Homeअंतराष्ट्रीयअंग्रेजी बोलने की क्षमता से हमारे सरकारी स्कूलों के बच्चों का आत्मविश्वास...

अंग्रेजी बोलने की क्षमता से हमारे सरकारी स्कूलों के बच्चों का आत्मविश्वास बढ़ा: सिसोदिया

  • आठ सप्ताह के कोर्स में दिल्ली सरकार के 550 शिक्षक शामिल
  • एक से ज्यादा भाषा सीखना हमारी संवाद की क्षमता का विस्तार है
  • अंग्रेजी बोलने की क्षमता से हमारे सरकारी स्कूलों के बच्चों का आत्मविश्वास बढ़ा
  • शिक्षकों के जरिए अन्य बच्चों को भी हम यह अवसर देना चाहते हैं
  • यह कोर्स दुनिया भर के शिक्षकों को अंग्रेजी भाषा के शिक्षण संसाधनों से अवगत करने का एक माध्यम है
  • अमेरिकी दूतावास की साझेदारी से अंग्रेजी शिक्षकों के लिए ऑनलाइन प्रोफेशनल डवलपमेंट प्रोग्राम शुरू
  • इस रचनात्मक साझेदारी के कारण अमेरिका की प्रथम महिला मेलेनिया ट्रंप ने दिल्ली सरकार के स्कूल जाकर हैप्पीनेस क्लास देखी

नई दिल्ली : दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने आज मंगलवार को अंग्रेजी शिक्षकों के लिए आठ सप्ताह के ऑनलाइन प्रोफेशनल डवलपमेंट प्रोग्राम का शुभारंभ किया। यह प्रोग्राम भारत में अमेरिकी दूतावास के क्षेत्रीय अंग्रेजी भाषा कार्यालय के साथ साझेदारी में शुरू हुआ है। इस मौके पर सिसोदिया कहा कि हमने दिल्ली के सरकारी स्कूलों में अंग्रेजी शिक्षा को उच्च प्राथमिकता दी है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने वादा किया है कि दिल्ली के स्टूडेंट्स को विश्वस्तरीय गुणवत्ता के साथ अंग्रेजी में संवाद के योग्य बनाएंगे। पिछले चार वर्षों में हमने छात्रों के सीखने के अवसर और शिक्षकों के क्षमता निर्माण, दोनों मोर्चों पर काम किया है। हमने स्टूडेंट्स की स्पोकन इंग्लिश क्लासेज के लिए प्रसिद्ध एजेंसियों की मदद ली। लगभग 65 हजार छात्रों को इसका लाभ हुआ। हमारा मानना है कि दिल्ली के शिक्षकों को अंग्रेजी सिखाने के लिए वैश्विक परिप्रेक्ष्य और कौशल प्रदान करना सबसे जरूरी रणनीति है। इसका दूरगामी लाभ मिलेगा।

सिसोदिया ने दिल्ली के छात्रों और शिक्षकों के साथ शैक्षिक संबंधों को मजबूत करने में भारत में अमेरिकी दूतावास को धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा कि इस साझेदारी के कारण अमेरिका की प्रथम महिला मेलेनिया ट्रम्प ने इस साल की शुरुआत में दिल्ली के सरकारी स्कूल जाकर हैप्पीनेस क्लास का दौरा किया और इसकी खूबियों को समझा। प्रोग्राम के ऑनलाइन शुभारंभ के इस मौके पर अमरीकी दूतावास की ओर से सार्वजनिक मामलों के मंत्री डेविड कैनेडी उपस्थित थे। भारत, भूटान और अफगानिस्तान के लिए क्षेत्रीय अधिकारी मारिया फनारस्की सहित अन्य अधिकारी एवं प्रशिक्षक भी इसमें शामिल हुए।

सिसोदिया ने वर्ष 2017 में दिल्ली सरकार के 50 मेंटर शिक्षकों के लिए प्रशिक्षण आयोजित करने में अमेरिकी दूतावास के क्षेत्रीय अंग्रेजी भाषा कार्यालय के सहयोग पर प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि उसी पहल के कारण आज दिल्ली में 550 माध्यमिक और सेकेंडरी ग्रेड के शिक्षकों के लिए यह कार्यक्रम प्रारंभ हुआ है। हम अपने प्राथमिक शिक्षकों के लिए भी ऐसा कार्यक्रम बनाने की कोशिश कर रहे हैं। सिसोदिया ने कहा कि यह पाठ्यक्रम अंग्रेजी की कक्षाओं के लिए कई तरह के व्यावहारिक आइडिया प्रदान करता है। इसमें बच्चों को विविध तकनीक का रचनात्मक उपयोग सिखाया जाता है। नई सोच के लिए प्रेरित करने और कहानी, नाटक, खेल और संगीत जैसी तकनीकों के उपयोग से बच्चों में नई भाषा सीखने की क्षमता बढ़ती है। इससे उनका आत्मविश्वास भी बढ़ता है।

यह पाठ्यक्रम अमेरिकी विदेश विभाग द्वारा दुनिया भर के शिक्षकों को अंग्रेजी भाषा में शिक्षण के संसाधनों से अवगत कराता है। यह ऐसे शिक्षकों के लिए बनाया गया है, जो अपनी शिक्षण क्षमता को विकसित करना चाहते हैं। शिक्षकों को अमेरिकी अंग्रेजी वेबसाइट पर उपलब्ध विभिन्न प्रशिक्षण संसाधनों के उपयोग का अवसर मिलेगा। शिक्षकों को परस्पर चर्चा और शिक्षण अनुभवों को साझा करने का एक मंच भी मिलेगा। दिल्ली के 30 मेंटर शिक्षकों को इस प्रोग्राम के लिए कोर्स फेसिलिटेटर बनाया गया है। इनके मार्गदर्शन का दायित्व दो अंग्रेजी भाषा विशेषज्ञों- सारा बोल्टन और डॉ लीजा मॉर्गोन पर है। इनके माध्यम से पूरे पाठ्यक्रम के दौरान सभी शिक्षकों को दिशानिर्देश प्रदान किया जाएगा तथा उनसे रचनात्मक फीडबैक लिया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

eighteen − 13 =

Must Read