Homeअंतराष्ट्रीयदिल्ली सरकार ने दिन में दो बार लगभग दस लाख लोगों को...

दिल्ली सरकार ने दिन में दो बार लगभग दस लाख लोगों को उपलब्ध कराया भोजन: मनीष सिसोदिया

  • कोरोना महामारी को लेकर जारी लॉकडाउन में हमने स्वास्थ्य ढांचा मजबूत किया
  • डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने कोरोना के खिलाफ ग्लोबल समिट 2020 को संबोधित किया
  • सियोल में आयोजित सिटीज एगेंस्ट कोविड 19 ग्लोबल समिट में दिल्ली की भागीदारी

नई दिल्ली : दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से आयोजित कोरोना यानि कोविड 19 ग्लोबल समिट 2020 को संबोधित किया। उन्होंने दक्षिण कोरिया की राजधानी सियोल में आयोजित इस डिजिटल बैठक में दिल्ली की भागीदारी पर प्रसन्नता जताई।
सिसोदिया ने कहा कि दुनिया के प्रमुख महानगरों के विशेषज्ञों और महापौरों की टीम का हिस्सा बनना और कोविड 19 पर तमाम शहरों के रिस्पांस जानना मेरे लिए एक लाभदायी अनुभव है। आप सबके बीच खुद को पाकर तथा आपके अनुभव सुनकर मुझे काफी ताकत मिली है।

ग्लोबल समिट को संबोधित करते हुए सिसोदिया ने कोरोना वायरस को नियंत्रित करने संबंधी दिल्ली सरकार के प्रयासों और अनुभवों पर प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि दिल्ली में पहला कोविड 19 पॉजिटिव केस दो मार्च को मिला था। इस बीमारी का संक्रमण रोकना हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण था। पूर्ण लॉकडाउन के कारण हमें नागरिकों के बीच कोरोना वायरस संबंधी जागरूकता फैलाने और हमारे स्वास्थ्य ढांचे को मजबूत करने में सफलता मिली। सिटीज एगेंस्ट कोविड 19 ग्लोबल समिट में सियोल, मॉस्को, जकार्ता, इस्तांबुल, बुडापेस्ट, तेहरान, तेल अवीव, ब्यूनस आयर्स, वैंकूवर और चोंगकिंग सहित 21 प्रमुख महानगरों के महापौर एवं विशेषज्ञों ने हिस्सा लिया।

सिसोदिया ने कहा कि अब हम दिल्ली को अनलॉक कर रहे हैं। हमने सभी प्रकार की मेडिकल सुविधाओं संबंधी तैयारियों कर ली हैं। अब हमारे पास कोरोना वायरस के संक्रमण संबंधी समझ भी है। लिहाजा, अब हम कोरोना से लड़ने के लिए पूरी तरह तैयार हैं। वीडियो कॉन्फ्रेंस से ग्लोबल समिट को संबोधित करते हुए उपमुख्यमंत्री सिसोदिया ने लाॅकडाउन के दौरान दिल्ली में विभिन्न वर्गों की राहत के लिए किए गए प्रयासों की भी जानकारी दी। उन्होंने बताया कि दिल्ली सरकार की राहत टीम प्रतिदिन दो बार लगभग दस लाख लोगों को भोजन उपलब्ध करा रही है। उन्होंने दिल्ली ने चरणबद्ध तरीके से आर्थिक गतिविधियों को फिर से बहाल करने संबंधी योजना की भी जानकारी दी।

सिसोदिया ने शिक्षा विभाग द्वारा बच्चों को घर बैठे आॅनलाइन शिक्षा प्रदान करने के अनुभव भी बताए। उन्होंने कहा कि मेरे लिए सबसे अधिक संतुष्टि की बात यह है कि लाॅकडाउन के दौरान हमने नए प्रकार की शैक्षणिक गतिविधियों के माध्यम से बच्चों का न सिर्फ समय का नुकसान रोका बल्कि सीखने के नये अवसर भी प्रदान किये। हमने केजी से लेकर बारहवीं कक्षा तक के लगभग नौ लाख छात्रों को ऑनलाइन शिक्षा प्रदान की। ग्लोबल समिट में भागीदारी के बाद सिसोदिया ने इसे एक अच्छा अनुभव बताया। उन्होंने कहा कि सियोल सरकार द्वारा सीटीज एगेंस्ट कोविड 19 ग्लोबल समिट 2020 में दुनिया भर के विभिन्न महानगरों के प्रमुख नेताओं के साथ चर्चा का अवसर मिला। कोरोना वायरस से लड़ने की बड़ी चुनौती ने विश्व समुदाय को एक साथ आने और परस्पर सहयोग का शानदार अवसर प्रदान किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

four × four =

Must Read