Monday, May 13, 2024
Homeताजा खबरेंपानी के बिल संबंधी शिकायतों के निपटारे में आई तेजी : सौरभ...

पानी के बिल संबंधी शिकायतों के निपटारे में आई तेजी : सौरभ भारद्वाज

— डीजेबी के उपाध्यक्ष सौरभ भारद्वाज ने उच्च स्तरीय बैठक कर बिल सिस्टम में सुधार, पानी का उत्पादन बढ़ाने और सीवर प्रोजेक्ट्स की समीक्षा की- पानी का उत्पादन और गुणवत्ता बढ़ाने लिए शुरू होने वाले नए और रुके हुए प्रोजेक्ट्स को जल्द दी जाएगी मंजूरी – यमुना में अमोनिया की मात्रा बढ़ने से वाटर ट्रीटमेंट प्लांट में पानी का उत्पादन प्रभावित होता है, डीजेबी इसके स्थाई समाधान पर गंभीरता से विचार कर रहा-  डीजेबी के उपाध्यक्ष सौरभ भारद्वाज ने राजस्व, पानी और ड्रेनेज विभाग के अधिकारियों के साथ की समीक्षा बैठक

नई दिल्ली, 13 फरवरी, 2023 : दिल्ली जल बोर्ड के उपाध्यक्ष सौरभ भारद्वाज ने आज दिल्ली जल बोर्ड मुख्यालय में डीजेबी के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की। इस बैठक में बिल संबंधी शिकायतों, सीवर और पानी से जुड़े प्रोजेक्ट्स की समीक्षा की गई। सौरभ भारद्वाज को दिल्ली जल बोर्ड के राजस्व विभाग के अधिकारियों द्वारा पिछले एक हफ्ते में बिल संबंधी शिकायतों का निपटारा करने की स्टेटस रिपोर्ट सौंपी गई। वही अधिकारियों ने डीजेबी उपाध्यक्ष को पानी का उत्पादन करने वाले वाटर ट्रीटमेंट प्लांटस की ताजा स्थिति से अवगत कराया। साथ ही पानी का उत्पादन और गुणवत्ता को बढ़ाने लिए शुरू होने वाले नए प्रोजेक्ट की स्टेटस रिपोर्ट भी सौंपी गई। बैठक में डीजेबी उपाध्यक्ष सौरभ भारद्वाज ने डीजेबी के ड्रेनेज विभाग से जुड़े अधिकारियों के साथ सीवर के निर्माणाधीन कार्यों की समीक्षा की। सौरभ भारद्वाज ने पानी के बिल संबंधी शिकायतों का निपटारा करने में तेजी लाने, नए और रुके हुए प्रोजेक्ट को जल्द मंजूरी देने और सीवर लाइन बिछाने के कामों को निर्धारित समय सीमा के भीतर पूरा करने के निर्देश दिए।

पानी के बिल से जुड़ी शिकायतों का निपटारा करने में आई तेजी

इस समीक्षा बैठक की सबसे पहले दिल्ली जल बोर्ड के राजस्व विभाग के अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की शुरुआत की गई। बैठक में अलग-अलग क्षेत्रों के अधिकारियों से उनके क्षेत्र में पानी के बिल से संबंधित शिकायतों के बारे में जानकारी मांगी गई। सौरभ भारद्वाज ने कहा कि इस तरह की शिकायतों में दिल्ली जल बोर्ड द्वारा किए जा रहे प्रयासों से कमी आनी शुरू हो गई है। वही इन शिकायतों का जल्द निपटारा भी किया जा रहा है। गौरतलब है कि हाल ही के दिनों में डीजेबी उपाध्यक्ष के निर्देश पर बिल संबंधित शिकायतों का तेजी से निपटारा करने के लिए कुछ प्रशासनिक बदलाव किए गए थे। जिसके चलते अब तेजी के साथ पानी के बिल से जुड़ी शिकायतों का निपटारा कर लोगों को राहत दी जा रही है।

नए और रुके हुए प्रोजेक्ट्स को जल्द मिलेगी मंजूरी

दिल्ली जल बोर्ड दिल्लीवासियों को बेहतर जलापूर्ति देने के लिए दृढ़ संकल्पित है। इस संकल्प को पूरा करने के लिए दिल्ली में सीमित संसाधनों के बावजूद पानी का उत्पादन बढ़ाने के लिए तेजी से काम किया जा रहा है। पानी का उत्पादन बढ़ाने के लिए वाटर ट्रीटमेंट प्लांट की क्षमता बढ़ाने के प्रयास किए जा रहे है और साथ ही वाटर बॉडीज को पुनर्जीवित करने के लिए कई प्रोजेक्ट्स पर काम किया जा रहा है। इस बैठक में सौरभ भारद्वाज ने दिल्ली जल बोर्ड के अधिकारियों से पानी से जुड़े प्रोजेक्ट्स की स्टेटस रिपोर्ट मांगी। सौरभ भारद्वाज ने बताया कि यमुना के पानी में अमोनिया जैसे प्रदूषित तत्वों की मात्रा बढ़ने से वाटर ट्रीटमेंट प्लांट में कई बार उत्पादन प्रभावित होता है। दिल्ली जल बोर्ड अमोनिया के स्थाई समाधान के लिए गंभीरता से विचार कर रहा है। दिल्ली जल बोर्ड अमोनिया की समस्या की स्टडी करने और उसके स्थाई समाधान के लिए जल्द ही इस मामले के किसी विशेषज्ञ को बतौर कंसलटेंट नियुक्त करने पर विचार कर रहा है। सौरभ भारद्वाज ने अधिकारियों को नए प्रोजेक्ट और रुके हुए प्रोजेक्ट को जल्द ही क्लीयरेंस देकर काम शुरू करने के निर्देश दिए हैं।

सीवरेज प्रोजेक्ट स्वच्छ यमुना के लिए अहम

दिल्ली की लाइफ लाइन यानी यमुना की स्वच्छता के लिए पूरी दिल्ली को सीवेज सिस्टम से जोड़ना सबसे महत्वपूर्ण कार्य है। इस कार्य को पूरा करने के लिए दिल्ली जल बोर्ड दिल्ली में जगह-जगह अपने सीवेज नेटवर्क का विस्तार कर रहा है। जिसके तहत दिल्ली में नए क्षेत्रों को सीवेज नेटवर्क से जोड़ने के लिए सीवर लाइन बिछाई जा रही है। दिल्ली जल बोर्ड के उपाध्यक्ष सौरभ भारद्वाज ने सीवेज  से जुड़े प्रोजेक्ट्स की भी अधिकारियों के साथ समीक्षा की। अधिकारियों ने सौरभ भारद्वाज को सीवेज प्रोजेक्ट्स की प्रगति के बारे में अवगत कराया। सौरभ भारद्वाज का कहना है कि यमुना की स्वच्छता के लिए युद्ध स्तर पर काम जारी है और इसके लिए दिल्ली के उन क्षेत्रों में भी सीवर लाइन पहुंचाई जा रही है जहां अब तक सीवर लाइन नहीं पहुंच पाई थी। सीवेज नेटवर्क का विस्तार होने से घरों से निकलने वाला गंदा पानी यमुना में जाने की बजाए सीधा ट्रीटमेंट प्लांट में ट्रीट होगा। जिससे यमुना के प्रदूषण में कमी आएगी और स्वच्छ यमुना का लक्ष्य हासिल करने में मदद मिलेगी। सौरभ भारद्वाज ने अधिकारियों को सीवेज प्रोजेक्ट से जुड़े कार्यों को निर्धारित समय सीमा के भीतर पूरा करने के निर्देश दिए।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments