Friday, April 12, 2024
Homeअंतराष्ट्रीयप्रदेश अध्यक्ष, महापौर ने “लॉकडाउन से लॉकडाउन तक” पुस्तक का किया विमोचन

प्रदेश अध्यक्ष, महापौर ने “लॉकडाउन से लॉकडाउन तक” पुस्तक का किया विमोचन

मुकेश कुमार शर्मा द्वारा लिखित “लॉकडाउन से लॉकडाउन तक” पुस्तक का किया विमोचन

नई दिल्ली: दिल्ली भाजपा प्रदेश अध्यक्ष आदेश कुमार गुप्ता और उत्तरी दिल्ली नगर निगम के महापौर राजा इक़बाल सिंह ने शुक्रवार को उत्तरी निगम के मुख्यालय में महापौर कार्यालय में निजी सचिव के पद पर मुकेश कुमार शर्मा द्वारा लिखित “लॉकडाउन से लॉकडाउन तक” पुस्तक का विमोचन किया। इस अवसर पर विधायक विजेंद्र गुप्ता, स्थायी समिति के अध्यक्ष जोगी राम जैन, नेता सदन छैल बिहारी गोस्वामी, नेता कांग्रेस दल प्रेरणा सिंह, रोहिणी वार्ड समिति के अध्यक्ष रितु गोयल, पूर्व महापौर जय प्रकाश, पूर्व महापौर योगेन्द्र चंदोलिया, पूर्व महापौर अवतार सिंह, दिल्ली विश्वविद्यालय की प्रॉक्टर प्रोफ़ेसर रजनी अब्बी, हंसराज कॉलेज की प्रधानाचार्य डॉ रमा शर्मा व अन्य गणमान्य अतिथि उपस्थित थे।

इस अवसर पर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष गुप्ता ने कहा कि यह एक बहुत हर्ष का विषय है कि इस पुस्तक का विमोचन मुझे करने का सौभाग्य प्राप्त हुआ है। मुकेश शर्मा महापौर कार्यालय में निजी सचिव के पद पर कार्यरत हैं और निगम की बारीकियों को बख़ूबी जानते हैं और महापौर को उनके बारे में अवगत कराते हैं। उन्होंने बताया कि हम सभी को लॉकडाउन शब्द प्रथम बार कोरोना महामारी की वजह से सुनने को मिला था, जिसका उल्लेख मुकेश शर्मा ने अपनी किताबमें किया है। उन्होंने कहा कि मुकेश शर्मा ने कोरोना व लॉकडाउन के संबंध में अपनी भावनाओं को कागज़ पर किताब के रूप में उकेरा हैं।

  • किताब कोरोना के समय उनकी आपबीती पर आधारित है: महापौर
    महापौर राजा इक़बाल सिंह ने मुकेश कुमार शर्मा को उनकी किताब के लिए बधाई देते हुए कहा कि यह किताब कोरोना के समय उनकी आपबीती पर आधारित है कि कैसे उन्होंने परिवार से दूर रहकर कोरोना के विरुद्ध लड़ाई की। उन्होंने बताया कि लॉकडाउन जैसे विषय पर किताब लिखना अपने आप में एक साहस की बात है। बताया गया कि देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारतीय वैज्ञानिकों ने वैक्सीन विकसित कर नागरिकों को इस महामारी से बचाने का कार्य किया है।
  • यह किताब उनके जीवन में एक नया अध्याय जोड़ने का कार्य करेगी: विजेंद्र गुप्ता
    विधायक विजेन्द्र गुप्ता ने इस अवसर पर कहा कि मुकेश शर्मा और उनका साथ काफ़ी लंबे समय तक रहा है। मुकेश शर्मा ने कोरोना के समय अपनी आपबीती को इस किताब के द्वारा लोगों तक पहुँचाने का कार्य किया है और यह किताब उनके जीवन में एक नया अध्याय जोड़ने का कार्य करेगी। वहीं, स्थायी समिति अध्यक्ष जैन ने कहा कि कोरोना महामारी को शायद ही कोई भूल सकता है जिसकी वजह से हम सभी के जीवन में कई बदलाव आए हैं। कोरोना महामारी के समय निगम के सफ़ाई कर्मियों, स्वास्थ्य कर्मियों व अन्य कर्मियों ने दिन-रात नागरिकों की सेवा का कार्य किया था। उन्होंने बताया कि देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारतीय वैज्ञानिकों ने वैक्सीन विकसित कर नागरिकों को इस महामारी से बचाने का कार्य किया है।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments