Tuesday, June 11, 2024
Homeताजा खबरेंएमईएससी 25000 से अधिक अध्यापकों को देगा प्रशिक्षण : रमेश सिप्पी

एमईएससी 25000 से अधिक अध्यापकों को देगा प्रशिक्षण : रमेश सिप्पी

  • – एमईएससी स्कूल से लेकर कॉलेज तक के युवाओं को देगा प्रशिक्षण

नई दिल्ली: फिल्म निर्माता और मीडिया एंड एंटरटेनमेंट स्किल्‍स काउंसिल (एमईएससी) के अध्यक्ष रमेश सिप्पी ने आज मीडिया एवं मनोरंजन के क्षेत्र के लिए जरूरी स्किल इकोसिस्टम विकसित करने और फ्यूचर प्लान के बारे में घोषणा की। प्रेस क्लब नई दिल्ली में पत्रकारों को संबोधित करते हुए, रमेश सिप्पी ने कहा कि रिपोर्ट के अनुसार भारतीय मीडिया एंड एंटरटेनमेंट इंडस्‍ट्री दुनिया में सबसे तेजी से बढ़ रहा है और 2030 तक 100 बिलियन डॉलर तक पहुंचने का अनुमान है। भारत का गेमिंग इंडस्‍ट्री 2025 तक 700 मिलियन तक पहुंचने की उम्मीद है।

उन्होंने कहा कि एनीमेशन, विजुअल इफेक्ट्स, गेमिंग और कॉमिक्‍स (एवीजीसी) के लिए तेजी से बढ़ने के कारण भारत मेटावर्स के निर्माण में तेजी से बढ़ रहा है। अरबों डॉलर के बाजार के लिए भारतीय युवाओं को नवीनतम टेक्नोलॉजी, प्लेटफॉर्म, और दर्शकों के अनुसार स्किलिंग, अप-स्किलिंग और री-स्किलिंग करने की आवश्यकता है। इससे हमारे युवाओं को इस क्षेत्र में करियर के मौके मिलेंगे।

श्री सिप्पी ने बताया कि मीडिया और मनोरंजन उद्योग के भविष्य को देखते हुए स्कूल से उच्च शिक्षा कौशल प्रशिक्षण देने का निर्णय लिया गया है। इसके लिए नई शिक्षा नीति-2020 के अनुसार एनएसक्यूएफ आधारित पाठ्यक्रम स्कूल से स्नातकोत्तर स्तर तक शुरू किया जाएगा। एमईएससी ने भारत और विदेशों में विभिन्न कॉलेजों और विश्वविद्यालयों के साथ भी गठजोड़ किया है। हाल ही में एमईएससी ने सीबीएसई के साथ समझौता ज्ञापन किया है, जिसका उद्देश्‍य मीडिया एवं मनोरंजन क्षेत्र के लिए शिक्षकों के कौशल विकास, और प्रशिक्षण पर ध्‍यान केंद्रित किया जाए।

उन्‍होंने बताया कि एमईएससी ने प्रिंसिपल ओरिएंटेशन प्रोग्राम शुरू किया है। देश भर में शिक्षकों का प्रशिक्षण (टीओटी), व्यावसायिक केंद्रों, उद्योग, विश्वविद्यालयों और कॉलेजों में अप-स्किलिंग के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम चलाए जा रहे है। एमईएससी ने 2 साल के भीतर 25000+ प्रशिक्षकों के प्रशिक्षण देने का लक्ष्‍य रखा है। श्री सिप्पी ने कहा, “भारत का पहला सबसे बड़ा रचनात्मक और योग्यता परीक्षण MECAT (मीडिया और मनोरंजन क्रिएटिव एप्टीट्यूड टेस्ट) भी लॉन्च किया गया है। जिसके जरिये छात्रों के व्यक्तित्व, योग्यता और रचनात्मक कौशल का आकलन किया जाएगा। इससे युवाओं को अपने लिए सर्वश्रेष्ठ निर्णय लेने में मदद मिलेगी कि किस कार्यक्रम या संस्थान में भविष्‍य के लिए प्रशिक्षण लेना है।”

MECAT जूनियर (MECAT Jr.) स्कूली स्‍तर पर आयोजित किया जाएगा। केंद्र शासित प्रदेश लद्दाख में जल्द ही युवाओं के लिए MECAT और स्कूली बच्‍चों के लिए MECAT जूनियर आयोजित किया जाएगा। मोहित सोनी, मुख्य कार्यकारी अधिकारी, एमईएससी ने वर्ल्डस्किल्स स्पेशल एडिशन 2022 के विजेताओं को बधाई दी। उन्होंने बताया कि स्टीवन हैरिस आर (ग्राफिक डिजाइन टेक्नोलॉजी) और अभिनव वर्मा (3 डी डिजिटल गेम आर्ट) ने वर्ल्डस्किल्स स्पेशल एडिशन 2022 में मेडल ऑफ एक्सीलेंस जीता। उन्होंने बताया कि एमईएससी द्वारा प्रशिक्षित युवाओं ने अन्य अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं जैसे लंदन अंतरराष्ट्रीय रचनात्मक प्रतियोगिता, टोक्यो इंटीग्रेशनल फोटो अवार्ड आदि में भी अपना जौहर दिखाया है।

सोनी ने बताया कि इस क्षेत्र में रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने के लिए देश भर में रोजगार मेलों का आयोजन किया जा रहा है। नामचीन रेड चिलीज एंटरटेनमेंट, लक्ष्य डिजिटल, बोटवफैक्स, क्राफ्ट क्रिएशंस, क्रिएटिव स्प्लैश, गेटाफिक्स, पिक्सल डी स्टूडियो, आरजीबीए स्टूडियो, पिक्सज़ू स्टूडियो जैसे नियोक्ता जॉब फेयर में भाग ले रहे हैं। एमईएससी एक मेगा जॉब फेयर की भी योजना बना रहा है जो एक ही दिन विभिन्न शहरों में आयोजित किया जाएगा और जिसमें हजारों युवाओं को रोजगार मिलने की उम्मीद है। एमईएससी ने उद्योग जगत से सीएसआर का बजट युवाओं के स्किलिंग और स्किल इकोसिस्टम पर खर्च करने का भी आग्रह किया।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments