Homeअंतराष्ट्रीयनई राष्ट्रीय शिक्षा नीति से शिक्षा को एक नई संजीवनी प्राप्त होगी:...

नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति से शिक्षा को एक नई संजीवनी प्राप्त होगी: प्रो. जगदेश कुमार

–  स्वामी श्रद्धानंद कालेज के नए शैक्षिक ब्लॉक का किया शिलान्यास

नई दिल्ली: नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति में बहु- विषयक प्रणाली पर विशेष फ़ोकस समय की मांग है तथा इससे शिक्षा को एक नई संजीवनी प्राप्त होगी। विश्व अनुदान आयोग के अध्यक्ष प्रो. एम. जगदेश कुमार ने अलीपुर स्थित स्वामी श्रद्धानंद कालेज के नए शैक्षिक ब्लॉक के शिलान्यास समारोह में बतौर मुख्य अतिथि उक्त बातें कही। उन्होंने कहा कि एक शिक्षक को क्लासरूम में एक मैनेजर नहीं बल्कि एक नायक के तौर पर कार्य करना चाहिए। समारोह के विशेष अतिथि के तौर पर उपस्थित नरेला के विधायक शरद चौहान ने कहा कि एक शिक्षक देश के भविष्य की नींव रखता है। उन्होंने भरोसा दिलाया कि दिल्ली सरकार हमेशा स्वामी श्रद्धानंद कॉलेज के साथ खड़ी रहेगी। इस दौरान एस.ओ.एल. की निदेशिका प्रो. पायल मग्गो ने कहा कि दिल्ली देहात तथा दिल्ली सेसटे हरियाणा के ग्रामीण छात्रों को शिक्षित करने में कॉलेज ने अभूतपूर्ण योगदान दिया है। यू.जी.सी. अध्यक्ष प्रो. जगदेश कुमार तथा अन्य अतिथियों के प्रति अपना आभार प्रकट करते हुए कालेज प्राचार्य प्रो. प्रवीण गर्ग ने कहा कि इस ऐतिहासिक अवसर पर प्रो. जगदेश कुमार तथा क्षेत्रीय विधायक चौहान की मौजूदगी स्वामी श्रद्धानंद कालेज परिवार के लिए गर्व की बात है। इस दौरान कॉलेज अध्यक्ष अंकित पांडे, एनसीसी प्रो. मुकेश 
राणा, पूर्व प्राचार्य आदि मौजूद रहे।

   कॉलेज की मीडिया कमेटी के संयोजक डॉ. नरेश शौकीन ने बताया कि शिलान्यास समारोह के मुख्य अतिथि प्रो० जगदेश कुमार ने भरोसा दिलाया कि यू.जी.सी. कालेज के विकास में हर संभव मदद करेगी। प्रो० कुमार ने अपने ओजस्वी संबोधन में शिक्षा  में बहु- विषयक प्रणाली की खूबसूरती पर प्रकाश डालते हुए अनेक उदाहरण दिए। वैज्ञानिक मेंडेलीव की पीरिओडिक टेबल का उदाहरण देते हुए उन्होंने बताया कि मशहूर वैज्ञानिक को अपनी टेबल की प्रेरणा रूसी मूल के एक संस्कृत भाषा के विद्वान से मिली थी जिनसे वे निरंतर वार्ता किया करते थे। समारोह में उपस्थित छात्रों का आह्वान करते हुए, प्रो० जगदेश कुमार ने कहा कि उन्हें सदैव उच्च स्तर के लक्ष्य निर्धारित करने चाहिए। उन्हें जीवन में कभी असफलताओं से नहीं घबराना चाहिए क्योंकि असफलता कामयाबी का पड़ाव हो सकती है।

अलीपुर स्थित स्वामी श्रद्धानंद महाविद्यालय की पिचले 54 वर्षों से जारी गौरवशाली यात्रा में आज का दिन एक महत्वपूर्ण मील का पत्थर साबित होगा। हिन्दू नववर्ष के पावन अवसर पर मंत्रोचार के बीच महाविद्यालय के प्रस्तावित नए शैक्षिक ब्लॉक का शिलान्यास समारोह विश्वविद्यालय अनुदान आयोग के अध्यक्ष प्रो० एम. जगदेश‌ कुमार के कर कमलों द्वारा सम्पन्न हुआ। इस अवसर पर नरेला से विधायक शरद कुमार चौहान, कैम्पस ऑफ ओपन लर्निंग की निदेशक प्रो० पायल मग्गो, महाविद्यालय की गवर्निंग बॉडी के अध्यक्ष अंकित पांडे, महाविद्यालय प्राचार्य प्रो० प्रवीण गर्ग, ए.ओ. डॉ डी.वी. भारद्वाज के अलावा कालेज के शिक्षक, कर्मचारी एवं छात्र मौजूद रहे।


गौरतलब है कि जो सपना स्वामी श्रद्धानंद महाविद्यालय के शिक्षक, कर्मचारी एवं छात्र पिछले 13-14 वर्षों से बुन रहे थे उस सपने के साकार होने की दिशा में आज अति- महत्वपूर्ण कदम उठाया गया। नए शैक्षिक ब्लॉक  के निर्माण का अनुबंध केन्द्र सरकार की प्रतिष्ठित एजेंसी सी.पी.डब्लू. डी. को सौंपा गया है। अनुमानित 40 करोड रूपये की लागत से तैयार होने वाली इस इमारत में बेसमेंट के अलावा पांच मंजिल होंगी। करीब 1500 वर्ग गज में फैली यह इमारत अति आधुनिक सुविधाओं से लैस होगी। इस इमारत में भूकंप-रोधक तकनीक का उपयोग किया जाएगा। जल संरक्षण, सोलर प्लांट तथा सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट इमारत की अन्य विशेषताएं होंगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

seventeen − four =

Must Read