Wednesday, February 21, 2024
Homeअंतराष्ट्रीयग्रामीणों ने सत्यवादी राजा हरिचंद्र अस्पताल में बंद पड़ी स्वास्थ्य सेवाओं को...

ग्रामीणों ने सत्यवादी राजा हरिचंद्र अस्पताल में बंद पड़ी स्वास्थ्य सेवाओं को चालू कराने की मांग की

  • दिल्ली के उपराज्यपाल, दिल्ली सरकार और अस्पताल प्रशासन को लिखा है पत्र
  • अस्पताल को 773 बेड के कैंसर और ट्रॉमा सेंटर में अपग्रेड करने का कार्य भी बीच में रोक दिया गया है
  • मांगों को विस्तार से बातचीत के लिए प्रतिनिधि मंडल ने अस्पताल प्रशासन से मिलने का समय मांगा

नई दिल्ली, 21 अगस्त 2022 : सत्यवादी राजा हरिश्चंद्र अस्पताल संघर्ष समिति के बैनर तले ग्रामीणों ने नरेला विधानसभा के सबसे बड़े अस्पताल, सत्यवादी राजा हरिचंद्र अस्पताल की दयनीय सुविधाओं में सुधार की मांग की है। साथ ही यहां अस्पताल में बंद पड़ी स्वास्थ्य सेवाओं को चालू कराने के लिए ग्रामीणों ने सत्यवादी राजा हरिश्चंद्र अस्पताल संघर्ष समिति के बैनर तले की मांग की है। इस संबंध में ग्रामीणों ने दिल्ली सरकार और अस्पताल प्रशासन को पत्र लिखा है। संघर्ष समिति में पदाधिकारी नरेश गुप्ता, सुरेंद्र पंचाल, धर्मपाल सिंह एडवोकेट ने बताया कि ऑपरेशन थिएटर बंद पड़े है, जिसके कारण सर्जरी नहीं की जा रही है। डिलीवरी के ज्यादातर केस दूसरे अस्पतालों में रेफर कर दिए जाते हैं, अस्पताल में आईसीयू आज तक चालू नहीं हो पाया है और ट्रॉमा सेंटर भी नहीं बन पाया है जिसके कारण गंभीर रोगियों का इलाज हॉस्पिटल में नहीं हो पाता है।

  • दोपहर को चलने वाली विशेष क्लीनिक भी बंद कर दिए हैं
    संघर्ष समिति ने पत्र में बताया कि अस्पताल में डेंटल विभाग भी बंद है और लैब में आधुनिक मशीनें नहीं है और हॉस्पिटल में अल्ट्रासाउंड की सुविधा भी चालू नहीं हो पाई है। वृद्धों और शुगर के मरीजों के लिए दोपहर को चलने वाली विशेष क्लीनिक भी बंद कर दिए हैं। अस्पताल में कार्डियोलॉजी का डिपार्टमेंट भी नहीं बन पाया है। जिसकी बहुत जरूरत है। अस्पताल को 773 बेड के कैंसर और ट्रॉमा सेंटर में अपग्रेड करने का कार्य भी बीच में रोक दिया गया है। इन सुविधाओं को बेहतर और बंद पड़ी सेवाओं को चालू करवाने के लिए सत्यवादी राजा हरिश्चंद्र अस्पताल संघर्ष समिति के माध्यम से यह मांगे उठाई जा रही है। इस संबंध में दिल्ली के उपराज्यपाल, मुख्यमंत्री और अस्पताल प्रशासन को भी पत्र लिखकर इस पर कार्रवाई करने के लिए अनुरोध किए गए हैं।

  • संघर्ष समिति के प्रतिनिधिमंडल ने अस्पताल प्रशासन से मांगा समय
    संघर्ष समिति में पदाधिकारी सुरेंद्र पांचाल ने बताया कि हमने ईमेल के माध्यम से दिनांक 6/8/22 को उपरोक्त मांगों को लेकर आपको पत्र लिखा गया था। लेकिन आप की ओर से अभी तक कोई जवाब नहीं मिला है। एक बार पुनः स्मरण कराते हुए आपसे अनुरोध और उम्मीद करते हैं कि अस्पताल की सेवाओं को बेहतर बनाने और बंद पड़ी चिकित्सा सुविधाओं को चालू करने हेतु शीघ्र कदम उठाएंगे ताकि लोगों को अपने इलाज के लिए यहाँ वहां न भटकना पड़े और नजदीक अस्पताल में ही उनको शीघ्रता से इलाज मिल सके। उपरोक्त मांगों को विस्तार से बातचीत के लिए हमारे प्रतिनिधि मंडल को मिलने का समय दें।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments