Homeअंतराष्ट्रीयएम2के विक्टोरिया गार्डन आजादपुर निवासियों ने अपनी मांगों को लेकर किया धरना...

एम2के विक्टोरिया गार्डन आजादपुर निवासियों ने अपनी मांगों को लेकर किया धरना प्रदर्शन

  • कहीं, नोएडा ट्वीन टॉवर जैसे न हो जाए हालात
  • गिराने के डर से परेशान हो रहे हैं आजादपुर एम2के वासी
  • आरोप: हो रही है भवन निर्माण के नियमों की अनदेखी

नई दिल्ली, 25 सितंबर 2022:  हाल ही में नोएडा में ट्वीन टॉवर गिराया गया, जिसके चलते वहां के निवासियों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। ऐसे ही एक मामले को देखते हुए आजादपुर डीटीसी बस टर्मिनल के निकट बनी बहुमंजिला इमारत के निवासियों ने रविवार को एम2के विक्टोरिया गार्डन के बिल्डर व प्रशासन के विरोध में धरना प्रदर्शन किया। एम2के विक्टोरिया गार्डन के आरडब्ल्यूए अध्यक्ष अरविंद शर्मा ने बताया कि यहां के बिल्डर द्वारा कॉलोनी को मूलभूत सेवाओं से दूर रखा जा रहा है। उन्होंने कहा कि बिल्डर द्वारा भवन नियमों की अनदेखी करते हुए अनैतिक रूप से कॉलोनी में 43 मंजिला हाई राइज टावर बनाने का प्रयास भी किया जा रहा है जिसके खिलाफ आरडब्ल्यू ने हाई कोर्ट में केस दर्ज करवाया हुआ है। साथ ही कॉलोनी में दूषित जल, उचित समय में सफाई व्यवस्था का ना होना एवं रखरखाव की कमी के कारण कॉलोनी निवासी परेशान हो रहे हैं। एम2के विक्टोरिया गार्डन के घरों से लिए जाने वाला मेंटेनेंस शुल्क बिल्डर द्वारा लिया जाता है जबकि सोसायटी एक्ट के अनुसार उपरोक्त कर सोसायटी आरडब्ल्यू को मिलना चाहिए।

आरडब्ल्यूए अध्यक्ष अरविंद शर्मा के अनुसार धरना प्रदर्शन में आरडब्ल्यूए अध्यक्ष अरविंद शर्मा सहित, उपाध्यक्ष सुरेंद्र गोयल, अनुज पोद्दार, महामंत्री नरेश गोयल, कोषाध्यक्ष अजय बाहेती, ज्वाइंट सेक्रेट्री साहिल गुप्ता, कार्यकारिणी सदस्य राजेंद्र मेहता, तरुण सिंघल, चौतन्य स्वरूप खेमका, करणवीर सिंह, निखिल खुल्लर, निर्मल कुमार बंसल, मेहर चंद जैन, प्रवीण मलिक, संजय यादव, नरेंद्र भाटिया, शरद बंसल, संचित अग्रवाल, नरेश सेहगल, अरुण चौहान, विजय कुमार महेंद्रु, मुकुल गुप्ता, अतुल माहेश्वरी, राहुल जैन, गुरमीत सिंह, राजेश गर्ग एवं संरक्षक समीर मल्होत्रा सहित सैकड़ों महिलाएं एवं अन्य कॉलोनी निवासी उपस्थित रहे।

  • मांगों को नहीं माना तो होगा अन्य साइट पर भी प्रदर्शन आरडब्ल्यूए के पदाधिकारियों ने बिल्डर और प्रशासन पर आरोप लगाते हुए बताया कि यदि हाई राइज टावर यहां बनता है तो इससे न केवल कॉलोनी अपितु चारों तरफ रह रही निवासियों को परेशानी होगी और नियमों के खिलाफ जाने के कारण इसे यदि बनने के बाद तोड़ा जाएगा। नोएडा में गिराए गए टावर से जो परेशानी वहां के निवासियों को हुई, उसे ज्यादा परेशानी दिल्ली वासियों को सहन करनी पड़ेगी। उन्होंने बताया कि यदि उनकी मांगों को नहीं माना गया तो आगे भी विशाल धरना प्रदर्शन एम2के की अनेकों साइट के बाहर एवं बिल्डर के निवास स्थान पर दिया जा सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

15 + 11 =

Must Read