Thursday, February 22, 2024
Homeअंतराष्ट्रीयदिल्ली में डीजल पर वैट कम न करने के विरोध में केजरीवाल...

दिल्ली में डीजल पर वैट कम न करने के विरोध में केजरीवाल सरकार के खिलाफ भाजपा ने किया प्रचंड विरोध प्रदर्शन

  • केजरीवाल सरकार द्वारा वैट कम न करने से किसान बेहाल और रोजमर्रा की चीजें हुई महंगी
  • डीजल पर वैट ना घटाना और शराब के दाम लगातार घटाना केजरीवाल का विकास मॉडल है
  • केजरीवाल सरकार ने पिछले 8 महीनों में 300 करोड़ रुपये सिर्फ डीजल पर लगे वैट से कमाया
  • केंद्र सरकार द्वारा डीजल के बढ़े दामों पर एक्साइज ड्यूटी घटाने से जनता को मिली राहत
  • केजरीवाल जो गरीबों को राशन तक नहीं दे सके उनसे दिल्ली को कोई उम्मीद नहीं: बिधूड़ी

नई दिल्ली: दिल्ली में केजरीवाल की सरकार जब से आई है तब से लेकर आज तक डीजल के दामों में लगातार वृद्धि देखने को मिली है। जबकि दूसरी तरफ केंद्र सरकार ने जैसे ही डीजल के दाम बढ़े वैसे ही डीजल की एक्साइज ड्यूटी घटा कर जनता को राहत दी। दिल्ली भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने शनिवार को डीजल पर वैट कम करने को लेकर चंदगी राम अखाड़े के पास केजरीवाल के खिलाफ हो रहे विरोध प्रदर्शन को सम्बोधित करते हुए उक्त बातें कहीं। इस दौरान आदेश गुप्ता ने कहा कि डीजल पर वैट को उत्तर प्रदेश, हरियाणा, गोवा, इत्यादि सहित भाजपा और एनडीए शासित राज्य सरकारों ने घटा दिया लेकिन दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने डीजल पर वैट ना घटाकर जनता के साथ खिलवाड़ कर रही है।

प्रदेश अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने कहा कि दो दिन पहले जब प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने डीजल पर वैट कम करने को राज्य सरकारों से अपील की तो सबने माना लेकिन केजरीवाल को दिल्ली की जनता से कोई मतलब नहीं उन्हें तो सिर्फ अपनी कमाई होती रहे इससे मतलब है। अध्यक्ष गुप्ता ने कहा कि केजरीवाल सरकार द्वारा वैट कम न करने से किसान बेहाल और रोजमर्रा की चीजें महंगी हुई हैं। डीजल पर वैट ना घटाना और शराब के दाम लगातार घटाना केजरीवाल का विकास मॉडल है। केजरीवाल सरकार ने पिछले 8 महीनों में 300 करोड़ रुपये सिर्फ डीजल पर लगे वैट से कमाया है। वहीं, नेता विपक्ष रामवीर सिंह बिघूड़ी ने कहा कि केजरीवाल जो गरीबों को राशन तक नहीं दे सके उनसे दिल्ली को कोई उम्मीद नहीं है।

अध्यक्ष गुप्ता ने कहा कि केजरीवाल इतने संवेदनहीन कैसे हो सकते हैं उनसे जनता का दुख नहीं देखा जा रहा है। जब भी कोई दिल्ली में संकट आता है तो इसके लिए केंद्र सरकार को दोषी ठहराने वाले केजरीवाल ने पिछले 8 महीनों में 300 करोड़ रुपये की कमाई सिर्फ डीजल पर लगे वैट से कमाई की है। उन्होंने कहा कि डीजल पर वैट नहीं घटाना और शराब की बोतलों के रेट कम करवाना ही केजरीवाल का असली विकास मॉडल है। फाइव स्टार होटल में पार्टी करना, 22 करोड़ रुपये का स्वीमिंग पुल बनवाना मतलब आम आदमी पार्टी आज अमीर पार्टी बन गई है।

अध्यक्ष गुप्ता ने कहा कि केजरीवाल पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान के साथ बैठकर उन्हें बता रहे हैं कि पंजाब में किस तरह का मॉडल लागू करना है जैसे दिल्ली का मॉडल है। मतलब शराब माफियाओं का राज, डीजल में बढ़ोतरी, कैसे शिक्षा के नाम पर बच्चों के भविष्य के साथ खिलवाड़ करना, कैसे लोगों तक साफ पानी का ना पहुँचना इत्यादि।

नेता विपक्ष रामवीर सिंह बिधूड़ी ने कहा कि आज तो दिल्ली जलबोर्ड का भी विचार है कि दिल्ली में पीने का पानी भी खराब हो गया है। खुद सतेंद्र जैन जो दिल्ली के जलबोर्ड अध्यक्ष हैं उन्होंने भी इस बात को स्वीकारा है कि जलबोर्ड द्वारा सप्लाई किया जाने वाला पानी पीने योग्य नहीं हैं। उन्होंने नहीं, कोई स्कूल नहीं, कोई कॉलेज नहीं और ना ही कोई अस्पताल बना है। जो इंसान गरीब आदमी को राशन तक नहीं दे सकता उससे दिल्ली में क्या उम्मीद की जा सकती है।

प्रदेश भाजपा के अनुसार विरोध प्रदर्शन में प्रदेश उपाध्यक्ष राजन तिवारी, कर्म सिंह कर्मा एवं बरखा शुक्ला, प्रदेश मीडिया प्रमुख नवीन कुमार जिंदल, सोशल मीडिया प्रमुख डॉ. रोहित उपाध्याय, प्रदेश भाजपा महिला मोर्चा अध्यक्ष योगिता सिंह, युवा मोर्चा अध्यक्ष वासु रुखड़, किसान मोर्चा अध्यक्ष विनोद सहरावत, पूर्वांचल मोर्चा अध्यक्ष कौशल मिश्रा, ओबीसी मोर्चा अध्यक्ष संतोष पाल, प्रदेश प्रवक्ता शुभेंद्रु शेखर अवस्थी एवं मोहन लाल गिहारा महिला मोर्चा महामंत्री टीना शर्मा सहित प्रदेश जिला मंडल के पदधिकारियों सहित बड़ी संख्या में कार्यकर्ता उपलब्ध थे।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments