Wednesday, June 19, 2024
Homeअंतराष्ट्रीयविद्यार्थियों को क्लासरूम से बाहर तकनीक के इस्तेमाल के प्रति जागरूक करते...

विद्यार्थियों को क्लासरूम से बाहर तकनीक के इस्तेमाल के प्रति जागरूक करते हैं ऐसे आयोजन: प्रो. त्रिवेदी

– डीटीयू में शुरू हुआ 2 दिवसीय टेक्फ़ेस्ट “इनविक्टस-2022” का आयोजन

– डीटीयू की स्टूडेंट्स सोसाईटियों से जुड़े अनेकों विद्यार्थी व फ़ैकल्टी मेंबर उपस्थित थे

– दो दिवसीय कार्यक्रम से विद्यार्थी बहुत कुछ ज्ञान प्राप्त करेंगे

नई दिल्ली: दिल्ली प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय (डीटीयू) में दो दिवसीय टेक्फ़ेस्ट “इनविक्टस-2022” का शुभारंभ दीप प्रज्वलन के साथ हुआ। डीटीयू के बीआर अंबेडकर आडिटोरियम में आयोजित फेस्ट के उद्घाटन समारोह में मुख्यातिथि के तौर पर डीन आईआरडी प्रो. ए. त्रिवेदी, विशिष्ट अतिथि के तौर पर डीटीयू कुलसचिव प्रो. मधुसूदन सिंह, डीएसडबल्यू प्रो. एस. इन्दु व टेक्निकल काउंसिल के चेयरपर्सन डॉ. जे. पांडा सहित डीटीयू की स्टूडेंट्स सोसाईटियों से जुड़े अनेकों विद्यार्थी व फ़ैकल्टी मेंबर उपस्थित थे। गौरतलब है कि टेक्फ़ेस्ट डीटीयू का वार्षिक तकनीकी उत्सव है जिसमें विविध कार्यक्रमों के साथ मुख्य रूप से तकनीकी डोमेन के कार्यक्रम शामिल होते हैं।

उद्घाटन समारोह के दौरान मुख्यातिथि के तौर पर बोलते हुए डीन आईआरडी प्रो. ए. त्रिवेदी ने कहा कि ऐसे कार्यक्रमों का आयोजन विद्यार्थियों को क्लासरूम से बाहर तकनीक के इस्तेमाल के प्रति जागरूक करता है। उन्होंने कहा कि इस तरह के आयोजनों के द्वारा क्रिएटिविटी और टेक्नोलॉजी का संयोजन होता है जो बहुत ही सार्थक कार्य है। उन्होंने कहा कि शिक्षा को क्लासरूम से बाहर निकालना होगा। उपकरण प्रयोगशालाओं से बाहर आएंगे तभी तकनीक का समुचित विस्तार होगा और उसे सही दिशा मिलेगी।

इस अवसर पर विशिष्ट अतिथि के तौर पर संबोधित करते हुए डीटीयू कुलसचिव प्रो. मधुसूदन सिंह ने कहा कि कोरोना महामारी के दौरान इस कठिन समय में ऐसे आयोजनों की परिकल्पना बहुत ही सार्थक कार्य है। उन्होंने इसके लिए सभी कोर्डिनेर्ट्स व टीम मेंबरों को हार्दिक बधाई दी। उन्होंने कहा कि डीटीयू में 14,000 से अधिक विद्यार्थी शिक्षा प्राप्त कर रहे हैं। डीटीयू में 60 टेक्निकल प्रोफेशनल सोसाइटियां हैं। हमें प्रत्येक सोसाइटी के साथ लगभग 250 विद्यार्थियों को जोड़ने की आवश्यकता है। उन्होंने विद्यार्थियों से आह्वान किया कि वे अपने प्रोफेशन के साथ जुनून विकसित करने का प्रयास करें। टेक्निकल और कल्चरल सोसाइटियों के माध्यम से कुछ नया करें तभी इन समारोहों की सार्थकता होगी।

डीएसडबल्यू प्रो. एस. इन्दु ने अपने संबोधन में कहा कि तकनीकी ज्ञान का सटीक इस्तेमाल होना चाहिए। उन्होंने कहा कि इस समारोह के में भाग लेने से विद्यार्थियों को तकनीकी ज्ञान के साथ कार्यक्रमों के आयोजनों के बारे में भी महत्वपूर्ण जानकारी हासिल होगी। उन्होंने कहा कि दो वर्ष बाद इस समारोह का आयोजन हो रहा है और हमें उम्मीद करनी चाहिए कि यह समारोह आगे लगातार होता रहे। उन्होंने उम्मीद जताई कि इस दो दिवसीय कार्यक्रम से विद्यार्थी बहुत कुछ ज्ञान प्राप्त करेंगे। कार्यक्रम के आरंभ में डीटीयू टेक्निकल काउंसिल के चेयरपर्सन डॉ. जे. पांडा ने सभी अतिथियों का स्वागत किया। उद्घाटन समारोह के अंत में टेक्निकल काउंसिल के विद्यार्थी जनरल सेक्रेटरी शुभम कुमार ने सभी का आभार प्रदर्शन किया। उद्घाटन समारोह के पश्चात आईआईएफ़ सीईओ के साथ पैनल डिस्कशन का आयोजन भी किया गया।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments