Tuesday, May 14, 2024
Homeअंतराष्ट्रीयकेजरीवाल दिल्ली में झूठ बोलने के सबसे बड़े हेडमास्टर है: आदेश गुप्ता

केजरीवाल दिल्ली में झूठ बोलने के सबसे बड़े हेडमास्टर है: आदेश गुप्ता

दिल्ली के 50 फीसदी मोहल्ला क्लीनिक खुद ‘बीमार’ पड़े हैं-आदेश गुप्ता

1500 करोड़ खर्च कर बनें मोहल्ला क्लीनिक केजरीवाल के विज्ञापनों का अड्डा बन चुके हैं-आदेश गुप्ता

जलबोर्ड दिल्ली की 63 फीसदी आबादी को पानी दे पाने में है नाकाम-रामवीर सिंह बिधूड़ी

केजरीवाल गेस्ट टीचरों को नियमित करने का वायदा करके आज उन्हीं के खिलाफ खड़े हो गए हैं-रमेश बिधूड़ी

केजरीवाल ने यमुना मैया को गंदा नाला बना दिया है-प्रवेश साहिब सिंह

केजरीवाल पंजाब को आग के हवाले करने के रास्ते पर चल पड़े हैं-मनजिंदर सिंह सिरसा

ओवरएज डीटीसी बसों के रखरखाव पर 500 करोड़ रुपये खर्च किए जा रहे हैं-विजेन्द्र गुप्ता

नई दिल्ली: दिल्ली के स्कूलों में बेशक हेडमास्टर की कमी है लेकिन अगर झूठ बोलने का कोई हेडमास्टर है तो वह अरविंद केजरीवाल हैं। दिल्ली भाजपा प्रदेश अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने रविवार को प्रदेश कार्यालय में भाजपा के वरिष्ठ नेताओं के साथ आयोजित संयुक्त प्रेसवार्ता में सीएम अरविंद केजरीवाल पर उक्त आरोप लगाते हुए उन्हें ‘फर्जीवाल’ की संज्ञा दी। गुप्ता ने आरोप लगाते हुए कहा कि दिल्ली के मोहल्ला क्लीनिक पर झूठ बोलना हो, यमुना सफाई पर झूठ बोलना हो, घर-घर साफ पानी पहुंचाने पर झूठ बोलना हो, बेरोजगारी और रोजगार देने पर झूठ बोलना हो या फिर दिल्ली के अंदर डीटीसी बसों पर झूठ बोलने का काम पिछले सात सालों से ‘फर्जीवाल’ करते आ रहे हैं। प्रेसवार्ता में प्रदेश भाजपा मीडिया रिलेशन विभाग के प्रभारी हरीश खुराना भी उपस्थित थे।

  • 50 फीसदी मोहल्ला क्लीनिक खुद ‘बीमार’ पड़े हैं
    अध्यक्ष गुप्ता ने कहा कि दिल्ली सहित देश के सभी राज्यों में जाकर ‘फर्जीवाल’ बताते रहे हैं कि उनके द्वारा बनाया गया 1000 मोहल्ला क्लीनिक ‘वर्ल्ड क्लास’ है जबकि सच्चाई यह है कि दिल्ली में मोहल्ला क्लीनिक की संख्या सिर्फ 200 है और उनमें से भी 50 फीसदी मोहल्ला क्लीनिक खुद ‘बीमार’ पड़े हैं। दिल्ली के मोहल्ला क्लीनिक जंग लगे दरवाजों के सहारे खड़े हैं तो कोई छुट्टा जानवरों के रहने का अड्डा बन चुका है। किसी में डॉक्टर नहीं है तो किसी में एक्सपायरी दवाईयां दी जा रही है। कही दवाईयों के कारण बच्चों की मृत्यु हो जा रही है तो कही इलाज के नाम पर महिलाओं का योन शोषण तक किया जा रहा है। अगर यही वर्ल्ड क्लास मॉडल है तो ‘फर्जीवाल’ यह मॉडल आप को मुबारक हो क्योंकि दिल्लीवासी इस तरह का मॉडल बनाने के लिए आपको सत्ता में नहीं लाए थे।

  • केजरीवाल की तस्वीरें दिखाने का एक मात्र स्टेशन बन चुका है मौहल्ला क्लीनिक
    मोहल्ला क्लीनिक, यमुना सफाई, दिल्ली परिवहन व्यवस्था, घर-घर स्वच्छ जल एवं बेरोजगारी के ऊपर फर्जीवाल के कार्यकाल का वीडियो दिखाते हुए आदेश गुप्ता ने कहा कि 1500 करोड़ रुपये खर्च कर जो मोहल्ला क्लीनिक तैयार किया गया है, वह आज सिर्फ ‘फर्जीवाल’ के विज्ञापन का अड्डा बन चुका है। हंसती-मुस्कुराती केजरीवाल की तस्वीरें दिखाने का एक मात्र स्टेशन बन चुका है क्योंकि जिन 1500 करोड़ रुपये का इस्तेमाल मोहल्ला क्लीनिक बनाने में किया गया है, उसी से अच्छे अस्पताल बनाए जा सकते थे। उन्होंने कहा कि एक झूठ को इतनी बार बोलते रहो कि वह सच लगने लगे, वैसे ही केजरीवाल मोहल्ला क्लीनिक सहित तमाम मुद्दों के बारे में बोलते रहे हैं। लेकिन वास्तविकता यही है कि दिल्ली में कोरोना के इतनी बड़ी महामारी के दौरान भी मोहल्ला क्लीनिक में एक वैक्सीन तक नहीं लगाई गई और ना कोरोना जांच की गई।

  • जल बोर्ड 60,000 करोड़ रुपये के कर्ज में दबा है: बिधूड़ी
    नेता विपक्ष रामवीर सिंह बिधूड़ी ने कहा कि अरविंद केजरीवाल एवं जलमंत्री सत्येन्द्र जैन पिछले सात सालों से झूठ बोलते रहे हैं कि हम दिल्ली के लोगों को 24 घंटे साफ पानी स्वच्छ जल उपलब्ध कराएंगे। खुद दिल्ली सरकार की रिपोर्ट बताती है कि प्रदेश की 63 फीसदी आबादी को दिल्ली जलबोर्ड पाइप से पानी उपलब्ध नहीं करवा पा रही है। सात साल पहले दिल्ली को 850 एमजीडी पानी की आवश्यकता थी लेकिन आज दिल्ली को 1300 एमजीडी पानी की आवश्यकता है और जलबोर्ड सिर्फ 900 एमजीडी पानी ही दे पा रहा है। उन्होंने केजरीवाल और सत्येन्द्र जैन की इस्तीफें की मांग करते हुए कहा कि जो जल बोर्ड सात साल पहले 500 करोड़ रुपये फायदें में था आज वह 60,000 करोड़ रुपये के कर्ज में दबा है जबकि हर साल 2000 करोड़ रुपये का घाटा झेलना पड़ रहा है। टैंकर माफियाओं को खत्म करने की बड़ी-बड़ी बातें करने वाले केजरीवाल के राज में टैंकर माफिया तीन गुना बढ़ चुका है।

  • पिछले सात सालों में 440 लोगों को रोजगार दे पाए: सांसद बिधूड़ी
    सांसद रमेश बिधूड़ी ने कहा कि केजरीवाल ने 10 लाख नौकरी देने की बात करते थे, लेकिन एक आरटीआई के माध्यम से पता चला है कि पिछले सात सालों में 440 लोगों को रोजगार दे पाए हैं। आज दिल्ली में बेरोजगारी औसत 8.9 फीसदी और पूरे देश में 7.9 फीसदी है। 15 हजार शिक्षकों की रिक्तियां आज तक खाली है और गेस्ट टीचर को नियमित करने का वायदा करने के बाद भी आज खुद ही उनके विरोध कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि आज झुग्गी झोपड़ी में रहने वाले लोग किसी शौक से नहीं रहते। उन्हें भी केजरीवाल ने कई तरह के सपने दिखाए और रोजगार की बातें की, लेकिन आज सभी झुग्गीवासियों को पता चल गया है कि केजरीवाल की कथनी और करनी दोनों एक-दूसरे के विपरित है।

  • आप ने घोटाले एवं झूठ बोलने में कांग्रेस को भी पीछे छोड़ दिया है: सांसद प्रवेश
    सांसद प्रवेश साहिब सिंह ने कहा कि आज आम आदमी पार्टी ने घोटाले एवं झूठ बोलने में कांग्रेस को भी पीछे छोड़ दिया है। एक तरफ भारत सरकार प्रयागराज एवं वराणसी घाट का सौंदर्यीकरण किया है कि वहां विदेशी पर्यटक तक घूमने और देखने आ रहे हैं लेकिन दूसरी तरफ दिल्ली में केजरीवाल सरकार ने यमुना की स्थिती ऐसी कर दी है कि इसे यमुना कम और गंदा नाला कहना ज्यादा बेहतर होगा। 1000 करोड़ रुपये बजट पास करने के बाद भी आज स्थिति पहले से भी बदतर है। उन्होंने कहा कि हर चुनाव से पहले यमुना में डुबकी लगाने की बात करने वाले ‘फर्जीवाल’ ने अपनी डुबकी लगाने के लिए तो 21 करोड़ का स्वीमिंग पुल बनवा रहे हैं। केजरीवाल गुजरात दौरे पर हैं इसलिए उन्हें ‘साबरमती रिवर फ्रंट’ देख कर जरुर आना चाहिए ताकि वे सफाई का मतलब समझ सके।

  • सीलमपुरी, जहांगीरपुरी, पटियाला के पीछे सिर्फ आप का हाथ है: सिरसा
    भाजपा के वरिष्ठ नेता सरदार मनजिंदर सिंह सिरसा ने कहा कि मासूम बनने की नौटंकी करने वाले केजरीवाल ने पंजाब के पटियाला में जो कुछ भी हुआ, इन सब की जानकारी पंजाब पुलिस को थी लेकिन बावजूद उसके केजरीवाल उसी रास्ते पर चल पड़े हैं जिस रास्ते पर चलते हुए कांग्रेस ने 1980 में सत्ता पाने के लिए पंजाब को आग के हवाले कर दिया था। उन्होंने कहा कि सीलमपुरी, जहांगीरपुरी के बाद जिस तरह से पटियाला में हादसे हुए, उन सब के पीछे सिर्फ आम आदमी पार्टी का हाथ है। इसलिए ऐसे देशद्रोहियों से सावधान रहने की आवश्यकता है।

  • आने वाले समय में प्रत्येक दिन एक बस में आग लगने वाली है: विजेंद्र गुप्ता
    विधायक एवं पूर्व प्रदेश अध्यक्ष विजेन्द्र गुप्ता ने कहा कि पिछले दो महीनों में सड़क पर पांच डीटीसी बसों में आग लग चुकी है। स्थिति यह है कि आने वाले समय में प्रत्येक दिन एक बस में आग लगने वाली है क्योंकि डीटीसी की जितनी भी बसें आज चल रही है सब 12 साल पुरानी और 7.5 लाख किलोमीटर से अधिक चल चुकी है। जिन्हें आज हटा देना चाहिए, लेकिन इन्हीं 1000 बसों के रखरखाव के लिए 50 लाख रुपये प्रति बस के हिसाब से पिछले दिनों एक एग्रीमेंट किया गया है जो आगामी तीन सालों तक चलेगा। उन्होंने कहा कि सिर्फ 500 करोड़ रुपये ओवरएज बसों के रखरखाव के लिए खर्च किया जा रहा है जबकि नॉन एसी 1000 बसें इन 500 करोड़ रुपये में आ सकती थी। आज डीटीसी 2200 करोड़ रुपये प्रत्येक साल घाटे में चल रही है जबकि जब सत्ता में आए थे तो उस समय घाटा 1019 करोड़ रुपये थे।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments