Thursday, February 22, 2024
Homeताजा खबरेंएसओएल : गैर शैक्षिक पदों पर एक दशक बाद हुई 45 कर्मियों...

एसओएल : गैर शैक्षिक पदों पर एक दशक बाद हुई 45 कर्मियों की पदोन्नति, किया स्वागत  

 पदोन्नति करने पर प्रिंसिपल प्रो. पांडेय का किया स्वागत – जल्द ही नॉन टीचिंग पदों का विज्ञापन निकाला जाएगा – यहाँ 2011 से बाद से नॉन टीचिंग की कोई पदोन्नति नहीं हुई थीं

नई दिल्ली, 4 जुलाई 2022: दिल्ली विश्वविद्यालय से संबद्ध मुक्त शिक्षा विद्यालय ( एसओएल ) में गैर शैक्षिक पदों पर विभिन्न विभागों के लगभग 45 कर्मियों की पदोन्नति किए जाने पर एसओएल के प्रिंसिपल प्रो. उमाशंकर पांडेय का दिल्ली टीचर्स एसोसिएशन ( डीटीए ) के अध्यक्ष डॉ. हंसराज सुमन, सत्यपाल व मुकेश मीणा ने उनके कार्यालय में पुष्पगुच्छ व मिठाई खिलाकर स्वागत किया। प्रो. पांडेय ने डॉ. हंसराज सुमन व कर्मचारी यूनियन के  सत्यपाल को आश्वासन दिया है कि बाकी बचे गैर शैक्षिक कर्मियों की नियुक्ति व पदोन्नति की प्रक्रिया अक्टूबर में फिर से शुरू की जाएगी।

डीटीए के अध्यक्ष डॉ. हंसराज सुमन को प्रिंसिपल ने बताया है कि एसओएल में लगभग 45 कर्मियों की पदोन्नति एक दशक बाद हुई है। जिन विभागों में कर्मियों की पदोन्नति हुई है उसमें एसओ 9, सीनियर असिस्टेंट 11, असिस्टेंट 5, जेएसीटी 6  के अलावा लाइब्रेरी में, एसपीए 2, पीए 4, जेएलआईओ 3 पदों पर पदोन्नति हुई। इसके अतिरिक्त कुछ अन्य विभागों में भी पदोन्नति हुई है। उन्होंने डीटीए प्रतिनिधिमंडल को आश्वासन दिया है कि एससी /एसटी , ओबीसी कोटे की सेकंड ट्रांच के पदों को भरने के लिए रोस्टर रजिस्टर तैयार किया जा रहा है, नॉन टीचिंग का रोस्टर पास होकर आए गया है जबकि टीचिंग पदों का रोस्टर जल्द ही तैयार करके विश्वविद्यालय प्रशासन को पास कराने के लिए भेजा जाएगा। 

डीटीए अध्यक्ष डॉ. हंसराज सुमन ने प्रोफेसर पाण्डेय को बताया है कि मुक्त शिक्षा विद्यालय ( एसओएल ) में पिछले तीन दशक से शिक्षकों की नियुक्ति नहीं की गई । यहाँ शिक्षकों के लगभग 100 पदों पर नियुक्ति होनी है । यहां 75 से 80 फीसदी शिक्षकों की सीटें खाली पड़ी हुई है । इन पदों में सबसे ज्यादा आरक्षित वर्गाे की है ,एससी/एसटी और ओबीसी कोटे के  कुछ पदों पर एडहॉक शिक्षकों की नियुक्ति हुई है । एसओएल प्रिंसिपल प्रोफेसर पाण्डेय ने डीटीए अध्यक्ष डॉ. हंसराज सुमन को आश्वासन दिया है कि उन्होंने नॉन टीचिंग के रिक्त पदों को भरने के लिए विश्वविद्यालय को रोस्टर रजिस्टर भेजा हुआ था जो पास होकर आ गया है ।

जल्द ही नॉन टीचिंग पदों का विज्ञापन निकाला जाएगा। उन्होंने यह भी आश्वासन दिया है कि एसओएल में लंबे समय से शिक्षकों की नियुक्ति नहीं हुई है ,इस प्रक्रिया को शुरू करने के लिए पहले पदों का विज्ञापन देकर उसकी स्क्रीनिंग व स्कूटनी होने के बाद शिक्षकों के पदों पर भर्ती की प्रक्रिया शुरू की जाएगी । साथ ही उन्होंने यह भी आश्वासन दिया है कि नॉन टीचिंग के पदों का रोस्टर रजिस्टर पास होकर आ गया है उनके पदों को जल्द ही विज्ञापित किया जाएगा।

 डॉ. पाण्डेय ने डॉ. सुमन को बताया कि उनके यहाँ 2011 से बाद से नॉन टीचिंग की कोई पदोन्नति नहीं हुई थीं उन्होंने कार्यवाहक प्रिंसिपल का पदभार संभालते ही नॉन टीचिंग की पदोन्नति कराई, इसमें उन्होंने बताया कि यह सब डायरेक्टर प्रोफेसर पायल मग्गो, डीन ऑफ कॉलेजिज प्रोफेसर बलीराम पाणी, रजिस्ट्रार डॉ. विकास गुप्ता का बड़ा योगदान रहा है। उन्होंने यह भी बताया कि जल्दी ही टीचिंग व नॉन टीचिंग रिक्त पदों की प्रक्रिया जल्द शुरू की जाएगी और जिस वर्ग के जो पद बनते हैं उनको रोस्टर के हिसाब से बिना विलंब किए पदों को भरे जाने का आश्वासन दिया है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments