Homeअंतराष्ट्रीयसबूत और सच्चाई सामने होने के बाद CBI और ED जांच और...

सबूत और सच्चाई सामने होने के बाद CBI और ED जांच और छापेमारी का ढोंग कहीं केजरीवाल और सिसोदिया को बचाने की कवायद तो नहीं? : कांग्रेस

नई दिल्ली, 6 सितम्बर 2022: दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष चौ0 अनिल कुमार ने कहा कि भाजपा की केन्द्र सरकार के आधीन CBI और प्रवर्तन निदेशालय (ED) दिल्ली में हजारों करोड़ के हुए शराब घोटाले की सबूत और सच्चाई सामने होने के बाद जांच और छापेमारी का ढोंग कहीं मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल और आबकारी मंत्री मनीष सिसोदिया को बचाने की कवायद तो नहीं? क्योंकि आज ई.डी. की मनीष सिसोदिया के ठिकाने की जगह शराब कारोबारियों पर रेड मारना कहीं मनीष सिसोदिया से ध्यान हटाने की कार्यवाही तो नहीं, जबकि मनीष सिसोदिया शराब घोटोल के मुख्य आरोपी है, यह सिद्ध हो चुका है।

चौ0 अनिल कुमार ने कहा कि शराब घोटाले की जांच करने में सरकारी एजेंसियां इसलिए तो देरी नहीं कर रही है कि आबकारी नीति लागू करने में मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल के साथ भाजपा नेताओं के तार जुड़े हैं। उन्होंने कहा कि जो ई.डी. विपक्षी नेताओं के घर बिना बात पहुंच जाती है, उसने शराब घोटाले में इतना विलंब क्यों किया? उन्होंने कहा कि मनीष सिसोदिया, सरकारी मिशनरी और शराब घोटाले से जुड़े मुख्य आरोपियों को छोड़ ई.डी. द्वारा शराब कारोबारियों पर रेड करना मामले को भटकाने की कार्यवाही है। उन्होंने कहा कि शराब घोटाले के संदिग्धों पर ई.डी. की रेड के बाद मनीष सिसोदिया का यह बयान चौकाने वाला है कि सीबीआई जांच में पहले भी कुछ नहीं मिला और अब भी कुछ नही मिलेगा। क्या घोटाले का पूरा नियंत्रण अरविन्द केजरीवाल और मनीष सिसोदिया के अंतर्गत तो नही, जो मनीष सिसोदिया विश्वास के साथ कह रह रहे है कि ई.डी. को कुछ नही मिलेगा।

चौ0 अनिल कुमार ने कहा कि शराब घोटाले से जुड़े सवालों पर, सीबीआई जांच पर, ई.डी. पर कैसे भी सवाल हो मनीष सिसोदिया जवाब शिक्षा मॉडल को लेकर देते हैं। उन्होंने कहा कि कैसे शराब घोटाले की जांच करने से दिल्ली की शिक्षा व्यवस्था रोका जा सकता है। मनीष सिसोदिया द्वारा दिए गए बयान सिर्फ दिल्लीवालों को गुमराह करने के लिए दिए जा रहे है वहीं केजरीवाल दिल्ली की समस्याओं को छोड़ अन्य राज्यों में चुनावों प्रतिदिन लोकलुभावनी घोषणाऐं कर रहें है।

चौ0 अनिल कुमार ने कहा कि दिल्ली में आबकारी नीति लागू करने में केजरीवाल सरकार ने अतिरिक्त राजस्व अर्जित करने की बजाय शराब माफिया के करोड़ों रुपये माफ किए जिससे करोड़ो रुपये के राजस्व का घाटा हुआ। उन्होंने भाजपा दिल्ली की केजरीवाल सरकार पर नई आबकारी नीति में हुए घोटाले का आरोप लगाकर पूरी दिल्ली में प्रचार इसलिए तो नही कर रही कि भाजपा नेता भी शराब घोटाले में भागीदार है। उन्होंने कहा कि मनीष सिसोदिया का यह कहना कि सीबीआई ने क्लीन चिट दे दी है, उनके बयान में कही भाजपा की शह तो नही?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

nineteen − three =

Must Read