Homeताजा खबरेंदिल्ली भाजपा ने केजरीवाल से उनके विधायकों अखिलेश पति त्रिपाठी और राजेश...

दिल्ली भाजपा ने केजरीवाल से उनके विधायकों अखिलेश पति त्रिपाठी और राजेश गुप्ता को बर्खास्त करने की मांग की

ईमानदार की सर्टिफिकेट बांटने वाले सिसोदिया खुद शराब और कमरें बनवाने में हुए घोटालों के नंबर आरोपी भी हैं-हरीश खुराना

एक विधायक का साला लाखों रुपये के साथ रंगे हाथों पकड़ा जाता है और उसको भी ईमानदारी का चोला पहनाकर जस्टिफाई करना सिसोदिया की कुतर्कता का प्रमाण है-प्रवीण शंकर कपूर

नई दिल्ली, 17 नवम्बर 2022 : भारतीय जनता पार्टी, दिल्ली के वरिष्ठ प्रवक्ता हरीश खुराना और प्रवक्ता प्रवीण शंकर कपूर ने आज एक संयुक्त प्रेसवार्ता के माध्यम से दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से मांग कि कि चुनाव में टिकट बिक्री के पुख्ता सबूत सामने आने पर अपने विधायकों अखिलेश पति त्रिपाठी और राजेश गुप्ता को बर्खास्त करें। प्रेसवार्ता का संचालन प्रदेश प्रवक्ता अजय सहरावत ने किया। हरीश खुराना ने कहा कि टिकटों की बिक्री को लेकर सबूत आने के बावजूद मनीष सिसोदिया द्वारा अपने विधायकों को ईमानदारी का सर्टिफिकेट देना, पूरी आम आदमी पार्टी की मानसिकता बताता है। आरोप लगाने वाला आप कार्यकर्ता और आरोपी भी आप कार्यकर्ता लेकिन कार्रवाई करने की जगह मनीष सिसोदिया ईमानदारी का सर्टिफिकेट बांट रहे हैं। उन्होंने कहा कि ईमानदारी का सर्टिफिकेट बांटने वाले सिसोदिया खुद शराब घोटालों के नंबर एक आरोपी हैं और स्कूल कमरों के घोटालों के भी नंबर 1 आरोपी हैं।

हरीश खुराना ने कहा कि हवाला कारोबारियों के साथ मिलकर घोटाला करना हो, लेबरों के नाम पर करोड़ों रुपये का घोटाला करना और टिकटों की खरीद फरोख्त ये सारे सबूत आम आदमी पार्टी की बेईमानी बयान कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि हसीबुल हसन आप की ओर से निगम चुनाव में टिकट ना मिलने पर टॉवर पर खड़े हो जाते हैं और सीधा आरोप लगाया कि मुझसे पैसे मांगे गए। इतना ही नहीं मनीष सिसोदिया के ऊपर तो विधानसभा चुनाव में या फिर पंजाब चुनाव में टिकट के बदले करोड़ों रुपये की डिमांड का भी पर्दाफाश हो चुका है।

प्रवीण शंकर कपूर ने कहा कि विधानसभा के अंदर खोखा-खोखा चिल्लाकर केजरीवाल यह बताते रहे कि भाजपा उनकी पार्टी के विधायकों को करोड़ों रुपये में खरीदना चाह रही है लेकिन आज तक भाजपा के ऊपर लगाए गए इन आरोपों को वह साबित नहीं कर पाए लेकिन आज केजरीवाल के ऊपर खुद उनके कार्यकर्ता निगम चुनाव के लिए तीन-तीन खोखे (करोड़) में टिकटों की खरीद-बिक्री के आरोप लगा चुके हैं। उन्होंने कहा कि आज दिल्ली ही नहीं गुजरात, हिमाचल और अन्य राज्यों की जनता पूछ रही है कि आखिर ये पैसे आ जा कहां रहे हैं।

प्रवीण शंकर कपूर ने कहा कि आज जिस अखिलेश पति त्रिपाठी पर 1 करोड़ रुपये लेने के आरोप लगे हैं, ये वही हैं जिन्होंने केजरीवाल सरकार में फर्जी मेडिकल क्लेम घोटाले को अंजाम दिया था और 2015 मे ही दंगे के आरोप लगे हैं पर दिल्ली सरकार उन्हें बचाने की कोशिश में लगी हुई है। उन्होंने कहा कि सिसोदिया द्वारा इस पूरे मामले को सिल्वर लाइन बताना काफी शर्मनाक है। एक विधायक का साला लाखों रुपये के साथ रंगे हाथों पकड़ा जाता है और उसको भी ईमानदारी का चोला पहनाकर जस्टिफाई करना सिसोदिया की कुतर्कता का प्रमाण है। केजरीवाल एवं सिसोदिया सुचिता की राजनीति का सबूत देते हुए अपने दोनों विधायकों को तुरंत बर्खास्त करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

five × 3 =

Must Read