Homeअंतराष्ट्रीयगुजरात की जनता के पास 27 साल से विकल्प नहीं था, इस...

गुजरात की जनता के पास 27 साल से विकल्प नहीं था, इस बार ‘‘आप’’ विकल्प है, अब गुजरात में परिवर्तन होकर रहेगा : केजरीवाल

  • गुजरात की जनता इनको 27 साल से बर्दाश्त कर रही है, अब इनका अहंकार तोड़ने का समय आ गया है- अरविंद केजरीवाल
  • अपने बच्चों का भविष्य बनाने का यह मौका है, गुजरात के लोगों ने तय कर लिया है कि इस बार बदलाव लाना ही है- मेरी अपील है कि इस बार सभी इकट्ठे हो जाओ और भारी बहुमत के साथ ‘‘आप’’ की सरकार बनाओ, हम अपने सारे वादे पूरा करके दिखाएंगे- एक सरकारी रिपोर्ट के मुताबिक गुजरात में भारी बहुमत से ‘‘आप’’ की सरकार बनने जा रही है, इसके बाद से ये लोग पागल हो गए हैं- भाजपा और कांग्रेस की गुप्त बैठकें हो रही हैं कि कुछ भी होे जाए, लेकिन आम आदमी पार्टी की सरकार नहीं आनी चाहिए-
  • ‘‘आप’’ की सरकार आ गई तो लूट बंद हो जाएगी और सारा पैसा स्कूल और अस्पताल बनाने में चला जाएगा- ये लोग हमारे बच्चों को निकम्मा-नाकाबिल बोलते हैं और कहते हैं कि हमसे पूछ कर बच्चे पैदा किए थे – इनके बच्चे किसी लायक नहीं हैं, फिर भी वे कहीं बोर्ड के चेयरमैन बन जाते हैं और कहीं से टिकट मिल जाता है- मुझे राजनीति, भ्रष्टाचार, गुंडागर्दी करना नहीं आता, मैं शरीफ और पढ़ा-लिखा आदमी हूं, मेरे से स्कूल-अस्पताल बनवा लो, मैं बना दूंगा- हमने जनता की सेवा की है, स्कूल, अस्पताल, सड़कें, बिजली, पानी ठीक करके राष्ट्र निर्माण का काम किया है- गुजरात में ‘‘आप’’ की सरकार बनेगी, तो एक मार्च से सबके बिजली के बिल जीरो आने लगेंगे और पुराने बिल माफ हो जाएंगे- हम हर युवा के लिए रोजगार का इंतजाम करेंगे, रोजगार मिलने तक बेरोजगारी भत्ता देंगे और 10 लाख सरकारी नौकरियों का इंतजाम करेंगे- ‘‘आप’’ की सरकार बनने पर हर गांव में सरकारी स्कूल खोलेंगे और दिल्ली की तरह बच्चों को शानदार शिक्षा देंगे- गुजरात में कुछ अदभुत हो रहा है, ऐसा लग रहा है, जैसे भगवान झाड़ू चला रहे हैं, चारों तरफ लोगों में उत्साह का माहौल है- ‘‘आप’’ की सरकार बनेगी, तो सबसे पहले भ्रष्टाचार खत्म करेंगे, किसी को पैसा नहीं खाने देंगे और एक-एक पैसा जनता पर खर्च करेंगे- 27 साल से हर साल का बजट 2.5 लाख करोड़ रुपए का है, यह पैसा कहां गया, ये सारा पैसा इनके स्विस बैंकों में जाता है – ‘‘आप’’ की सरकार बनेगी, तो जनता की सरकार बनेगी, जनता के हिसाब से काम होगा और किसी नेता की नहीं चलेगी- कांग्रेस को वोट देने से कोई फायदा नहीं है, इस बार अपने बच्चों भविष्य के लिए आम आदमी पार्टी को वोट देना- अगर अपने बच्चों को बेरोजगार रखना है और गालियां खानी है, तो इनको वोट दे देना और अगर रोजगार चाहिए, तो ‘‘आप’’ को वोट दे देना : अरविंद केजरीवाल //// जनता कभी भ्रष्ट नहीं होती, नेता भ्रष्ट होते हैं, हमारे देश के नेता इस देश में खाते हैं, इसीलिए उनके विदेशों में खाते हैं-आजकल जुमलो की फैक्ट्री में नए-नए जुमले बन रहे हैं कि कौन से जुमलों से लोगों की भावनाएं भड़क सकती हैं, इनके जुमलों में मत आना- पहले हम झाड़ू से मकान और दुकान साफ करते थे, अब झाड़ू से पूरे हिन्दुस्तान की राजनीतिक गंदगी साफ करेंगे- ईवीएम का बटन न पंजे, न फूल, न हाथी, न तीर-कमान और न झाड़ू का है, वो गुजरात के लोगों के बच्चों के भविष्य का बटन है : भगवंत मान

नई दिल्ली/गुजरात, 01 अक्टूबर, 2022 : आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने आज पंजाब के सीएम भगवंत मान के साथ गुजरात के गांधीधाम और जूनागढ़ में जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि गुजरात की जनता के पास 27 साल से विकल्प नहीं था, पर इस बार आम आदमी पार्टी विकल्प है और अब गुजरात में परिवर्तन होकर रहेगा। गुजरात की जनता इनको 27 साल से बर्दाश्त कर रही है। अब इनका अहंकार तोड़ने का समय आ गया है। मेरी अपील है कि इस बार सभी इकट्ठे हो जाओ और भारी बहुमत के साथ ‘‘आप’’ की सरकार बनाओ। हम अपने सारे वादे पूरा करके दिखाएंगे। उन्होने कहा कि एक सरकारी रिपोर्ट के मुताबिक गुजरात में भारी बहुमत से ‘‘आप’’ की सरकार बनने जा रही है। इसके बाद से ये लोग पागल हो गए हैं। भाजपा और कांग्रेस की गुप्त बैठकें हो रही हैं कि कुछ भी होे जाए, लेकिन ‘‘आप’’ की सरकार नहीं आनी चाहिए। ‘‘आप’’ की सरकार आ गई तो लूट बंद हो जाएगी और सारा पैसा स्कूल और अस्पताल बनाने में चला जाएगा। ‘‘आप’’ के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने कहा कि ये लोग हमारे बच्चों को निकम्मा -नाकाबिल बोलते हैं और कहते हैं कि हमसे पूछ कर बच्चे पैदा किए थे। इनके बच्चे किसी लायक नहीं हैं, फिर भी वे कहीं बोर्ड के चेयरमैन बन जाते हैं और कहीं से टिकट मिल जाता है। ‘‘आप’’ की सरकार बनेगी, तो जनता की सरकार बनेगी। जनता के हिसाब से काम होगा और किसी नेता की नहीं चलेगी।

गुजरात के लोगों से बहुत प्यार मिला है, ‘‘आप’’ की सरकार बनने पर मैं आपके प्यार और विश्वास का कर्ज उतारूंगा- अरविंद केजरीवाल

आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक एवं दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने पंजाब के सीएम सरदार भगवंत मान के साथ आज गुजरात के गांधीधाम और जूनागढ़ में दो जनसभाएं की। गांधीधाम में जनसभा को संबोधित करते हुए ‘‘आप’’ के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने कहा कि पिछले कुछ महीने से मैं गुजरात आ रहा हूं। मुझे गुजरात के लोगों से बहुत प्यार मिला है। मैं इसको बयां नहीं कर सकता। मैं सिर्फ इतना कह सकता हूं कि दिसंबर के बाद जब आम आदमी पार्टी की सरकार बनेगी, तो मैं आपके प्यार और विश्वास का कर्जा उतारूंगा। हम जो कह रहे हैं, वो एक-एक काम करेंगे। मेरे को राजनीति करनी नहीं आती। मैं नेता नहीं हूं। मैं एक आम आदमी हूं। उपर वाले की कृपा हुई और उसने मुझे दिल्ली का मुख्यमंत्री बना दिया। मुझे राजनीति, भ्रष्टाचार और गुंडागर्दी करना नहीं आता है। मैं शरीफ आदमी हूं, मुझे काम करना आता है। मेरे से स्कूल, अस्पताल बनवा लो, मैं बना दूंगा। मैं पढ़ा-लिखा हूं। हमारी पार्टी ईमानदार और शरीफ लोगों की पार्टी है। पिछले सात साल से दिल्ली का मुख्यमंत्री हूं। छह महीने से भगवंत मान पंजाब के मुख्यमंत्री हैं। हमने जनता की सेवा की है। हमने गरीबों की सेवा की है। दुखी लोगों का दुख दूर किया है। परेशान लोगों की परेशानियां दूर की है। हमने खूब स्कूल, अस्पताल, सड़कें बनाई है, बिजली-पानी ठीक करके राष्ट्र निर्माण का काम किया है। आज हमारे पास बैंक अकाउंट में एक भी पैसा नहीं है, लेकिन हमने पुण्य बहुत कमाए हैं। आज हमारे उपर करोड़ों लोगों का आशीर्वाद है।

अगर गुजरात में ईमानदार पार्टी ‘‘आप’’ की सरकार आएगी, तो दिल्ली और पंजाब की तरह गुजरात के लोगों का भी बिजली का बिल जीरो आएगा- अरविंद केजरीवाल

‘‘आप’’ के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने कहा कि पिछली बार जब मैं गुजरात आया था, तो एक आदमी मेरे पास आकर बोला कि गुजरात में बहुत महंगाई हो गई है। जीना मुश्किल हो गया है। वो अपना बिजली का बिल लेकर आया था। उसका बिल करीब साढ़े तीन हजार रुपए का था। एक कमरे का घर है। एक पंखा और एक बल्ब जलता है। इसके अलावा पुराना 70 हजार का बिल अलग से निकाल रखा है। जब इसे बिजली दफ्तर में ठीक कराने जाता हूं, तो वो पैसे मांगते हैं। पहले झूठा बिल बनाकर भेजते हैं और जब ठीक कराने जाओ, तो पैसे मांगते हैं। इतनी महंगाई में बच्चे कैसे पालें। हमने दिल्ली में सब लोगों के बिजली के बिल जीरो कर दिए और सारे पुराने बिजली के बिल माफ कर दिए। पंजाब में भी सबके बिजली के बिल जीरो कर दिए और पुराने बिल भी माफ कर दिए। अब दिल्ली और पंजाब में बिजली का बिल जीरो आता है। अगर ईमानदार सरकार गुजरात में आएगी, तो गुजरात में भी हो सकता है। ये मुझे खूब गालियां देते हैं और कहते हैं कि केजरीवाल फ्री की रेवड़ी बांट रहा है। केजरीवाल बिजली फ्री क्यों देता है? गुजरात के सीएम को हर महीने 5 हजार यूनिट बिजली फ्री मिलती है। मंत्रियों को 4-4 हजार यूनिट हर महीने बिजली फ्री मिलती है। जब सीएम को 5 हजार यूनिट हर महीने फ्री बिजली मिलती है, तो जनता को 300 यूनिट बिजली मिलनी ही चाहिए। आप गुजरात में आम आदमी पार्टी की सरकार बना दो। मैं मैं गारंटी देकर रहा हूं कि एक मार्च से सबके बिजली के बिल जीरो आने लगेंगे और सबके पुराने बिजली के बिल माफ हो जाएंगे।

हमारी सरकार बनने पर हम 18 साल से उपर ही हर महिला के खाते में एक-एक हजार रुपए देंगे- अरविंद केजरीवाल

‘‘आप’’ के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने कहा कि हमारी सरकार बनने पर 18 साल से उपर ही हर महिला को एक-एक हजार रुपए उनके खाते में देंगे। अगर किसी परिवार में दो या तीन महिलाएं हैं, तो उनको अलग-अलग एक-एक हजार रुपए मिलेंगे। हर महीने एक-एक हजार रुपए मिलने से कई बच्चियों की पढ़ाई पूरी हो जाएगी। आजकल बहुत महंगाई हो गई है। हजार रुपए मिलेगा, तो एक मां उससे अपने बच्चे के लिए दूध ले सकती है, उसकी पढ़ाई का ख्याल रख सकती है। पिछली बार जब जब मैं गुजरात आया तो मुझसे एक युवक मिलने आया। उसने कहा कि मैं इनकी पार्टी के नेता से मिलने गया और नौकरी मांगा, तो उसने कहा कि तुम लोग निकम्मे और नाकाबिल हो। इसलिए तुमको नौकरी नहीं मिलती है। ये हमारे बच्चों को गाली देते हैं। नेताओं के बच्चे निकम्मे हैं। आपके बच्चे बहुत बुद्धिमान हैं, लेकिन अभी तक नौकरी नहीं मिली। नेताओं के बच्चे किसी लायक नहीं हैं, फिर भी वे कहीं बोर्ड के चेयरमैन बन जाते हैं तो कहीं से टिकट मिल जाता है। एक और बच्चे ने मुझसे मिलकर कहा कि मैंने अपने नेता से नौकरी मांगा। उस नेता ने कहा कि नौकरी नहीं थी, तो तेरे बाप ने पैदा क्यो किया। क्या अब इन पार्टियों से पूछ कर बच्चे पैदा करेंगे? इनको 27 साल में इतना अहंकार हो गया है कि हम लोगों को गालियां देते हैं। ये हमारे बच्चों को निकम्मा और नाकाबिल बोलते हैं। हमसे कहते हैं कि बच्चे हमसे पूछ कर पैदा किए थे। अब तो इनको हटा दो। दिल्ली में मैने 12 लाख बच्चों के लिए रोजगार दिलाए। भगवंत मान ने पिछले छह महीने में 17 हजार बच्चों को सरकारी नौकरियां दी हैं। हमारी नीयत भी है और हमें काम भी करने आता है। हमने वादा किया है कि गुजरात में हमारी सरकार बनने पर हर बच्चे के लिए रोजगार का इंतजाम करेंगे। जब तक रोजगार नहीं मिलता, तब तक हर महीने तीन हजार रुपए बेरोजगारी भत्ता दिया जाएगा और 10 लाख सरकारी नौकरियों का इंतजाम करेंगे। अगर अपने बच्चों को बेरोजगार रखना है और गालियां खानी है, तो इनको वोट दे देना। पिछले 27 साल से यही चल रहा है। अगर रोजगार चाहिए, तो आम आदमी पार्टी को वोट दे देना।

हमारी सरकार हर जिले में एक-एक बड़ा सरकारी अस्पताल खोलेगी और दिल्ली की तरह सबका सारा इलाज मुफ्त होगा- अरविंद केजरीवाल

‘‘आप’’ के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में हमने सरकारी स्कूलों को बहुत शानदार कर दिया। जैसे आज गुजरात में सरकारी स्कूलों का हाल है, वैसे ही हमारी सरकार से पहले दिल्ली के सरकारी स्कूलों का भी बुरा हाल था। हमने दिल्ली में खूब सारे सरकारी स्कूल खोल दिए। दिल्ली में सरकारी स्कूलों के नतीजे भी अच्छे आ रहे हैं। अब मजदूरों, रिक्शेवालों, कारपेंटर, मोची के बच्चे डॉक्टर बन रहे हैं। दिल्ली के सरकारी स्कूलों के हजारों बच्चे हैं, जिनका डॉक्टरी और इंजीनियरिंग में एडमिशन हो रहा है। दिल्ली में अब बहुत से लोग प्राइवेट स्कूलों से अपने बच्चों को निकाल कर सरकारी स्कूलों में भर्ती करा रहे हैं। डॉक्टर, इंजीनियर बनने वाले बच्चो की सैलरी दो-तीन लाख रुपए महीना होगी और इतने सारे लोगों की गरीबी दूर हो जाएगी। ये लोग पूरे कच्छ के अंदर एक के बाद एक सरकारी स्कूल बंद करते जा रहे हैं। मैं गारंटी देता हूं कि हमारी सरकार बनने पर हर गांव में सरकारी स्कूल खोला जाएगा और दिल्ली की तरह यहां भी बच्चों को शानदार शिक्षा देंगे। आपके बच्चे आपकी गरीबी दूर करेंगे और आपका नाम रौशन करेंगे। दिल्ली में हम लोगों ने सरकारी अस्पताल में हर आदमी का इलाज मुफ्त कर दिया है। सारी दवाइयां, सारा टेस्ट और ऑपरेशन मुफ्त है। ऐसे ही गुजरात में भी करेगे। खासकर कच्छ के इलाके में सरकारी अस्पताल नहीं है। हमारी सरकार बनने पर हम हर जिले में एक-एक बड़ा सरकारी अस्पताल खोलेंगे। दिल्ली की तरह सारा इलाज मुफ्त करेंगे।

ये लोग मुझे ठग कहते हैं, कौन सा ऐसा ठग होगा, जो आपके बच्चों की पढ़ाई और आपका मुफ्त इलाज कराने की बात करेगा- अरविंद केजरीवाल

‘‘आप’’ के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने कहा कि गुजरात की जनता इन लोगों को पिछले 27 साल से बर्दाश्त कर रही है। अब इनका अहंकार तोड़ने का समय आ गया है। थोड़े दिन पहले एक सरकारी रिपोर्ट आई है। उस रिपोर्ट के मुताबिक गुजरात के अंदर भारी बहुमत से आम आदमी पार्टी की सरकार बनने जा रही है। जब से यह रिपोर्ट आई है, ये लोग पागल हो गए हैं। इन्होंने चारों तरफ खूब गुंडागर्दी चालू कर दी है और लोगों को धमकाना चालू कर दिया है। मुझे पता चला है कि अब भाजपा और कांग्रेस की गुप्त बैठक हो रही है कि कुछ भी हो, लेकिन आम आदमी पार्टी की सरकार नहीं आनी चाहिए। चाहे कांग्रेस की सरकार आ जाए या भाजपा की आ जाए, लेकिन आम आदमी पार्टी को रोको। आम आदमी पार्टी वाले आ गए, तो हमारी लूट बंद हो जाएगी। आम आदमी पार्टी की सरकार आ गई, तो सारा पैसा स्कूल, अस्पताल बनाने में चला जाएगा। दोनों पार्टियों मिलकर मुझको गालियां दे रही हैं। एक पार्टी कहती है कि केजरीवाल कमीना है, तो दूसरी कहती है कि केजरीवाल ठग है। कौन सा ऐसा ठग होगा, जो आपके बच्चों की पढ़ाई की बात करेगा, आपका मुफ्त में इलाज कराना चाहेगा। भाजपा और कांग्रेस नहीं चाहती है कि गुजरात और आपके बच्चो की तरक्की हो। दोनों नहीं चाहती हैं कि आपके बच्चों का भविष्य बने। इस बार बदलाव कर दो। यहां पर बहुत सारे मच्छीमार भाई-बहन और उनके परिवार के लोग आए हैं। वे लोग मुझसे मिले थे। मैंने आपके सारे मुद्दे समझ लिए हैं। एक मौका दीजिए, मैं यकीन दिलाता हूं कि सरकार बनने के बाद आपकी सारी मांगे पूरी करेंगे। कई इलाको में नर्मदा का पानी आना था। मैं वादा करके जा रहा हूं कि एक साल के अंदर नर्मदा का पानी कच्छ के कोने-कोने पहुंचा देंगे। आपके पास अपने बच्चों का भविष्य बनाने का यही मौका है। आपके पास 27 साल विकल्प नहीं था। आप भाजपा को वोट नहीं देते, तो किसको देते। कांग्रेस तो किसी लायक नहीं है। लोग कांग्रेस को वोट देकर खराब नहीं करना चाहते। इस बार उपर वाले ने आपको मौका दिया है। सभी लोग इकट्ठे हो जाओ और इस बार आम आदमी पार्टी को भारी बहुमत के साथ सरकार बनाओ। दिल्ली में हमारी 70 में 67 सीट आई थी। पंजाब में 117 में से 92 सीट आई थी। इस बार गुजरात के लोग दिल्ली और पंजाब का रिकॉर्ड तोड़ दो। हमें इतना भारी बहुमत दीजिए कि हमने जितने वादे किए हैं, वो सारे वादे पूरे करके दिखाएंगे।

मैं सीधा-साधा आदमी हूं, मैं किसी को हराने नहीं आया हूं, मैं एक-एक गुजराती को जिताने आया हूं – अरविंद केजरीवाल

जूनागढ़ में जनसभा को संबोधित करते हुए ‘‘आप’’ के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने कहा कि आशा वर्कर्स के कुछ लोग मुझसे मिलने आए थे। मैंने सारी बातें समझ ली हैं। आप मुझे जिता दो, मैं तीन महीने में आपकी सारी मांगे पूरी कर दूंगा। मैं यहां किसी को हराने नहीं आया हूं। मैं सीधा-साधा आदमी हूं। मैं एक-एक गुजराती को जिताने आया हूं। अब ऐसा लग रहा है कि गुजरात के अंदर कुछ अदभुत हो रहा है। ऐसा लग रहा है, जैसे भगवान झाड़ू चला रहा है। चारों तरफ लोगों में उत्साह है। अगर आप लोगों ने हमें पांच साल का एक मौका दिया, तो आपके प्यार का सारा कर्ज उतार दूंगा। दिसंबर के महीने में सरकार बनेगी, तो सबसे पहले भ्रष्टाचार खत्म करेंगे। गुजरात में बहुत भ्रष्टाचार हैं। गुजरात सरकार का 2.5 लाख करोड़ रुपए का बजट है और आपके उपर इन्होंने 3.5 लाख करोड़ रुपए का कर्जा चढ़ा दिया है। 27 साल से इनकी सरकार है और 27 साल से हर साल का बजट 2.5 लाख करोड़ रुपए का है। इतना पैसा कहां गया? हर चीज पर टैक्स लगता है। अरबों-खरबों ये इकट्ठा करते हैं। ये पैसा कहां जाता है। ये सारा पैसा इनके स्विस बैंकों में जाता है। एक-एक नेता ने 10-10 कोठियां बना रखी है। बेनामी जमीनें खरीद रखी है। इन्होंने इतना पैसा इकट्ठा कर लिया है कि इनकी सात पीढ़ियां घर बैठे खाएंगी। फिर भी कहते हैं कि घाटे में बजट चल रहा है। इसे बंद करेंगे। दिसंबर के बाद से मुख्यमंत्री, कोई मंत्री या विधायक पैसा नहीं खाएगा और किसी अफसर को पैसा नहीं खाने देंगे। एक-एक पैसा पैसा जनता पर खर्च किया जाएगा। पंजाब में भगवंत मान का एक मंत्री थोड़ी गड़बड़ कर रहा था। इन्होंने उसको जेल भेज दिया। मीडिया और विपक्ष को भी पता नहीं था। आम आदमी पार्टी इतनी कट्टर ईमानदार पार्टी है। आम आदमी पार्टी की सरकार बनेगी, तो कोई चोरी नहीं करने देंगे और इन्होंने जितनी चोरी कर रखी है, वो सारा पैसा वापस लेंगे। गुजरात के एक-एक पैसे का इनसे हिसाब लेंगे। पुराने जितने भी घोटाले कर रखे हैं, इनसे सारा पैसा वापस लेंगे। दिसंबर के बाद आपको किसी भी सरकारी दफ्तर में काम कराने के लिए रिश्वत देने की जरूरत नहीं पड़ेगी। ऐसी व्यवस्था करेंगे कि सरकार आपके घर आकर आपका काम करके जाएगी। दिल्ली में हमने यह लागू कर दिया है, गुजरात में भी लागू करेंगे। अभी तक जितने पेपर लीक हुए हैं, उसमें जरूर कोई न कोई बड़ा नेता शामिल है। 2015 के बाद से जितने पेपर लीक हुए हैं, सबकी जांच कराएंगे और जितने बड़े-बड़े नेता शामिल हैं, सबको जेल भेजेंगे। तलाटी के पेपर में 25 लाख बच्चों ने आवेदन किया था, जिसे इन्होंने रद कर दी। हमारी सरकार बना दो, फरवरी में तलाटी का पेपर करा दूंगा।

जूनागढ़ में सारी सड़कें टूटी पड़ी है, दिसंबर में हमारी सरकार बनने के बाद 6 महीने के अंदर सारी सड़कें बनवा देंगे- अरविंद केजरीवाल

‘‘आप’’ के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने कहा कि चुनाव के डेढ़ महीने रह गया है। अब इनके बड़े-बड़े नेता पूरे देश से आएंगे। कांग्रेस और भाजपा दोनों मिलकर एक जैसी गालियां देते हैं। सरकार की एक गुप्त रिपोर्ट आई है। वो रिपोर्ट कह रही है कि गुजरात में आम आदमी पार्टी की भारी बहुमत के साथ सरकार बनने जा रही है। तबसे ये लोग पागल हो गए हैं। इन्होंने हमारे स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन को गिरफ्तार कर लिया। अब ये शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया को गिरफ्तार करने वाले हैं। मनीष सिसोदिया वो आदमी हैं, जिन्होंने सरकारी स्कूल शानदार बनाकर बच्चों का भविष्य बना दिया। हमें इनकी जेल से डर नहीं लगता है। कितने दिन जेल में रखेंगे। बाहर निकल कर फिर अच्छा काम शुरू कर देंगे। आजकल भाजपा वालों ने एक और काम शुरू किया है। वो आकर आपके कान में बोलेंगे कि ये लोग अच्छे तो हैं, लेकिन इस बार नहीं, अगली बार। अगर ऐसा कोई आकर बोले, तो समझ जाना कि वो भाजपा का है और उसको बोलना कि अगली बार नहीं, इसी बार आम आदमी पार्टी की सरकार बनानी है। 27 साल के बाद इनको बहुत ज्यादा अहंकार हो गया है। ये लोग गुंडागर्दी और गाली-गलौंच करते हैं। इनके खिलाफ कोई कुछ बोल दे, तो मारपीट करने पर उतर आते हैं। आम आदमी पार्टी की सरकार बनेगी, तो जनता की सरकार बनेगी, जो जनता कहेगी, वही सरकार करेगी। जनता के हिसाब से काम होगा। किसी नेता और मुख्यमंत्री की नहीं चलेगी। कांग्रेस को वोट देने से कोई फायदा नहीं है। अपना वोट बेकार करेंगे। अपने बच्चों भविष्य के लिए आम आदमी पार्टी को वोट देना। जूनागढ़ में सारी सड़कें टूटी पड़ी हैं। दिसंबर में सरकार बनेगी और 6 महीने में सारी सड़कें बनवा देंगे। वैसे कागजों में सड़कें बन चुकी होंगी। ये लोग सारा पैसा खा गए होंगे। कागज में सड़क बन जाती है और पैसा खा जाते हैं और जनता को सड़क नहीं मिलती है।

हम स्कूल, अस्पताल, बिजली, सड़क की बात करते हैं, लेकिन ये लोग जाति-धर्म की बात करते हैं- भगवंत मान

गांधीधाम में जनसभा को संबोधित करते हुए पंजाब के सीएम भगवंत मान ने मैंने सुना था कि कच्छ के लोग इंकलाबी हैं। कच्छ वाले जो फैसला कर देते हैं, पूरा गुजरात वही फैसला करता है। मैंने आज यह देख भी लिया कि यहां वही जय-जवान, जय-किसान के नारे लग रहे हैं, जो पंजाब में लगते थे और आज भी लगते हैं। इसका मतलब यह है कि कच्छ के लोगों की समस्याएं भी गरीबी, बेरोजगारी और महंगाई की ही है, जो पूरे देश की है। 28 सितंबर को अभी शहीद भगत सिंह का जन्म दिन था। उनको आजादी कैसे आएगी, इसकी चिंता नहीं थी। उनको यकीन था कि आजादी तो मिलेगी ही, लेकिन आजादी के बाद देश कौन से हाथों में जाएगा और उनकी यह चिंता बिल्कुल सही था। हम आजादी की 75वीं वर्षगांठ मना रहे हैं, लेकिन हमारे घरों में आजादी नहीं पहुंच सकी, क्योंकि वो आजादी इनके महलों और लालबत्ती वाली गाड़ियों में रह गई। आज अरविंद केजरीवाल जी की अगुआई में आम आदमी पार्टी उसी लड़ाई को लड़ रही है। लेकिन ये हमें आने नहीं देते हैं। हम कोई होटल, मैरिज प्लेस बुक करते हैं, तो उनको धमका कर डरा देते हैं। ये केजरीवाल से नहीं डरते हैं, ये जनता से डरते हैं। भाजपा वालों को यही जनसभा करने में 10-15 करोड़ रुपए का खर्चा आएगा। बसों में लाते हैं, खाना खिलवाते हैं और मोदी-मोदी का नारा लगवाते हैं। उनको बहुत काम करना पड़ता है। हमारे यहां कुछ नहीं करना पड़ता है। सिर्फ केजरीवाल जी का नाम लेना पड़ता है, लोग अपने आप आ जाते हैं। क्योंकि हम स्कूल, अस्पताल, बिजली, सड़क की बात करते हैं, लेकिन ये जाति-धर्म की बात करते हैं। ये लोग दिल्ली में दो बार हारे। इन्होंने दिल्ली में धर्म की बहुत बातें की, लेकिन दिल्ली वालों ने इनको इन्कार कर दिया। दिल्ली वालों ने कहा कि हमें केजरीवाल के स्कूल-अस्पताल अच्छे हैं, हमें इलाज, बिजली और पानी अच्छा मिल रहा है। हम तो केजरीवाल को वोट डालेंगे। मैं हैरान हूं कि इनको 27 साल हो गए। हर साल पेड़ भी अपने पत्ते बदल लेता है। इस बार इनको बदलो।

पंजाब में अभी छह महीने सरकार बने हुए हुआ, आज पंजाब में 51 लाख लोगों का बिजली का बिल जीरो आ रहा है- भगवंत मान

पंजाब के सीएम भगवंत मान ने कहा कि पहले आपके पास कोई विकल्प नहीं था। कांग्रेस का हाल सब देख ही रहे हैं। उनके यहां कोई अध्यक्ष बनने को तैयार नहीं है। कांग्रेस सबसे पुरानी राष्ट्रीय पार्टी है, लेकिन दिल्ली में पिछले दो चुनावों से उसकी जीरो सीट है। वो जिस इलाके में रहते हैं, उस इलाके के विधायक सीएम अरविंद केजरीवाल जी हैं। जनता कभी भ्रष्ट नहीं होती, नेता भ्रष्ट होते हैं। हमारे देश के नेता इस देश में खाते हैं, इसीलिए उनके विदेश में खाते हैं। पंजाब में छह महीने सरकार बने हुए हैं। एक जुलाई से 300 यूनिट प्रति माह मुफ्त है। पंजाब में 74 लाख मीटर लगे हैं, उनमें से 51 लाख लोगों का जीरो बिल आया है। हमने भ्रष्टाचार बंद कर दिया है। पैसे बचने लगे हैं। उसी पैसे को जनता को दे रहे हैं। उससे स्कूल, अस्पताल, सड़कें बना रहे हैं। रेडराज बंद कर दिया है। क्या किसी को 15 लाख रुपए मिले। 15 लाख का जुमला था। आजकल जुमलो की फैक्ट्री चल गई है। उसमें नए-नए जुमले बन रहे हैं कि कौन से जुमलों से लोगों की भावनाएं भड़क सकती है। इनके जुमलों में मत आना। इस झाड़ू से पहले हम मकान और दुकान साफ करते थे, अब अरविंद केजरीवाल की अगुआई में झाड़ू से पूरा हिन्दुस्तान साफ किया जाएगा और राजनीतिक गंदगी उठाकर बाहर फेंक देंगे। जब आप वोट देने जाना, तो मेरी एक बात याद रखना कि ईवीएम का जो बटन है, वो न पंजे, न फूल, न हाथी, न तीर-कमान और न झाड़ू का है, वो बजट आपके बच्चों के भविष्य का बटन है। सही बटन दबाओगे, परिवार का भविष्य बन जाएगा और पहले वाली गलतियां करोगे, तो पांच साल और सही। अंग्रेजों ने हमें 200 साल की इकट्ठे गुलामी दी, ये हमें पांच-पांच साल की किश्तों में दे रहे हैं।

मुझे नहीं पता है कि आपके अच्छे दिन आए या नहीं आए, लेकिन दिसंबर के बाद केजरीवाल जी वाले सच्चे दिन जरूर आने वाले हैं- भगवंत मान

वहीं, जूनागढ़ में जनसभा को संबोधित करते हुए पंजाब के सीएम सरदार भगवंत मान ने कहा कि एक ही हमारे पास कोयला, हर किस्म का मौसम है, ईमानदार लोग हैं, सिर्फ सच्ची और ईमानदार नीयत वाली सरकारों की कमी है। दिसंबर में वो भी पूरी हो जाएगी। मुझे यह नहीं पता है कि आपके अच्छे दिन आए हैं या नहीं आए हैं, लेकिन दिसंबर के बाद केजरीवाल जी वाले सच्चे दिन जरूरत आने वाले हैं। ये लोग हमें जानबूझ कर पढ़ाना नहीं चाहते हैं। इनको पता है कि गरीब का बच्चा शिक्षित हो गया, तो बड़ा अफसर हो गया। उसके घर की गरीबी दूर हो जाएगी और गरीबी दूर हो गई, तो नेताओ के महलों के सामने हाथ में अर्जी लेकर लाइन लगाकर कौन खड़ा होगा। इसलिए ये जानबूझ कर हमारे बच्चों को पढ़ने नहीं देते हैं। अरविंद केजरीवाल आईआरएस थे, इनकम टैक्स में बहुत पैसे कमा सकते थे। हमें इसलिए राजनीति में आना पड़ा, क्योंकि ये बहुत निकम्मे निकले। हम आप लोगों में से हैं। आप जैसे हैं और आप के जैसे ही रहेंगे। इनसे डरना नहीं। ये लालच भी देते हैं। अपनी मर्जी से वोट देना। बाहर से भले ही उनकी रैली में चले जाओ और उनका झंडा भी लगा लेना। अगर ये पैसे दें, तो मना मत करना। आपके ही लूटे हुए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

15 − four =

Must Read