Sunday, April 21, 2024
Homeताजा खबरेंशबरी उद्धार की लीला का मंचन किया

शबरी उद्धार की लीला का मंचन किया

  • चित्रकूट पर भरत मिलाप की लीला देख दर्शक हुए भाव विभोर
  • राम का जीवन प्रेरणादायक : डॉ हर्षवर्धन
  • माता- पिता का करें सम्मान : सतीश गर्ग

नई दिल्ली, 20 अक्टूबर 2023 : आदर्श रामलीला कमेटी अशोक विहार फेस 2 में सीता हरण, सूर्पनखा अंग भंग, शबरी उद्धार की लीला का मंचन किया गया। दर्शकों को पंचवटी के अलौकिक दृश्यों का अवलोकन करने को मिला जिसमें जीवित पक्षियों के द्वारा अद्भुत क्रीडा की। बता दें कि गुरुवार को केवट मिलन, दशरथ मरण और चित्रकूट पर भरत मिलाप की लीला का मंचन निपुण कलाकारों द्वारा प्रस्तुत किया गया। विशेष विकसित तकनीकी के प्रयोगों से पहाड़, झरने, नदी, बादल, बिजली का कड़कड़ाना, पक्षियों का चहकना, सुंदरबन, आदि के प्राकृतिक दृश्य को दिखाया गया। चित्रकूट पर भरत मिलाप की लीला देख दर्शक भाव विभोर हो गए।

मुख्य अतिथि के रूप में डॉ हर्षवर्धन पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं सांसद व सतीश गर्ग कोषाध्यक्ष भाजपा दिल्ली प्रदेश उपस्थित हुए। इस अवसर पर डॉ हर्षवर्धन ने कहा कि श्री राम के चरित्र का वर्णन शब्दों में तो हो ही नहीं सकता श्रीराम अत्यंत शक्तिशाली थे किंतु उन्होंने कभी अपनी शक्तियों का दुरुपयोग नहीं किया तथा युद्ध में भी उन्होंने सदा मर्यादाओं का पालन किया हमें उनके जीवन से प्रेरणा लेनी चाहिए।

  सतीश गर्ग  ने कहां कि माता- पिता का सम्मान करना चाहिए। सारी प्रजा तथा परिवार को बिलखता छोड़कर श्रीराम ने जंगलों का रास्ता अपनाया और दुनिया को  संदेश दिया कि माता- पिता की आज्ञा के सामने हर वस्तु तुच्छ है । अध्यक्ष अशोक गर्ग व महामंत्री अनिल यादव ने जल संरक्षण में सहयोग हेतु अपील की।  कार्यक्रम में देवराज  , विजय बंसल, चंदन शर्मा, नितिन बत्रा, प्रदीप गोयल, प्रवीण कुमार सिंह, देवेंद्र गुप्ता, संदीप खंडेलवाल, आनंद गुप्ता, बिट्टू हार्मिलापी , सुरेश गर्ग, राहुल गुप्ता उपस्थित रहे।

  • – सीता राम लक्ष्मण जी का अत्री-अनसूया आश्रम में निवास
  • श्री नवयुवक रामलीला कमेटी कश्मीरी गेट के तत्वाधान में सीता राम लक्ष्मण जी का अत्री-अनसूया आश्रम में निवास पंचवटी में निवास खर दूषण वध, सुपनखां प्रसंग रावण के दरबार में सुपनखा की नाक काटने के बारे में नमक मिर्च लगाकर व्याख्यान व बदले की गुहार स्वर्ण मृग प्रसंग, मारीच वध सीता हरण, जटायु वध की तक की लीला का मंचन हुआं। खर दूषण का संजीव अभिनय अशोक बबली प्रफुल्ल मिश्रा द्वारा किया गया
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments