Monday, April 22, 2024
Homeअंतराष्ट्रीयएलजी सक्सेना अपने ऊपर लगे आरोपों की जांच से बचने के लिए...

एलजी सक्सेना अपने ऊपर लगे आरोपों की जांच से बचने के लिए दिल्ली सरकार पर लगा रहे रोज नया आरोप : दुर्गेश पाठक

केजरीवाल सरकार ने डीटीसी में कोई घोटाला नहीं किया है तो उसके नेता जांच से घबरा क्यों रहे हैं : भाजपा
– आम आदमी पार्टी विधायक दुर्गेश पाठक पर साधा निशाना  

– जिस मामले में सीबीआई पहले ही क्लीनचिट दे चुकी है, एलजी विनय सक्सेना उसकी फिर से जांच कराना चाहते हैं – एलजी का एक ही मकसद है कि ठेकेदारों तक संदेश पहुंच जाए कि हिस्सा कहां आना है – एलजी से विनती है कि ठेकेदारों को खुद बुलाकर बात कर लो, हमें क्यों परेशान किया जा रहा है- एलजी ने खादी ग्रामोद्योग का चेयरमैन रहते हुए ब्लैक मनी व्हाइट कराया, अपनी ही बेटी को खादी इंडिया लाउंज के इंटीरियर का टेंडर दिया और पटना हाईकोर्ट के ऑर्डर के बावजूद कारीगरों को कैश में भुगतान किया – एलजी विनय सक्सेना पर इतने बड़े आरोप लगने के बावजूद वह जांच के लिए तैयार नहीं हैं

नई दिल्ली, 11 सितंबर 2022 : ‘आप’ विधायक दुर्गेश पाठक ने कहा कि एलजी विनय सक्सेना अपने ऊपर लगे आरोपों की जांच से बचने के लिए दिल्ली सरकार पर रोज एक नया आरोप लगातेहैं। जिस मामले में सीबीआई पहले ही क्लीनचिट दे चुकी है, एलजी विनय सक्सेना उसकी फिर से जांच कराना चाहते हैं। एलजी का एक ही मकसद है कि ठेकेदारों तक संदेश पहुंच जाए कि हिस्सा कहां आना है। एलजी साहब से विनती है कि ठेकेदारों को खुद बुलाकर बात कर लो, हमें क्यों परेशान किया जा रहा है। उप राज्यपाल ने खादी ग्रामोद्योग का चेयरमैन रहते हुए ब्लैक मनी व्हाइट कराया, अपनी ही बेटी को खादी इंडिया लाउंज के इंटीरियर का टेंडर दिया और पटना हाईकोर्ट के ऑर्डर के बावजूद कारीगरों को कैश में भुगतान किया। इतने बड़े आरोप लगने के बावजूद वह जांच के लिए तैयार नहीं हैं।

दिल्ली भाजपा के प्रवक्ता प्रवीण शंकर कपूर ने कहा है कि आज अपनी पत्रकार वार्ता में आम आदमी पार्टी विधायक दुर्गेश पाठक ने जिस तरह की असभ्य भाषा में उपराज्यपाल विनय कुमार सक्सेना को सम्बोधित किया। वह आम आदमी पार्टी नेताओं की हताशा एवं राजनीतिक संस्कारों के अभाव को दर्शाता है। भाजपा प्रवक्ता ने कहा है कि डीटीसी बस खरीद घोटाला लम्बे समय से चर्चा में रहा है, केजरीवाल सरकार 2015-16 से ही डीटीसी को लूट खसोट कर ठप करने में लगी है और 1000 लो फ्लोर बसों की खरीदारी में घपला भी इसी लूट के खेल का भाग है। अगर केजरीवाल सरकार ने इसमें कोई घोटाला नहीं किया है तो उसके नेता जांच से क्यों घबरा रहे हैं?

प्रवक्ता कपूर ने कहा कि उपराज्यपाल ने जिस तत्परता से केजरीवाल सरकार से जुड़े भ्रष्टाचार के मामलों पर कार्रवाई की अनुमति दी जा रही है, उससे आम आदमी पार्टी नेता घबरा कर बौखला रहे हैं और अब उपराज्यपाल के प्रति बेबुनियाद आरोप लगाने के साथ ही असभ्य भाषा का भी प्रयोग कर रहे हैं।

आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं विधायक दुर्गेश पाठक ने रविवार को पार्टी मुख्यालय में एक महत्वपूर्ण प्रेसवार्ता को संबोधित करते हुए कहा कि दिल्ली के एलजी साहब एक महा भ्रष्टाचारी आदमी हैं। सुबह-सुबह उठकर उनका एक काम है कि हर बार एक नई जांच शुरू करते हैं। इनकी नियत यह है कि हर ठेके में इनको पैसा मिलना चाहिए। एलजी साहब से विनती है कि यह हमसे नहीं हो पाएगा। आप सीधा-सीधा ठेकेदारों को बुला लिया करो और जो भी डील करनी है आप खुद कर लिया करो।

उन्होंने कहा कि आज एलजी साहब ने डीटीसी में घोटाला बताकर जांच के आदेश दे दिए। उनका कहना है कि 1000 बसें खीरीदी गई हैं इसलिए उसकी जांच कराओ। मुझे लगता है कि भ्रष्ट होने के साथ-साथ वह पूरी तरह से निकम्मे व अनपढ़ भी हैं। कुछ पता ही नहीं है, कहीं भी हस्ताक्षर करते चले जा रहे हैं। जिस चीज को लेकर आज इन्होंने सीबीआई की जांच के आदेश दिए हैं, इसी पर पूर्व एलजी द्वारा पहले ही बैठक हुई, उसकी जांच हुई और उन्होंने क्लीनचिट दे दिया। जिस चीज का टेंडर ही नहीं हुआ, आप उसकी जांच करने के लिए कह रहे हैं।

दुर्गेश पाठक ने कहा कि मुझे समझ नहीं आ रहा है कि आखिर समस्या क्या है। एक ही जांच आप कितनी बार कराओगे? इनका एक ही मकसद है कि ठेकेदारों तक संदेश पहुंच जाए कि हिस्सा कहां आना है। एलजी से साहब से हाथ जोड़कर विनती करते हैं कि हमसे यह नहीं हो पाएगा। ठेकेदारों को खुद बुलाकर बात करलो, हमें क्यों परेशान किया जा रहा है। हम दिल्ली की सेवा करना चाहते हैं। आम आदमी पार्टी ने वह काम करके दिखाया है जो बड़ी से बड़ी पार्टियां नहीं कर पाई हैं। स्कूल बनाए, अस्पताल बनाए, भ्रष्टाचार में कमी लाई और यह सब हम नहीं बल्कि खुद पीएम मोदी जी की रिपोर्ट कहती है।

दूसरी चीज, कभी अपने आरोपों की भी जांच करालो। आपके हेड कैशियर ने लिखके दिया है कि आपके पैसे ब्लैक से व्हाइट करता था। इससे ज्यादा सबूत और क्या चाहिए लेकिन आप जांच के लिए तैयार नहीं हैं। आप हमें जेल की धमकी दे रहे हैं, हमें जेल से डर थोड़ी लगता है। ईमानदारी की बातें करके खादी ग्रामोद्योग के लाउंज के इंटीरियर का टेंडर अपनी ही बेटी को दे दिया। उसके बाद पटना हाईकोर्ट के ऑर्डर के बाद भी आपने कारीगरों का भुगतान कैश में किया। आपने इतने बड़े-बड़े घोटाले किए हैं  उसकी जांच कराने में आपको कोई दिलचस्पी नहीं है। जो जांच पहले ही हो चुकी है और जिसके लिए पूर्व एलजी पहले ही क्लीनचिट दे चुके हैं, आप उसकी जांच फिर से करा रहे हो।

उन्होंने कहा कि जब आपका एक ही लक्ष्य है कि सारा पैसा आपके पास आना चाहिए तो दिल्ली के सभी ठेकेदारों को बुला लो। एक-एक के साथ बैठकर चर्चा करलो आखिर करना क्या है। सुबह-सुबह एक नई जांच शुरू कर देते हैं। कल उठकर एक नई जांच शुरू कर देंगे और परसों कोई जांच शुरू कर देंगे। दिल्ली को एक शिक्षित और समझदार एलजी चाहिए, जिसको फाइलें पढ़नी आती हों। हमारे एलजी को पता ही नहीं है कि कहां हस्ताक्षर करना है और कहां नहीं करना है। केंद्र सरकार से हमारी विनती है कि हमें ऐसे एलजी से छुटाकारा दिलाइए।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments