Homeअंतराष्ट्रीयउपराज्यपाल ने जीरो वेस्ट को बढ़ावा देने वालों को वितरित किए सहभागिता...

उपराज्यपाल ने जीरो वेस्ट को बढ़ावा देने वालों को वितरित किए सहभागिता प्रमाणपत्र

  • उपराज्यपाल ने जीरो वेस्ट को बढ़ावा देने वाली कॉलोनियों की आरडब्ल्यूए एवं ग्रुप हाउसिंग सोसाइटियों के प्रतिनिधियों को हरित मित्र एवं सहभागिता प्रमाणपत्र वितरित किए
  • उपराज्यपाल के मार्गदर्शन में कार्य करते हुए दिल्ली नगर निगम ने अपने सभी 12 जोन के 56 कॉलोनियों एवं ग्रुप हाउसिंग सोसाइटियों को जीरो वेस्ट कॉलोनी घोषित किया
  • सहभागिता योजना के तहत जीरो वेस्ट कालोनी को संपत्ति कर में अतिरिक्त छूट प्रदान की जाएगी

नई दिल्ली, 2 सितंबर 2022: दिल्ली के उपराज्यपाल वी के सक्सेना ने शुक्रवार को स्त्रोत पर शत प्रतिशत कचरे का निस्तारण करने वाली जीरो वेस्ट कॉलोनियों की आरडब्ल्यूए एवं ग्रुप हाउसिंग सोसायटियों को सम्मानित किया। दिल्ली नगर निगम ने शहर को कचरा मुक्त एवं हरा भरा बनाने की दिशा में एक अनोखा प्रोत्साहन कार्यक्रम आरंभ किया है। अब तक निगम ने 56 आरडब्ल्यूए एवं ग्रुप हाउसिंग सोसायटियों को जीरो वेस्ट कॉलोनी घोषित किया है। उपराज्यपाल ने जन सहभागिता के द्वारा शहर को हरा भरा, साफ एवं कचरा प्रबंधन पर बल दिया है। उपराज्यपाल ने सिविक सेंटर के सभागार में आरडब्ल्यूए एवं ग्रुप हाउसिंग सोसाइटियों को प्रमाणपत्र वितरित किए। इस अवसर पर एमसीडी के विशेष अधिकारी अश्विनी कुमार, निगमायुक्त ज्ञानेश भारती एवं आरडब्ल्यूए प्रतिनिधि सहित निगम के वरिष्ठ अधिकारीगण उपस्थित रहे।

उपराज्यपाल ने अपना कार्यभार संभालते ही दिल्ली नगर निगम को निर्देश दिए थे कि आरडब्ल्यूए एवं नागरिकों को साथ लेकर शहर को हरा भरा एवं कचरा मुक्त बनाएं। इस प्रकार के साझा प्रयासों के माध्यम से निगम द्वारा प्रदान किए जाने वाले सम्मान एवं वित्तीय फायदे कॉलोनियों को कचरा प्रबंधन में आत्मनिर्भर बनाने में सहायक सिद्ध होंगे। दिल्ली नगर निगम ने उपराज्यपाल के मार्गदर्शन में कार्य करते हुए कॉलोनियों को प्रमाणपत्र देने का कार्य आरंभ किया है। इस कार्य के लिए दिल्ली नगर निगम ने एक ऑनलाइन पोर्टल आरंभ किया है जिसके माध्यम से आरडब्ल्यूए/ग्रुप हाउसिंग सोसाइटी प्रमाणपत्र लेने के लिए आवेदन कर सकते हैं। इस प्रमाणपत्र को प्राप्त करने के लिए आरडब्ल्यूए एवं ग्रुप हाउसिंग सोसायटियों में एक स्वस्थ प्रतियोगिता आरंभ होगी।

दिल्ली नगर निगम दो श्रेणियों में प्रमाणपत्र प्रदान करेगी, हरित मित्र उन आरडब्ल्यूए एवं ग्रुप हाउसिंग सोसायटियों को जारी किया जाएगा जो अपने पार्कों का रखरखाव स्वयं करेंगी एवं अपने परिसर में ही गीले कचरे की कम्पोस्टिंग करेंगी। दूसरी श्रेणी सहभागिता कॉलोनी है जिसको प्राप्त करने के लिए हरित मित्र की शर्तों की पूर्ति के साथ साथ स्त्रोत पर 100 प्रतिशत कचरे का निस्तारण,कॉलोनी में 100 प्रतिशत गीले कचरे की कम्पोस्टिंग, पुन चक्रण योग्य शत प्रतिशत सूखे कचरे का पुन चक्रण एवं बाकी बचे कचरे को निगम अथवा उसके द्वारा अधिकृत एजेंसी को सौंपना।

दिल्ली नगर निगम ने निम्न कॉलोनियों को जीरो वेस्ट कॉलोनी घोषित किया है, दक्षिणी क्षेत्र में बी 5 एवं बी 6 वसंत कुंज,नवजीवन विहार, वेस्टेंड कॉलोनी; मध्य क्षेत्र में डिफेंस कॉलोनी, सुंदर नगर; नजफगढ़ क्षेत्र में बेवर्ली अपार्टमेंट, ब्रह्मा अपार्टमेंट; पश्चिमी क्षेत्र में देवदूत अपार्टमेंट, गुलमोहर अपार्टमेंट; करोल बाग़ क्षेत्र में डीएलएफ करमपुरा, बी ब्लॉक राजौरी गार्डन; रोहिणी क्षेत्र में स्वस्तिक कुंज, ओवरसीज अपार्टमेंट; सिटी सदर पहाड़गंज क्षेत्र में ओबेरॉय अपार्टमेंट, रोहतगी अपार्टमेंट; शाहदरा उत्तरी क्षेत्र में दिल्ली नगर निगम फ्लैट्स न्यू उस्मानपुर, डीडीए फ्लैट्स जाफराबाद; शाहदरा दक्षिणी क्षेत्र में सानी एनक्लेव, संचार लोक अपार्टमेंट; नरेला क्षेत्र में शांति अपार्टमेंट, इंदिरा कॉलोनी; सिविल लाइंस क्षेत्र में गुलाब वाटिका, मिरिंडा हाउस टीचिंग फ्लैट्स; केशवपुरम क्षेत्र में संदेश विहार, वसुधा एनक्लेव इत्यादि कॉलोनियों को जीरो वेस्ट कॉलोनी घोषित किया गया है।

दिल्ली नगर निगम ने एक अभियान शुरू किया है जिसके अंतर्गत हरित मित्र प्रमाणित कॉलोनियों को सम्मानित किया जाएगा। दिल्ली नगर निगम सहभागिता प्रमाणपत्र प्राप्त करने वाली कॉलोनियों को संपत्ति कर में 5 प्रतिशत की छूट प्रदान करेगा। इस छूट का इस्तेमाल आरडब्ल्यूए/ग्रुप हाउसिंग सोसाइटी आपसी सहमति से कॉलोनी के विकास कार्यों में खर्च कर सकेंगे। दिल्ली नगर निगम को इस अभियान में आरडब्ल्यूए का पूर्ण समर्थन प्राप्त हो रहा है एवं 28 आरडब्ल्यूए/एम टी ए को जीरो वेस्ट घोषित कर दिया गया है बाकि 28 हरित मित्र घोषित किए गये।

उपराज्यपाल ने इस अवसर पर इस पहल के सफल क्रियान्वन के लिए विशेष अधिकारी अश्विनी कुमार और निगमायुक्त ज्ञानेश भारती के नेतृत्व में किए जा रहे कार्यों की सरहाना करते हुए निगम अधिकारियों को बधाई दी। उन्होंने कहा जनभागीदारी के बिना कोई भी कार्य संभव नहीं है और दिल्ली नगर निगम के अधिकारी ग्रास रूट स्तर पर कार्य कर रहे हैं। आज 56 कॉलोनियों को सम्मानित किया जा रहा है जिसमे से 28 जीरो वेस्ट कॉलोनी हैं। लैंडफिल साइटों पर जमा लेगेसी कचरे को जान भागीदारी से खत्म करके दिल्ली के इस कलंक को मिटाया जा सकता है। उन्होंने इस कार्यक्रम की सफलता के लिए नारी शक्ति को धन्यवाद दिया।

दिल्ली नगर निगम के विशेष अधिकारी अश्वनी कुमार ने कहा कि प्रत्येक कॉलोनी को कचरे का निष्पादन एवं पुन चक्रण करना चाहिए। कॉलोनी के कचरे का निष्पादन कॉलोनी स्तर पर होना चाहिए। दिल्ली नगर निगम एवं आरडब्ल्यूए का संबंध सिर्फ कचरे के निष्पादन तक सीमित न होकर, उनकी संपत्ति कर संबंधी समस्या, सड़कों के सुधार के कार्यों, दुकानों के लाईसेंस इत्यादि में भी सहायता प्रदान करने में सहायक हो। दिल्ली नगर निगम के आयुक्त ज्ञानेश भारती ने इस अवसर पर कहा कि निगम की इस अनोखी पहल से कचरे के निस्तारण की समस्या एवं लैंडफिल साइटों पर मौजूद लेगेसी कचरे को हटाने में मदद मिलेगी। आरडब्ल्यूए की सहायता से निगम शहर को कचरा मुक्त बनाने की दिशा में कार्य करेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

14 − eight =

Must Read