Tuesday, June 18, 2024
Homeताजा खबरेंदिल्ली नगर निगम में चल रही स्कूल हेल्थ सर्विस आप के शासन...

दिल्ली नगर निगम में चल रही स्कूल हेल्थ सर्विस आप के शासन में हुई बंद : भाजपा 

– लगातार छात्र विरोधी निर्णय ले रही है निगम में आप सरकार
– सभी जनहितकारी सेवाओं को ठप कर दिया है  
– 80 प्रतिशत स्कूलों में स्वास्थ्य शिविर नहीं हुए आयोजित

नई दिल्ली, 12 अगस्त 2013 : आम आदमी पार्टी शासन ने दशकों से दिल्ली नगर निगम में चल रही स्कूल हेल्थ सर्विस को बंद कर दिया है और शिक्षा क्रांति का दावा करने वाली आम आदमी पार्टी जब से दिल्ली नगर निगम सत्ता में आई है तब से लगातार छात्र विरोधी निर्णय ले रही है। दिल्ली भाजपा की महामंत्री एवं पार्षद कमलजीत सहरावत, मीडिया प्रमुख एवं प्रवक्ता प्रवीण शंकर कपूर एवं दिल्ली नगर निगम में नेता विपक्ष व पूर्व महापौर राजा इकबाल सिंह ने प्रदेश भाजपा कार्यालय में शनिवार को आयोजित एक संयुक्त प्रेसवार्ता में उक्त बातें कही। इस दौरान उक्त भाजपा नेताओं ने दिल्ली नगर निगम द्वारा विशेष स्कूल हेल्थ सर्विस विभाग बंद कर उसको नगर निगम के सामान्य हेल्थ सेवाओं के साथ समन्वित करने की निंदा की है। भाजपा नेताओं ने कहा है कि केजरीवाल सरकार एवं महापौर डॉ. शैली ओबेरॉय लगातार शिक्षा एवं छात्र सुविधाएं बढ़ाने की बड़ी-बड़ी घोषणायें करते हैं और विशेष स्कूल हेल्थ सर्विस बंद करने का गरीब छात्रों की उपेक्षा करता यह निर्णय केजरीवाल सरकार एवं दिल्ली नगर निगम की पोल खोल रहा है।

भाजपा नेताओं ने कहा है कि केजरीवाल सरकार एवं दिल्ली नगर निगम महापौर ने भाजपा शासन द्वारा दिल्ली नगर निगम में लागू की गई लगभग सभी जनहितकारी सेवाओं को ठप कर दिया है, आज हमने निगम स्कूलों की हेल्थ सर्विस का विषय उठाया है पर सामान्यता हर विभाग में आज यही स्थिति है कि कहीं कोई काम नहीं हो रहा और हम अब सक्रियता से दिल्ली नगर निगम की पोल खोलेंगे।

नेता विपक्ष राजा इकबाल सिंह ने कहा कि इस शैक्षणिक सत्र में अभी तक दिल्ली नगर निगम के 1534 स्कूलों में से लगभग 80 प्रतिशत में छात्रों के लिए स्वास्थ्य शिविर आयोजित नहीं हुए हैं। वहीं, प्रवक्ता प्रवीण शंकर कपूर ने कहा कि पोक्सो एक्ट के अंतर्गत आवश्यक छात्रों को दिये जाने वाली नियमित काउंसिलिंग भी 6 माह से बंद है और यह आश्चर्य का विषय है कि कश्मीर से कन्याकुमारी तक के हर विषय पर बोलने वाली दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल और दिल्ली बाल अधिकार संरक्षण आयोग दोनों इस पर चुप हैं।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments