प्रमुख मार्केट का सौंदर्यीकरण

एमसीडी द्वारा महत्वपूर्ण मार्केट जैसे साउथ एक्सटेंशन पार्ट-1 और 2, लाजपत नगर, पीवीआर अनुपम सिनेमा मार्केट, साकेत को बेहतर बुनियादी ढांचे, साइनेज, कलाकृतियों के साथ सजाया गया है। इन बाजारों के फर्श पर ग्रेनाइट, सीसी टाइल्स और रेड सैंड स्टोन का इस्तेमाल कर नया रूप दिया गया है। साथ ही शानदार एलइडी लाइट्स, प्लांटस, फब्बारे के साथ इनका सौन्दर्यकरण किया गया है।

आर.के.पुरम मार्केट को दिया नया स्वरूप

एमसीडी ने आरके पुरम मार्केट को नया स्वरूप दिया है। इस बाजार को सड़क, पार्किंग, ड्रेनेज में सुधार और प्लांटर्स के साथ बैठने की व्यवस्था, डिजाइनर खंभों के साथ एलईडी लाइट्स, सार्वजनिक शौचालय और दुकानों के फसाड को विकसित किया गया है।

चार मीनार पार्क

महिपालपुर में रेडीसन होटल के सामने एक राउंड अबाउट (जिसे चार मीनार पार्क के नाम से जाना जाता है) और छह स्थानों को म्यूजिक आर्टिफेक्ट्स, हॉर्टिकल्चर और मूर्तियाँ लगाकर सजाया गया है। साथ ही पूरी एरिया को एलइडी लाइट्स से जगमगाया गया है। फ्लाईओवर के नीचे सेंट्रल वर्ज को भी बेहतर बनाया गया है।

जी-20 पार्क

जीके-2 के एम-ब्लॉक मार्केट में जी-20 पार्क बनाया गया है। यहां पार्क को बेहतर ढंग से सजाया गया है और जी-20 की भी शानदार ब्रांडिंग की गई है।

टाउन हॉल को मिला नया रूप

टाउन हॉल (पुराना एमसीडी मुख्यालय) को नया रूप दिया गया है। टाउन हॉल और उसके आसपास के क्षेत्र के फसाड को पेंटिंग द्वारा बेहतर बनाया गया है। इसके आसपास सार्वजनिक शौचालय में सुधार किया गया और लाइट्स लगाई गई है।

प्रगति मैदान के आसपास एमसीडी की तैयारियां

राजघाट, दिल्ली गेट, बहादुर शाह जफर मार्ग, आईपी एस्टेट, आईटीपीओ के आसपास के पूरे क्षेत्र को प्राचीन भारतीय की कला को दर्शाने वाली कलाकृतियों से सजाया गया है और नया रूप दिया गया है।

शहीदी पार्क

-दिल्ली गेट के पास बहादुर शाह जफर मार्ग पर शहीदी पार्क को जनता को समर्पित कर दिया गया है। यह पार्क उन सभी शहीदों को समर्पित किया गया है, जिन्होंने अलग-अलग समय में देश के लिए योगदान दिया है। पार्क को 250 मीट्रिक टन स्क्रैप कचरे का उपयोग करके विभिन्न 2डी और 3डी मूर्तिकला का निर्माण करके और उनके योगदान की जानकारी प्रदर्शित करके विकसित किया गया है।

– जनता की सुविधा के लिए सुप्रीम कोर्ट, राजघाट, दिल्ली गेट, बहादुर शाह जफर मार्ग, निज़ामुद्दीन, हुमायूं मकबरा क्षेत्र के आसपास आठ शौचालय ब्लॉकों का नवीनीकरण किया गया है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments